scriptSchool remains closed till 16 january due to rain and cold | बारिश और ठंड के मौसम में संक्रमण की संभावना अधिक, अगले सोमवार तक 10वीं तक के स्कूल बंद | Patrika News

बारिश और ठंड के मौसम में संक्रमण की संभावना अधिक, अगले सोमवार तक 10वीं तक के स्कूल बंद

आठ जनवरी के बाद ठंड बढ़ गई है। इन दोनों ही वजहों को देखते हुए वाराणसी में 16 जनवरी तक 10वीं तक के स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है। वहीं शेष अवधि में 11-12वीं के छात्रों की कक्षाएं केवल ऑनलाइन माध्यम से चलेंगी।

वाराणसी

Published: January 10, 2022 12:37:46 pm

वाराणसी. उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। राज्य में संक्रमित मरीजों की संख्या तीन हजार पार पहुंच गई है। उधर, मौसम में भी बदलाव देखा जा रहा है। बारिश के बाद नम हवाओं ने गलन बढ़ा दी है। वाराणसी में आठ जनवरी के बाद ठंड बढ़ गई है। इन दोनों ही वजहों को देखते हुए वाराणसी में 16 जनवरी तक 10वीं तक के स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है। वहीं शेष अवधि में 11-12वीं के छात्रों की कक्षाएं केवल ऑनलाइन माध्यम से चलेंगी। 11-12वीं के बच्चों को केवल वैक्सीनेशन के लिए ही स्कूल बुलाया जाएगा।
School remains closed till 16 january due to rain and cold
School remains closed till 16 january due to rain and cold
बारिश और ठंड के मौसम में संक्रमण की संभावना अधिक

वाराणसी समेत पूर्वांचल के जिलों में पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम बदला हुआ है। बारिश के बाद नम हवाओं ने गलन बढ़ा दी है। मौसम वैज्ञानिक एसएन पांडेय के मुताबिक जम्मू-कश्मीर से आ रही पश्चिमी विक्षोभ के कारण यह बदलाव देखा जा रहा है। अनुमान है कि दो दिन तक इसी तरह मौसम के रहने की संभावना है। बादल छाए रहने की वजह से अधिकतम तापमान में कमी आई है। 11 जनवरी तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा। इसके बाद ठंड और गलन और बढ़ने की संभावना जताई गई है।
यह भी पढ़ें

कड़ाके की ठंड के बीच 5 जनवरी से बारिश का अलर्ट, ओले गिरने की भी संभावना, इंटरमीडिएट तक के स्कूल बंद

बारिश और ठंड के मौसम में संक्रमण की संभावना अधिक है। अभी तक जो भी संक्रमित मरीज मिले हैं, उनमें अधिकांश में सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार वाले लक्षण ही मिल रहे हैं। ऐसे में ठंड के मौसम में बारिश लोगों की सेहत पर असर डाल रही है। मौसम विभाग ने कहा है कि जिस जिले से सबसे ज्यादा संक्रमित मिल रहे हैं, वहां मौसम को भी ध्यान में रखते हुए अधिक सावधान रहने की जरूरत है।
यह भी पढ़ें

कड़कड़ाती ठंड में शिक्षक भर्ती के लिए अभ्यर्थियों का प्रदर्शन, भर्ती नहीं तो वोट नहीं

बारिश से फसलें बर्बाद

भारी बारिश ने फसलों को नष्ट कर दिया है। रविवार को पूर्वी हिस्से में हुई बारिश रबी की फसलों के लिए आफत बनकर सामने आई। दलहनी और तिलहनी फसलों के फूल झड़ने और पौधों के गिरने पर 10 से 15 प्रतिशत तक उत्पादन पर असर पड़ सकता है। रबी के साथ ही आलू, टमाटर और मटर की फसलें भी प्रभावित हुई हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.