Murder case: रणजीत की तलाश में पुलिस, जाल में फंसने का है इंतजार

raktim tiwari

Publish: Sep, 21 2019 06:43:54 PM (IST)

Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

अजमेर. मनी एक्सचेंज (money exchange) कारोबारी मनीष मूलचंदानी की हत्या एवं लूट के मास्टर माइंड जितेंद्र सिंह उर्फ जीतू बन्ना को शनिवार को कड़ी सुरक्षा में पुलिस ने अदालत में पेश किया। अदालत ने उसे एक दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंपा है। उधर पुलिस को फायरिंग करने वाले आरोपित रणजीत उर्फ रणसा की तलाश है। पुलिस बाकी गैंग को दबोच चुकी है।

read more: केरल के राज्यपाल खान बोले : भारत की मजबूती के पीछे आध्यात्म की प्रमुख भूमिका

आगरा गेट इलाके में 21 फरवरी को सरेआम फायर (firing) कर मनी एक्सचेंज कारोबारी मनीष मूलचंदानी की हत्या हुई थी। पुलिस ने घटना के 5 महीने बाद 16 जुलाई को हत्याकांड (murder) का पर्दाफाश किया था। इसमें वारदात का मुख्य आरोपित कंवरासा जोबनेर निवासी जितेंद्र सिंह उर्फ जीतू बन्ना पुत्र दरबार सिंह है। यह कुख्यात गैंगस्टर भी है। पुलिस जीतू को शुक्रवार देर रात प्रोडक्शन वारंट से फुलेरा से गिरफ्तार कर अजमेर लाई थी। कोतवाली थाना पुलिस ने जीतू को शनिवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया। पुलिस ने जितेंद्र (jitendra) से कई बिन्दुओं के आधार पर पूछताछ की।

read more: कभी रहे होंगे जेलर...अब आ जाओ खुद ‘अंदर’

रणजीत की है पुलिस को तलाश
मूलचंदानी ने लुटेरों (loot in ajmer) को पकडऩे की कोशिश की तो रणजीत सिंह उर्फ रणसा पुत्र किशन सिंह शेखावत ने उस पर फायर कर दिया जिससे उसकी मौत (death )हो गई थी। रणसा जोबनेर का है। पुलिस को गैंग के अधिकांश लोगों को पकड़ चुकी है। अब उसे केवल रणजीत की तलाश है।

नहीं मिली है रकम
मूलचंदानी के कार्यालय से लुटेरों ने करीब 12 लाख रुपए लूटे थे। पुलिस को रकम (cash loot) भी बरामद करनी है। पूछताछ में सामने आया है, कि रणजीत और अन्य इसका पिछले छह महीने में उपयोग कर चुके हैं। लिहाजा जीतू से सभी एंगल से पूछताछ जारी है।

read more: आप भी देखें पानी से गुजरते रेगिस्तान के जहाज का सुंदर वीडियो

यूं बनाई थी गैंग
जीतू को अजमेर केंद्रीय कारागार में बंद चोरी के आरोपी ने मनी एक्सचेंजर मूलचंदानी के कारोबार (business) और उसकी गतिविधियों की जानकारी दी थी। जीतू ने जयपुर जोबनेर बोराज निवासी मोईनुद्दीन उर्फ मैनू पुत्र हबीब खां के फार्म हाउस (farm house)पर लूट की साजिश रची। इसमें मोईनुद्दीन, जोबनेर निवासी रणजीत सिंह उर्फ रणसा पुत्र किशन सिंह शेखावत, सीताराम व अर्जुन उर्फ अज्जू को भी शामिल किया।

read more: MDSU: बोले कुलपति..बिल्डिंग बना लीं बड़ी-बड़ी, नहीं पढ़ रहे 8 विद्यार्थी

यूं अंजाम दी थी वारदात
वारदात से एक दिन पहले 20 फरवरी को जीतू और उसके साथियों ने मनी एक्सचेंजर मूलचंदानी के कार्यालय की रैकी की। 21 फरवरी को इस गैंग ने योजना (loot scheme) के तहत मूलचंदानी के दफ्तर पर वारदात को अंजाम दिया। इससे पहले सीताराम और अर्जुन ने शास्त्रीनगर में एक दुकान से रूमाल और बैग भी खरीदा था।


जितेंद्र के खिलाफ राजस्थान में 10-15 मामलों के अलावा राजसमंद में फायरिंग का केस भी दर्ज है। लूटी गई रकम और अन्य पहलुओं पर छानबीन जारी है।
डॉ. प्रियंका रघुवंशी, सीओ नॉर्थ

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned