Global Warming..लगातार घटती जा रही है बरसात, छह साल में हो गया ये हाल

Global Warming..लगातार घटती जा रही है बरसात, छह साल में हो गया ये हाल

raktim tiwari | Publish: Sep, 03 2018 08:13:00 AM (IST) Ajmer, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

रक्तिम तिवारी/अजमेर।

भादौ की घटाएं सोमवार को भी आसमान पर मंडराती रही। धूप-छांव का दौर चला। सुबह हवा चलने से कुछ राहत रही। मानसून की सुस्ती कायम है।

बीते सप्ताह भिगोने वाली घटाएं सुबह से आसमान पर मंडराती दिखी। सुबह से ही बादलों का जमावड़ा रहा। सुबह हवा चलने से मौसम सामान्य रहा। बादलों के छितराने पर धूप-छांव चलती रही। कुछ इलाकों में मामूली बूंदें गिरी।

पिछले साल सा हाल

भादवे में मौसम का पिछले साल सा हाल है। बीते साल भी सितम्बर के शुरुआत में टपका-टपकी के बाद मानसून सुस्त हो गया था। सितम्बर खत्म होते-होते तो तापमान 37 डिग्री तक जा पहुंचा था। इस बार भी स्थिति कमोबेश वैसे ही है। मानसून के 94 दिन बीत चुके हैं। इसके बावजूद जिले में पर्याप्त बरसात नहीं हुई है। पिछले साल जिले में 2 सितम्बर तक 415 मिलीमीटर बरसात हो चुकी थी। इस बार महज 260 मिलीमीटर बरसात हुई है। अब मानसून के लिहाज से महज 28 दिन और बचे हैं।

किसको मानें सही...
सिंचाई विभाग जयपुर रोड और मौसम विभाग रामगंज में है। दोनों विभाग बरसात रिकॉर्ड करते हैं। सिंचाई विभाग ने अब तक 260 और मौसम विभाग ने 291 मिलीमीटर बरसात मापी है। दोनों के वर्षा मापी यंत्र अलग-अगल क्षेत्रों में है। ऐसे में कौनसे आंकड़े को सही माना जाए यह जल संसाधन और सिंचाई विभाग को तय करना है।

छह साल से नहीं औसत बरसात...(1 जून से 30 सितम्बर तक)

2012-520.2
2013-540

2014-545.8
2015-381.44

2016-512.07
2017-450


कॉलेज स्टूडेंट्स और टीचर्स को करना ही पड़ेगा ये काम...

सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय में चार सौ विद्यार्थियों को कम्प्यूटर प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्राचार्य डॉ. स्नेह सक्सेना ने बताया कि कॉलेज शिक्षा निदेशालय ने विद्यार्थियों में दक्षता बढ़ाने के लिए नि:शुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाने की योजना बनाई है।

साइबर लर्निंग एजेंसी कॉलेज के चार सौ विद्यार्थियों को माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस स्पेशलिस्ट ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षण देगी। प्रशिक्षण कोर्स के लिए विद्यार्थियों को 15 सितम्बर तक कॉलेज शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध लिंक पर पंजीकरण करना होगा। आवेदन के साथ कोई दस्तावेज लगाने की जरूरत नहीं होगी।

शिक्षकों को भी प्रशिक्षण

निदेशालय ने सौ शिक्षकों को भी कम्प्यूटर का प्रशिक्षण देने को कहा है। इनमें अजमेर और आसपास के कॉलेज शिक्षक शामिल किए जा सकते हैं। हालांकि ज्यादातर कॉलेज में शिक्षकों को कम्प्यूटर संचालन की जानकारी है। लेकिन निदेशालय ने पूर्व में वंचित शिक्षकों को प्रशिक्षण देने को कहा है।

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned