मुन्ना बजरंगी की मौत के बाद भी कायम है उसका खौफ, गैंग की डर से अधिकारी ने दूसरे जिले कराया तबादला

मुन्ना बजरंगी की मौत के बाद भी कायम है उसका खौफ, गैंग की डर से अधिकारी ने दूसरे जिले कराया तबादला
Munna Bajrangi

Devesh Singh | Updated: 11 Oct 2019, 12:42:57 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

एसपी ने पहले ही उपलब्ध करायी थी सुरक्षा, नयी तैनाती में भी सुरक्षित नहीं महसूस कर रहे अधिकारी

वाराणसी. प्रदेश में कभी सुपारी किंग के नाम से मशहूर मुन्ना बजरंगी की भले ही जेल में हत्या हो चुकी है लेकिन उसका खौफ आज भी कायम है। बजरंगी के गुर्गे आज भी किसी बड़ी घटना को अंजाम देकर पुरानी ताकत दिखाने की साजिश रचने में जुटे हुए हैं। बजरंगी गिरोह के खौफ से एक अधिकारी ने दूसरे जेल में अपना तबादला करा लिया था लेकिन आज भी उस पर गिरोह का खौफ खत्म नहीं हुआ है।
यह भी पढ़े:-कबाड़ बीनने वाले किशोर की गला रेत कर हत्या, नाले में मिला शव

बागपत जिला जेल में 9 जुलाई 2018 को गोली मर कर हत्या की गयी थी। हत्या के समय वहां पर संजय सिंह जेलर पद पर तैनात थे जिस समय बजरंगी की हत्या हुई थी उस समय जेलर अवकाश पर थे। इसके बाद जेलर का तबादला जौनपुर जिला जेल में किया गया था। मुन्ना बजरंगी खुद ही जौनपुर का निवासी थी और यहां की जेल में उसके खतरनाक गुर्गे भी बंद थे। जेलर को अन्य बंदियों से जानकारी मिली कि बजरंगी गैंग के लोग उसकी हत्या की साजिश रच रहे हैं इसके बाद जेलर से एसपी को पत्र लिख कर सुरक्षा मांगी थी। एसपी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत ही जेलर को सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध करायी थी लेकिन जेलर फिर भी सुरक्षा को लेकर निश्चित नहीं हो पाये थे। जेलर पहले अवकाश पर गये थे और बाद में अपना तबादला फतेहगढ़ जेल करा लिया था। यहां पर रहते हुए भी जेलर के पत्र के आधार पर बजरंगी गैंग के १८ सदस्यों का तबादला अन्य जिलों में किया गया था इसके बाद भी जेलर फतेहगढ़ से अन्य किसी जेल में जाना चाहते हैं।
यह भी पढ़े:-#KeyToSuccess दुनिया के एकमात्र वकील जो संस्कृत भाषा में 41 साल से लड़ रहे मुकदमा, विरोधियों के पास नहीं होता जवाब

प्रदेश भर के जेल में बंद है बजरंगी गिरोह के शूटर
मुन्ना बजरंगी के जिंदा रहते हुए उसका खौफ लोगों के सिर पर चढ़ कर बोलता था। बजरंगी गिरोह के पास शूटरों की फौज थी जो इशारा मिलते ही किसी की हत्या कर देते थे। बजरंगी गिरोह के शूटर इतने खौफनाक ढंग से घटना को अंजाम देते थे कि उसके पास से जिसके पास भी बजरंगी का फोन जाता था वह तुरंत रंगदारी दे देता था। मुन्ना बजरंगी को सुपारी किंग भी कहा जाता था वह किसी की भी हत्या की सुपारी ले लेता था और शूटरों से हत्या करवाता भी था। बजरंगी ने प्रदेश में कई हत्याये करायी थी जिसके बाद प्रदेश भर के जेलों में बजरंगी गिरोह के शूटर बंद है और वह फिर से पुरानी धाक कायम करने की साजिश रच रहे हैं।
यह भी पढ़े:-पुष्पेन्द्र यादव एनकाउंटर के बाद अखिलेश यादव के प्लान का हुआ खुलासा, बसपा में मचा हड़कंप

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned