scriptChemicals used in detergents found in Pizza burger and many junk foods | रिसर्च रिपोर्ट: बड़े ब्रांड सेहत से कर रहे खिलवाड़, पिज्जा-बर्गर समेत तमाम जंक फूड में मिलाया जा रहा खतरनाक केमिकल, न्यूरो और अस्थमा का खतरा अधिक | Patrika News

रिसर्च रिपोर्ट: बड़े ब्रांड सेहत से कर रहे खिलवाड़, पिज्जा-बर्गर समेत तमाम जंक फूड में मिलाया जा रहा खतरनाक केमिकल, न्यूरो और अस्थमा का खतरा अधिक

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि पिज्जा-बर्गर समेत तमाम जंक फूड में नामी कंपनियां डिटर्जेंट में इस्तेमाल होने वाला खतरनाक केमिकल मिलाती हैं। यह रिपोर्ट जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी, टेक्सास के साउथ-वेस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट, बोस्टन यूनिवर्सिटी और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी ने एक स्टडी के बाद मिलकर तैयार की है। यह स्टडी जर्नल ऑफ एक्सपोजर साइंस एंड एनवायरनमेंटल एपिडेमियोलॉजी में प्रकाशित किया गया है।

 

नई दिल्ली

Updated: November 01, 2021 12:15:34 pm

नई दिल्ली।

खान-पान से जुड़ी बड़ी कंपनियां थोड़े से मुनाफे के लिए लोगों की सेहत से किस कदर खिलवाड़ करती हैं, इसका उदाहरण यह रिसर्च रिपोर्ट है।

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि पिज्जा-बर्गर समेत तमाम जंक फूड में नामी कंपनियां डिटर्जेंट में इस्तेमाल होने वाला खतरनाक केमिकल मिलाती हैं। यह रिपोर्ट दुनियाभर की कुछ मशहूर यूनिवर्सिटी ने मिलकर तैयार की है।
fast_food.jpg
इन कंपनियों में मैकडॉनल्ड्स, बर्गर किंग, डोमिनोज और पिज्जा हट जैसे मशहूर ब्रांड शामिल हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि इनके आउटलेट्स पर मिलने वाले जंक फूड में डिटर्जेंट में इस्तेमाल होने वाला केमिकल मिलाया जाता है। इसका मतलब, कंपनियां सीधे तौर पर आपकी सेहत से खिलवाड़ कर रही हैं।
यह रिपोर्ट जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी, टेक्सास के साउथ-वेस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट, बोस्टन यूनिवर्सिटी और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी ने एक स्टडी के बाद मिलकर तैयार की है। यह स्टडी जर्नल ऑफ एक्सपोजर साइंस एंड एनवायरनमेंटल एपिडेमियोलॉजी में प्रकाशित किया गया है।
यह भी पढ़ें
-

COP-26 Summit में शामिल होने ग्लासगो पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन से भी होगी मुलाकात

इस रिपोर्ट में स्पष्ट तौर पर बताया गया है कि मैकडॉनल्ड्स, बर्गर किंग, पिज्जा हट, डोमिनोज, टैको बेल और चिपोटल सहित प्रसिद्ध फूड चेन में मिलने वाले जंक फूड में प्लास्टिक को नरम रखने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला एक रसायन पाया गया है। केमिकल मिला यह खाना कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं खड़ी कर सकता है। शोधकर्ताओं ने इन आउटलेट से हैमबर्गर, फ्राइज, चिकन नगेट्स, चिकन बुरिटोस और पनीर पिज्जा के 64 फूड सैंपल की जांच की। इसमें उन्होंने पाया कि 80 प्रतिशत से अधिक खाद्य पदार्थों में DnBP नामक एक फेथलेट और 70 प्रतिशत में फेथलेट DEHP था। दोनों ही रसायन स्वास्थ्य के लिए बेहद नुकसानदेह हैं।
शोधकर्ताओं के मुताबिक, फेथलेट एक रसायन है जिसका उपयोग सौंदर्य प्रसाधन, विनाइल फर्श, डिटर्जेंट, डिस्पोजेबल दस्ताने, वायर कवर जैसे उत्पादों में वर्षों से किया जाता है। यह केमिकल प्लास्टिक को कोमल और मोड़ने योग्य बनाने में मदद करता है, जिससे इसे उत्पाद की आवश्यकता के अनुसार ढाला जा सके।
यह भी पढ़ें
-

पाकिस्तान सरकार और टीएलपी के बीच समझौते का ऐलान, मगर शर्तें जारी नहीं की गई, तो धरना भी खत्म नहीं हुआ

इन रसायनों की वजह से अस्थमा, बच्चों में न्यूरो से जुड़ी गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा, ये किसी व्यक्ति की प्रजनन प्रणाली को भी प्रभावित कर सकते हैं। स्टडी में पाया गया कि मांस युक्त भोजन जैसे बरिटोस और चीजबर्गर में रसायनों की मात्रा अधिक थी, जबकि चीज पिज्जा में ये निम्नतम स्तर पर थे।
रिसर्च टीम से जुड़े लारिया एडवर्ड्स ने स्वीकार किया कि सभी सैंपल एक ही शहर के थे और विश्लेषण विभिन्न प्रकार के रेस्टोरेंट पर केंद्रित नहीं है। वहीं, खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि वह अध्ययन की समीक्षा करेगा।
एफडीए के एक प्रवक्ता ने कहा, हमारे पास उच्च सुरक्षा मानक हैं, जैसे ही नई वैज्ञानिक जानकारी उपलब्ध होती है, हम अपने सुरक्षा आकलन का पुनर्मूल्यांकन करते हैं। एफडीए ने कहा, अगर एफडीए अब यह निष्कर्ष निकालने में सक्षम नहीं है कि अधिकृत उपयोग से कोई नुकसान नहीं होने की उचित निश्चितता है। शोधकर्ताओं ने कहा कि इन वैकल्पिक प्लास्टिसाइजर का पूर्ण स्वास्थ्य प्रभाव अभी तक ज्ञात नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: अयोग्यता नोटिस के खिलाफ शिंदे गुट पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, सोमवार को होगी सुनवाईMaharashtra Political Crisis: एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने पर दिया बड़ा बयान, कहीं यह बातBypoll Result 2022: उपचुनाव में मिली जीत पर सामने आई PM मोदी की प्रतिक्रिया, आजमगढ़ व रामपुर की जीत को बताया ऐतिहासिकRanji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबKarnataka: नाले में वाहन गिरने से 9 मजदूरों की दर्दनाक मौत, सीएम ने की 5 लाख मुआवजे की घोषणाअगरतला उपचुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेताओं पर हमला, राहुल गांधी बोले- BJP के गुड़ों को न्याय के कठघरे में खड़ा करना चाहिए'होता है, चलता है, ऐसे ही चलेगा' की मानसिकता से निकलकर 'करना है, करना ही है और समय पर करना है' का संकल्प रखता है भारतः PM मोदीSangrur By Election Result 2022: मजह 3 महीने में ही ढह गया भगवंत मान का किला, किन वजहों से मिली हार?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.