scriptTaj Mahal hate Agra five villages people | ताजमहल से नफरत करती है आगरा की इन पांच गांव की जनता | Patrika News

ताजमहल से नफरत करती है आगरा की इन पांच गांव की जनता

Taj Mahal Hate ताजमहल विश्व में मशहूर है। लव बर्ड्स ही नहीं दुनिया भी ताज की दीवानी हैं। ताज इतना खूबसूरत है जो भी ताज को देखता है उसके मुंह से बरबस ही निकलता है वाह ताज। पर जहां ताजमहल लोगों के दिलों पर राज करता है वहीं आगरा के पांच गांव ताज से जीभर कर नफरत करते हैं।

आगरा

Published: May 17, 2022 06:10:58 pm

ताजमहल विश्व में मशहूर है। लव बर्ड्स ही नहीं दुनिया भी ताज की दीवानी हैं। ताज इतना खूबसूरत है जो भी ताज को देखता है उसके मुंह से बरबस ही निकलता है वाह ताज। पर जहां ताजमहल लोगों के दिलों पर राज करता है वहीं आगरा के पांच गांव ताज से जीभर कर नफरत करते हैं। वजह है ताजमहल की सुरक्षा व्यवस्था से पैदा होने वाली दिक्कतें। इस वजह से इन पांच गांवों में जबरदस्त सरकारी सख्ती रहती है। इस सख्ती की वजह से रिश्तेदारों ने भी आना बंद कर दिया है। और तो और इन पांच गांवों में अब शादी के लिए रिश्ते भी नहीं आते हैं। शादी न होने की वजह से करीब पचास फीसद गांव के युवा कुंवारे हैं। जहां ताजमहल को देखने दूर दूर लोग आते हैं वहीं इन पांच गांव के लोगों को ताजमहल की खूबसूरती रास नहीं आ रही है।
Taj Mahal hate : ताजमहल से नफरत करती है आगरा की इन पांच गांव की जनता
Taj Mahal hate : ताजमहल से नफरत करती है आगरा की इन पांच गांव की जनता
रोचक मामला

मामला वाकई बेहद रोचक है। आगरा के इन पांच गांवों गढ़ी वंगस, नगला पेमा, कलपी नगला, अहमद बुखारी की किस्मत बेहद खराब है। ये पांचों गांव ताजमहल से लगे हुए हैं। इनका रास्ता ठीक ताजमहल के बगल से गुजरता है। वर्ष 1992 में सुप्रीम कोर्ट ने ताजमहल को अपनी निगरानी में लिया था। इसके बाद से इन गांव के लोगों को शहर जाने के लिए दशहरा घाट के निकट लगे नगला पैमा पुलिस चेक पोस्ट से होकर गुजरना पड़ता है या फिर 10 किमी घूमकर धांधूपुरा होकर जाना पड़ता है।
यह भी पढ़ें

काला गेहूं चौंक गए न, पर इसकी खेती से किसान हो रहे मालामाल

पास बिना प्रवेश नहीं

अब अगर गांव जाना है तो पास जरूरी है। साथ में आधार कार्ड भी चाहिए। पर अगर रिश्तेदार आ जाते है तो उनके वाहन का प्रवेश निषेध है। तब चेक पॉइंट जाकर खुद रिश्तेदार को लाना पड़ता है। इस उलझन की वजह से रिश्तेदारों में आना कम कर दिया है।
रिश्ते के लिए गांव आने से कतराते हैं लोग

इन गांवों की आबादी करीब 25 हजार होगी। रिश्तेदार तो छोड़िए शादी-विवाह के कार्ड देने व युवाओं के रिश्ते के लिए यहां आने से लोग कतराते हैं। इस वजह से करीब 50 फ़ीसद युवा आज भी यहां कुंवारे हैं। और यह संख्या लगातार बढ़ रही है।
यह भी पढ़ें

नोएडा में 22 मई को नहीं गिरेगी ट्विन टावर, सुप्रीम कोर्ट ने सुपरटेक को दी राहत

लोग कर रहे पलायन

इन गांवों में सुबह-शाम थोड़े वक्त के लिए बैट्री रिक्शा को छूट मिलती है। बीमार या गर्भवती महिला के लिए बस सरकारी एम्बुलेंस ही साधन है। माह के पांच दिन ताजमहल के रात्रि दर्शन और वीआईपी मेहमान आने पर गांव में ही कैद रहना पड़ता है। स्थानीय पार्षद का कहना है कि, तंग आकर लोग यहां से पलायन कर रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.