बोले कांग्रेस नेता नवजोतसिंह सिद्धू ,पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार की बदौलत ही होगा भारत-पाक संबंधों में सुधार

बोले कांग्रेस नेता नवजोतसिंह सिद्धू ,पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार की बदौलत ही होगा भारत-पाक संबंधों में सुधार

Sonam Ranawat | Publish: Sep, 03 2018 11:33:28 AM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

www.patrika.com/ajmer-news

अजमेर. पूर्व क्रिकेटर और कांग्रेस नेता नवजोतसिंह सिद्धू का मानना है कि पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार की बदौलत दोनों देशों के संबंधों में सुधार आएगा। उन्होंने कहा कि जब तक सांस है जब तक आस है। बातचीत ही ऐसा माध्यम है जिससे रिश्ते सुधर सकते हैं।

 

ऑल सेंटस स्कूल में रविवार को एमयूएन 2.0 कार्यक्रम में सिद्धू ने पाकिस्तान में इमरान खान सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करने का बचाव करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने दोनों देशों के बीच बस चलाई। मौजूदा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बिन बुलाए नवाज शरीफ की बेटी की शादी में शामिल होने गए। यही सोच लेकर वे भी पाकिस्तान गए। उन्होंने कहा स्पोट्र्समैन फासले मिटाने की ताकत रखता है। इमरान खान, वसीम अकरम, विराट कोहली, नुसरत फतेह अली खान सरीखे लोग प्रेम बनकर लोगों को जोड़ते हैं। उन्होने इमरान खान सरकार की वकालत करते हुए कहा कि किसी भी लोकतांत्रिक सरकार में फौज मुल्क नहीं चला सकती।

 

लोकतंत्र में मतपेटी जीतती है। फौज नहीं जनता ही अपना राजा चुनती है। कार्यक्रम में विद्यार्थियों के सवालों का चुटीले अंदाज में जवाब देते हुए सिद्धू ने कहा कि अच्छे वक्त में इंसान कुछ नहीं बन सकता। बुरा वक्त ही उसे बेहतर बनाता है। उन्होंने कहा कि कुछ बनना है तो सपनों की दुनिया से बाहर निकलें और मेहनत की दुनिया में कदम रखें सफलता आपके कदम चूमेगी।

 

उन्होंने चिर-परिचित अंदाज में शायरी करते हुए कहा कि पंखों से नहीं हौसलों से उड़ान होती है। कोयल कूक से, पेड़ फल से और बंदा अपने कर्म से महान बनता है। उन्होंने महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का उदाहरण देते हुए कहा कि वे पहले चार रन बनाने के लिए जूझे और बाद में भारत के लिए 15 हजार रन बनाकर महान बने।

विराट पसंदीदा खिलाड़ी-गांधी प्रेरणादायक
विद्यार्थियों के सवालों के जवाब में उन्होंने भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को अपना ऑल टाइम फेवरेट खिलाड़ी बताया। उन्होंने कहा फर्श से अर्श तक पहुंचने वाले इस खिलाड़ी का एटीट्यूड ही उसे अलग बनाता है। उनके मन में कोई संदेह और कोई भय भी नहीं है। उन्होंने महात्मा गांधी को अपना प्रेरणादायक बताते हुए कहा कि उन्होंने आत्मबल और बिना हिंसा के देश को आजाद कराया। गांधी की सत्यमेव जयते की ताकत को कोई हिला नहीं सकता।

 

सृष्टि बदलनी है तो दृष्टि बदलनी होगी

इससे पूर्व पत्रकारों से बातचीत में नवजोत सिंह ने कहा कि अगर सृष्टि बदलनी है तो दृष्टि बदलनी होगी। उन्होंने कहा कि युवाओं की इच्छाएं और तमन्ना होती है, लेकिन हम हमेशा उन पर अपनी इच्छाएं थोप देते हैं। उन्हें डाक्टर अथवा इंजीनियर बनने का दबाव डालते हैं। थोपने की वजह से ही भारत में युवा नीति नहीं मिली। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की सोच है प्यास कुएं के पास नहीं बल्कि प्यासा कुएं के पास जाए। सोच से सोच की लड़ाई कार्यक्रम इसी उद्देश्य को लेकर शुरू किया गया है।

 

इस दौरान उन्होंने राजनीतिक सवालों के जवाब देने से इंकार कर दिया। उनके साथ आए ऑल इंडिया यूथ कांग्रेस के प्रभारी कृष्णा अलावेरु ने बताया कि सोच से सोच की लड़ाई मुहिम युवाओं की मुहिम है। राजनीति से उलट इस तरह के कार्यक्रमों में युवा अपनी बात कहेंगे और नेता उनका जवाब देंगे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned