बारिश और ओलावृष्टि से हुआ है नुकसान तो किसान दें ध्यान, बीमा पाने के लिए 72 घंटे तक भर दें फॉर्म, यहां करना है जमा

फसलों का हाल देखकर किसान परेशान हैं। इस बीच किसानों के लिए बड़ी राहत की खबर है।

आगरा। उत्तर प्रदेश में बारिश और ओलावृष्टि से सबसे अधिक नुकसान किसानों को हुआ है। आलू, सरसों और सब्जियों की फसलों में बड़ा नुकसान हुआ है। किसान नेता मोहन सिंह चाहर ने बताया कि 70 फीसद तक किसानों की फसल ओलावृष्टि से नष्ट हो चुकी है। वहीं फसलों की ये हालत देखकर किसान परेशान हैं। किसानों के लिए बड़ी राहत की खबर ये है कि उन्हें फसल बीमा का लाभ मिल सकता है, लेकिन इसके लिए किसानों को उप कृषि निदेशक कार्यालय में दावा फॉर्म भरना होगा।

यह भी पढ़ें- डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किए गए कथा वाचक देवकीनंदन ठाकुर

ये दी जानकारी
भारतीय किसान यूनियन के जिला प्रभारी राजवीर लवानियां ने बताया कि बारिश और ओला वृष्टि से इत्यादि से नुकसान हुआ है, तो फसल बीमा दावे के व्यक्तिगत फॉर्म भरकर उप कृषि निदेशक कार्यालय पंचकुइयां आगरा में फसल नुकसान के 72 घण्टे के अंदर जमा करा दें।

यह भी पढ़ें- CMO ने किया CHC का औचक निरीक्षण, 11 कर्मचारी अनुपस्थित मिले

फसलों को 80 फीसदी नुकसान
किसान अशोक सिंह ने बताया कि ओलों के चलते आलू की फसल खेतों में बिस्तर की तरह बिछ गई है। डालियां और पत्ते टूटकर अलग हो गए हैं। फसलों का 80 फीसदी तक नुकसान हुआ है। ऐसे में उन्होंने जिला प्रशासन और उत्तर प्रदेश शासन से निवेदन किया कि ओले से प्रभावित ग्रामीण क्षेत्रों में नुकसान का आकलन करने के लिए जिलाधिकारी अपनी टीमों को भेजें, साथ ही फसल बीमा योजना का लाभ पीड़ित किसानों को दिलाने का प्रयास करें। बता दें कि वृंदावन में गुरुवार सुबह अचानक बारिश के साथ इतनी तेज ओलावृष्टि हुई कि दर्जनों गाड़ियों के शीशे टूट गए। इसके बाद सड़क किनारे खड़े वाहनों को चालकों ने जल्दी से सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned