Heavy rain: अगर बरसा 10 इंच पानी तो डूब जाएगा अजमेर

Heavy rain:  अगर बरसा 10 इंच पानी तो डूब जाएगा अजमेर

raktim tiwari | Updated: 02 Aug 2019, 10:22:31 AM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

अजमेर के हालात खराब हैं। वास्तव में अगर 10 इंच पानी एक साथ बरस जाए तो समूचा शहर डूब (flood in ajmer) सकता है। यह हालात 1975 की बाढ़ जैसा मंजर दिखा सकते हैं।

अजमेर

जिस तरह गुरुवार को ताबड़तोड़ घटाएं बरसीं है, उससे अजमेरवासियों को चेत (alert) जाना चाहिए। महज तीन घंटे में 114.2 मिलीमीटर (सवा चार इंच) बारिश ने शहर को जलमग्न कर दिया था। कई इलाके पानी में घिरने से टापू (water point) बन गए। अजमेर के हालात खराब हैं। वास्तव में अगर 10 इंच पानी एक साथ बरस जाए तो समूचा शहर डूब (flood in ajmer) सकता है। यह हालात 1975 की बाढ़ जैसा मंजर दिखा सकते हैं।

read more: (Rain)बारिश का अस्पताल में कहर: मशीनों का पानी ने किया 'एक्सरे Ó

गुरुवार को ताबड़तोड़ बारिश (heavy rain) से शहर पानी-पानी हो गया था। मूसलाधार बारिश का पानी कई इलाकों में भर गया। वैशाली नगर सेक्टर-तीन, गुलमोहर कॉलोनी, सागर विहार कॉलोनी, जादूघर, नगरा, अलवर गेट और आसपास के इलाकों में गलियों-सडक़ों पर पानी (water store) भरा हुआ है। नगर निगम (municipal corporation) और एडीए (ADA) ने पम्प लगाकर पानी नालों में डाला पर प्रयास विफल हैं। इससे कई-बड़े और छोटे नाले लबालब हैं।

read more: Heavy rain: आनासागर और पुष्कर में ध्वस्त हुए पुराने रिकॉर्ड

काजी का नाला, आंतेड़ का नाला, जवाहर नाडी, लोहागल-शास्त्री नगर की पहाड़ी क्षेत्रों के नालों में पानी बहता रहा। इसके अलावा पंचशील-माकड़वाली रोड, राजीव कॉलोनी-एलआईसी कॉलोनी, अजयपालबाबा मंदिर के निकट पहाडिय़ों से झरने भी बहते नजर आए। आनासागर झील में पानी की आवक (water increase)बनी हुई है।

डूब जाएगा समूचा शहर

शहर में 114.2 मिलीमीटर बरसात ने केवल झलक दिखाई है। इसने ही आनासागर और नालों को उफान (sever water) पर ला दिया। निचले इलाके के कई घरों-दुकानों में घुटनों तक पानी घुस गया। सरकारी दफ्तर, जेएलएन अस्पताल, निजी-सरकारी स्कूल परिसरों में पानी (water in campus) भर गया। यह मंजर भविष्य की तबाही (danger on ajmer) की ओर इशारा कर रहा है। यदि शहर में एक साथ एक दिन में दस इंच बारिश हो जाए तो भयावह (critical)हालात हो सकते हैं। शहर में गिरने वाला 10 इंच पानी (1o inch rain) कहां जाएगा इसका जिला प्रशासन, नगर निगम और एडीए को अंदाजा भी नहीं है।

read more: heavy rain: आनासागर में रिकॉर्ड तोड़ पानी, उफन पड़े चैनल गेट

यह इलाके तो डूब जाएंगे...

अगर 10 इंच बरसात हो गई तो खासतौर पर धौला भाटा, नगरा, प्रकाश रोड, सुनहरी कॉलोनी, जादूघर, आर्य नगर, नौ नंबर पेट्रोल पंप, अशोक नगर भट्टा, विनय नगर, पालबीचला, श्रंगार चंवरी, आदर्श नगर, सुभाष नगर से सटे निचले इलाके जलमग्न (water) हो जाएंगे। इनमें घरों और नाले-नालियों का पानी का स्तर बराबर होगा। यहां से पानी की निकासी (rain water) करना भी आसान नहीं है। ऐसे में सरकार और प्रशासन को खासी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा वैशाली नगर, पंचशील, जयपुर रोड, जवाहरलाल नेहरू अस्पताल, दरगाह इलाके में भी हालात बदतर हो जाएंगे।

वो 1975 की बाढ़...

18 जुलाई 1975 (1975 flood)के नजारे को उस वक्त की पीढ़ी कभी नहीं भुला सकती है। एक दिन में अजमेर में 900 मिलीमीटर से ज्यादा बरसात ने जबरदस्त तबाही (ajmer city) मचा दी। उस वक्त अजमेर का ज्यादातर दायरा परकोटे के अंदर ही थी। बाहरी इलाकों में क्रिश्चियनगंज, लिंक रोड, वैशाली नगर-बधिर विद्यालय और कुछेक कॉलोनी थी। ऐसे में इन इलाकों में आनासागर का पानी बहुत बड़े क्षेत्र (करीब 25 से 26 फीट) तक फैल गया था। अंदरूनी और बाहरी इलाकों में तो कई घरों में महीनों तक पानी भरा रहा था।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned