Heavy rain in ajmer: कहर बनी बरसात, कई मकान हो गए धाराशायी

Heavy rain in ajmer: कहर बनी बरसात, कई मकान हो गए धाराशायी

raktim tiwari | Updated: 17 Aug 2019, 07:45:50 PM (IST) Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

कुछ जर्जर मकानों के खतरनाक हिस्सों को नगर निगम ने ठेकेदारों के कर्मचारियों को भेजकर ढहाया गया। टीम ने जिन स्थानों सर्वाधिक पानी भरता है उन स्थानों का दौरा कर आवश्यक दिशा- निर्देश दिए।

अजमेर.

अजमेर शहर में लगातार बारिश (barsih) का दौर जारी रहने से कई कच्चे और जर्जर मकान गिर गए। हालांकि इससे किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई। वहीं कुछ जर्जर मकानों (dangerous houses) के खतरनाक हिस्सों को नगर निगम ने ठेकेदारों के कर्मचारियों को भेजकर ढहाया गया। नगर निगम (nagar nigam)की टीम ने जिन स्थानों सर्वाधिक पानी भरता (water storage) है उन स्थानों का दौरा कर आवश्यक दिशा- निर्देश दिए। इस दौरान नगर निगम उपायुक्त गजेन्द्र सिंह रलावता, एसई अरविन्द यादव, एक्सइन ओमप्रकाश डिंडवाल, स्वास्थ्य अधिकारी रूपाराम चौधरी व फायर अधिकारी हबीब खान आदि शामिल रहे।

read more: Heavy rain in ajmer : धड़ाम से सड़क पर आ गिरा पहाड़, जिसने देखा रह गया हैरान

नगर निगम आयुक्त ने लिया जायजा

नगर निगम आयुक्त (commissioner) चिन्मय गोपाल ने जहां पर सर्वाधिक पानी भरने वाले स्थान और जिन स्थानों पर जर्जर मकान गिरे है उन स्थानों का दौरा (inspection) किया। इसमें ब्रह्मपुरी, कचहरी रोड, तोपदड़ा, श्रीनगर रोड, अलवरगेट, लुहार बस्ती, सुखाडिय़ा नगर, प्रकाश रोड, नौ नम्बर पेट्रोल पंप, आदर्शनगर , रेलवे की आड़ी पुलिया, नारी शाला, ब्यावर रोड, चौरसियावास तालाब से इदगाह की नाड़ी, सागर विहार, गुलमोहर कॉलोनी, सागर विहार की पाल, चौपाटी, रामनगर आदि का दौरा किया।

read more: Heavy rain in ajmer: जूनिया और पुष्कर में बाढ़ के हालात

पानी निकालने के लिए लगाए मड पंप

नगर निगम की ओर से सागर विहार कॉलोनी, गुल मोहर कॉलोनी, सागर विहार की पाल पर निगम की ओर आठ मड पंप लगाकर पानी लगातार निकाला (water rescue) जा रहा है। इसी तरह तोपदड़ा अंडरपास, सलीम कोचिंग सेंटर, तानाजी नगर गली नम्बर सात, आम का तालाब आदि स्थानों पर मड़ पंपों (water pumps) के माध्यम से भरा हुआ पानी लगातार (heavy rain in ajmer) पानी निकाला जा रहा है।

read more: anasagar lake ajmer: खोले आनासागर चैनल के चैनल गेट
कर्ई स्थानों पर कच्चे और जर्जर मकान गिरे (houses collapse)- केसरगंज स्थित मराज के पास लगा पुराना पेड़ (tree) गिर गया। इससे चबूतरा और वहां पर खड़ी मोटरसाइकिलें (bikes) आदि दब गई।

- आगरा गेट गणेश मंदिर के पीछे परकोटा की दीवार गिर गई। हालांकि इससे किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई।
- नया बाजार बादशाह बिल्डिंग के पास जर्जर मकान का एक चौथाई हिस्सा गिर गया। शेष हिस्से को गिराया जा रहा है।

- गूजर धरती स्थित वीर चौक शीतला माता की गली में शांति देवी का कच्चा मकान गिर गया। इसमें पांच रहते है।

- मेयो कॉलेज गल्र्स स्कूल की दीवार भी दीवार का कुछ हिस्सा गिर गया। इससे वीर चौक में पानी भर गया।

- सुखाडिय़ा उद्यान के पास चंदनसिंह का मकान और टोडा की गली निवासी भूपेन्द्र सिंह का भी क्षतिग्रस्त हो गया।
- लौगिंया क्षेत्र में वर्षो पुराना पेड़ गिर गया। इससे पेड़ के नीचे दो कार दबकर क्षतिग्रस्त हो गई है।

- दरगाह परिसर स्थित गेट चार पेड़ की ढाल टूट कर छत पर गिर गई। किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई।
- रामनगर में सरकारी स्कूल परिसर में पुराना पेड़ गिर गया। इससे बिजली के पोल व तार भी टूट गए।

यह स्कूल अनयत्र जगह पर शिफ्ट हो गया है।
- नसिया के पीछे जर्जर भवन गिर गया ।

- पाल बीचला में मकान ढह गया।

-सीआरपीएफ ब्रिज के पास सडक़ धंस गई।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned