scriptNew variant of Corona NeoCov even more dangerous after Omicron | NeoCov: ओमिक्रॉन के बाद सामने आया कोरोना का नया वैरिएंट 'नियोकोव', उससे भी ज्यादा है खतरनाक | Patrika News

NeoCov: ओमिक्रॉन के बाद सामने आया कोरोना का नया वैरिएंट 'नियोकोव', उससे भी ज्यादा है खतरनाक

चीन के जिस वुहान शहर से पूरी दुनिया में कोरोना वायरस फैलना शुरू हुआ था। वहां से एक और डराने वाले खबर सामने आई है। दरअसल यहां के वैज्ञानिकों ने बड़ी चेतावनी जारी की है। इन वैज्ञानिकों ने बताया है कि कोरोना का नया वैरिएंट ‘NeoCov’ ओमिक्रॉन से भी ज्यादा खतरनाक है। इस स्ट्रैन के चलते तीन में एक व्यक्ति की मौत हो सकती है।

नई दिल्ली

Updated: January 29, 2022 05:12:56 pm

कोरोना वायरस महामारी की चपटे में भारत समेत पूरी दुनिया है। हर देश इस महामारी से निपटने के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है। इस बीच एक और बड़ा खतरा सामने आया है। दरअसल चीन के जिस वुहान शहर से कोरोना वायरस फैलना शुरू हुआ था। अब वहीं के वैज्ञानिकों ने एक बड़ी चेतावनी दी है। वैज्ञानिकों ने कहा है कि कोरोना का नया वैरिएंट नियोकोव काफी खतरनाक है। ये ओमिक्रॉन की तुलना में ज्यादा जानलेवा भी है। वैज्ञानिकों का दावा है कि दक्षिण अफ्रीका में मिले यह नया कोरोना वायरस बहुत ही ज्‍यादा संक्रामक है और इससे संक्रमित प्रत्‍येक 3 में से 1 मरीज की मौत हो सकती है। हालांकि इस बात की राहत भी है कि नया कोरोना वायरस अभी इंसानों में नहीं फैला है। फिलहाल इसके जानवरों में फैलने की बात सामने आई है।
New variant of Corona NeoCov even more dangerous after Omicron
New variant of Corona NeoCov even more dangerous after Omicron
रूसी न्‍यूज एजेंसी स्‍पुतनिक की रिपोर्ट के मुताबिक यह नियोकोव कोरोना वायरस मर्स कोव वायरस से जुड़ा हुआ है। सबसे पहले साल 2012 और 2015 में पश्चिम एशिया के देशों में ये फैला था। यह SARS-CoV-2 की तरह ही है, जो इंसानों को कोरोना से संक्रमित करने के लिए जिम्मेदार है। दक्षिण अफ्रीका में अभी यह Neocov वायरस चमगादड़ में देखा गया है।

यह भी पढ़ें

कोरोना वायरस के मुकाबले के लिए टीकाकरण-सावधानी जरूरी

इंसानों में फैल सकता है


bioRxiv वेबसाइट के ताजा अध्ययन में ये बात सामने आई है कि NeoCoV और उसका नजदीकी सहयोगी PDF-2180-CoV इंसानों को संक्रमित कर सकता है। वुहान विश्‍वविद्यालय और चाइना एकेडमी ऑफ साइंसेज के शोधकर्ताओं के मुताबिक इस नए कोरोना वायरस के इंसानों की कोशिकाओं को संक्रमित करने के लिए सिर्फ एक म्‍यूटेशन की आवश्यकता है।

इस बात ने बढ़ाई चिंता


यही नहीं शोध में चिंता बढ़ाने वाली जो बात सामने आई है वो है मौत का आंकड़ा। दरअसल शोध में इस बात का पता चला है कि NeoCoV वायरस में MERS की तरह से ही बहुत ज्‍यादा मरीजों की मौतें हो सकती हैं। यह आंकड़ा प्रत्‍येक 3 में से 1 मरीज हो सकता है। इसके साथ ही इस NeoCoV वायरस में वर्तमान SARS-CoV-2 कोरोना वायरस के गुण हैं जो उसे ज्यादा संक्रामक बनाता है।
बता दें कि मौजूदा समय में पूरी दुनिया कोरोना की तीसरी लहर से जूझ रही है। ये लहर कोरोना के ओमिक्रॉन और इसके सब-वैरिएंट BA.2 की वजह से आई है। भारत समेत कई देशों में BA.2 के कई मामले सामने आ रहे हैं। दुनिया के करीब 40 देशों में इसकी पुष्टि हो चुकी है।

हालांकि इस वैरिएंट में मौत की दर काफी कम है। वहीं डेनमार्क के शोधकर्ताओं ने चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि, इस नए वैरिएंट NeoCov की वजह से ओमिक्रॉन महामारी के दो अलग-अलग पीक आ सकते हैं।
यह भी पढ़ें

ओमिक्रॉन का कहर-बच के रहना-रिपोर्ट आने से पहले मरीज कर रहा कई लोगों को संक्रमित



इस बारे में रूस के सरकारी वायरोलॉजी शोध केंद्र ने गुरुवार को एक बयान जारी करके कहा कि वेक्‍टर शोध केंद्र चीनी शोधकर्ताओं द्वारा निओकोव कोरोना वायरस के जमा किए गए आंकड़े से परिचित है। वर्तमान समय में यह इंसानों को संक्रमित करने में सक्षम नहीं है। हालांकि इसके खतरे को देखते हुए और ज्‍याद अध्‍ययन किए जाने की जरूरत है।

कोरोना वायरस के इस नए वैरिएंट को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी चिंता जताई है। इसके साथ ही डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि फिलहाल कोरोना का खतरा टला नहीं है। ऐसे में किसी भी स्तर पर लापरवाही मुश्किल बढ़ा सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Lunar Eclipse 2022: सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण हो गया है शुरू, क्यों कहा जा रहा 'ब्लड मून', जानिए भारत से कैसे और कहां दिखेगापीएम मोदी आज बुद्ध की जन्म और निर्वाण स्थली पर माथा टेकेंगे, जानें आज पूरे दिन का कार्यक्रमयूपी के नए मंत्रियों को आज राजधानी में गुरूमंत्र देंगे पीएम मोदी, जानें कौन-कौन रहेगा मौजूदCongress Chintan Shivir 2022: उदयपुर से निकला कांग्रेस का नव संकल्प और नया नारा- भारत जोड़ोWeather Update: उत्तर भारत में और झुलसाएगी गर्मी, भीषण गर्मी और लू का अलर्ट जारीcongress chintan shivir 2022: आदिवासियों के गढ़ में आज राहुल गांधी भरेंगे हुंकार, वोट बैंक पर रहेगी नजरAAP ने किया केरल में गठबंधन का ऐलान, इस पार्टी के साथ मिलकर लड़ेगी चुनावIPL 2022 Point Table: लखनऊ को हरा दूसरे स्थान पर पहुंचा राजस्थान, चौथे स्थान के लिए चार टीमों में घमासान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.