डा.रीना सिंह मर्डर केस में बड़ा खुलासा, एफएसएल ने एसएसपी को सौंपी अपनी रिपोर्ट

डा.रीना सिंह मर्डर केस में बड़ा खुलासा, एफएसएल ने एसएसपी को सौंपी अपनी रिपोर्ट
Dr Reena Singh

Devesh Singh | Publish: Aug, 22 2019 12:19:11 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

डा.आलोक सिंह व उनके परिवार पर लगा है हत्या करने का आरोप, जानिए क्या है कहानी

वाराणसी. कैंट थाना क्षेत्र के टैगोर टाउन में हुई डा.रीना सिंह की मौत को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। एफएसएल ने अपनी रिपोर्ट एसएसपी आनंद कुलकर्णी को सौंप दी है। रिपोर्ट के अनुसार डा.रीना सिंह खुद गिरी थी उन्हें किसी ने गिराया नहीं था। इस रिपोर्ट से पत्नी की हत्या के आरोप में जेल में बंद डा.आलोक सिंह को बड़ी राहत मिली है। पुलिस को अब डा.रीना सिंह की सुसाइड नोट की जांच कर रहे हैं हैंड राइटिंग एक्सपर्ट की रिपोर्ट का इंतजार है इसके बाद काफी हद तक स्थिति स्पष्ट हो जायेगी।
यह भी पढ़े:-अनुप्रिया पटेल का प्रियंका गांधी से मिलना पड़ा भारी, बीजेपी ने इस नेता को मंत्री बना कर उड़ायी नीद



डा.रीना सिंह की दो जुलाई 2019 की रात को संदिग्ध परिस्थितियों में छत से गिरने से मौत हो गयी थी। डा.रीना सिंह के पिता रंगनाथ सिंह ने अपने दामाद डा.आलोक सिंह व उनके माता-पिता पर हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया है। मुकदमा दर्ज होने के बाद डा.आलोक सिंह का पूरा परिवार फरार हो गया था। पुलिस जब डा.आलोक सिंह को गिरफ्तार नहीं कर पायी तो कुर्की करने की तैयारी शुरू की थी। इसी बीच 25 जुलाई को नाटकीय ढंग से डा.आलोक सिंह कैंट थाना पहुंच गये थे। यहां पर उन्हें वीवीआईपी सुविधा मिली थी, जिसकी खबर सोशल मीडिया पर वायरल होते ही एसएसपी ने तत्कालीन कैंट थाना प्रभारी राजीव सिंह को लाइन हाजिर कर दिया था। इसके बाद डा.आलोक सिंह को कोर्ट मे प्रस्तुत किया गया था, जहां उन्हें जेल भेजा गया था। डा.आलोक अभी तक जेल में है और उनके माता-पिता अभी तक फरार है।
यह भी पढ़े:-बावरिया गिरोह ने बैंक मैनेजर के घर लाखों की नगदी व जेवरात उड़ाये, सीसीटीवी फुटेज हुई वायरल



क्राइम सीन को रिक्रिएट कर बनायी गयी रिपोर्ट
डा.रीना सिंह मर्डर केस की जांच के लिए क्राइम सीर रिक्रिएट करने के लिए फोरेंसिक साइंस लैबोरेटरी (एफएसएल)और मेडिकोलीगल की टीम आयी थी। एफएसएल ने एक पुतले को उसी तरह से छत से गिराया था जहां से डा.रीना सिंह गिरी थी। टीम ने अपनी जांच कर रिपोर्ट एसएसपी को सौंपी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि डा.रीना सिंह खुद गिरी थी उन्हें गिराया नहीं गया था। डा.रीना सिंह के पिता रंगनाथ पहले ही पुलिस जांच पर सवाल उठाते रहे हैं। उनका आरोप है कि डा.आलोक सिंह के जीजा आईएएस है और जिले के एक मंत्री से उनका खास संबंध है ऐसे में वह पुलिस पर मामले की लीपापोती करने का आरोप लगाया है।
यह भी पढ़े:-वार्निंग लेवल के पास पहुंच कर स्थिर हुई गंगा, बस्तियों में भरा वरुणा का पानी

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned