आज 1 जुलाई है: कई चीजें लाएंगी आपके जीवन में बदलाव

बैंकिंग की दुनिया में लागू होंगे कई बड़े बदलाव, स्कूलों-कॉलेजों में आज से लौटेगी रौनक

स्कूलों में डेढ़ माह की छुट्टियों के बाद रौनक लौटेगी तो बैंकिंग की दुनिया में कई बदलाव होने जा रहे हैं। लघु बचत योजनाओं से लेकर खाते में पैसे भेजने, कर्ज और बचत खाताधारकों को मिलने वाली सुविधाओं तक में यह देखने को मिलेंगे। बदलावों से लोगों को कहीं फायदा होगा, तो कहीं नुकसान भी होगा। कई ट्रेनों के समय में बदलाव भी होने जा रहा है।

By: Narendra

Published: 01 Jul 2019, 05:30 AM IST

 छुट्टियां खत्म, आज से फिर क्लास शुरू
जयपुर. डेढ़ माह की गर्मी की छुट्टियों के बाद जुलाई की पहली तारीख से प्रदेशभर में सरकारी व निजी स्कूलों-कॉलेजों में रौनक लौट आएगी। सोमवार से बच्चे आएंगे और स्कूलों-कॉलेजों में नियमित कक्षाएं शुरू हो जाएंगी।
हालांकि सरकारी स्कूल 7 दिन पहले खुल चुके हैं लेकिन इस अवधि में केवल शिक्षक स्कूल पहुंच रहे थे। अब सरकारी स्कूलों में प्रवेशोत्सव भी शुरू हो जाएगा। मंगलवार को सभी 65 हजार सरकारी स्कूलों की सार्वजनिक स्थानों पर बालसभा होगी। सरपंच से लेकर मंत्री तक सभी जनप्रतिनिधि व सरकारी कर्मचारी समीपस्थ सरकारी स्कूल की बालसभा में भाग लेंगे। इसके लिए शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने जनप्रतिनिधियों को पत्र भेजे हैं। ग्रीष्मावकाश से ठीक एक दिन पहले 9 मई को भी बालसभाएं हुई थीं। शिक्षा विभाग का दावा है कि उससे बच्चों का नामांकन बढ़ा है। उधर, प्रदेश के सभी 252 सरकारी कॉलेजों में भी सोमवार से सत्र शुरू हो जाएगा।
लघु बचत योजनाओं में मिलेगा कम ब्याज
छोटी बचत योजनाओं सरकार ने 1 जुलाई से 30 सितंबर तक की तिमाही के लिए ब्याज दरों में 0.10त्न की कटौती की है। इनमें जन भविष्य निधि कोष (पीपीएफ), राष्ट्रीय बचत पत्र, किसान विकास पत्र और सुकन्या समृद्धि योजना जैसी योजनाएं शामिल हैं।
डिजिटल ट्रांजेक्शन पर शुल्क खत्म
डिजिटल ट्रांजेक्शन बढ़ाने के लिए आरटीजीएस और एनईएफटी पर शुल्क खत्म कर दिया गया है। रीयल टाइम सेटलमेंट सिस्टम (आरटीजीएस) पर 5 से 50 रुपए , नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर (एनईएफटी) पर 1 से 5 रुपए, का शुल्क लागू था।
प्राथमिक खातों में मिलेंगी नई सुविधाएं
प्राथमिक बचत बैंक जमा खाताधारकों को चेक बुक और अन्य सुविधाएं भी मिल सकती हैं। बैंक इनके लिए कोई न्यूनतम राशि (मिनिमम बैलेंस) रखने के लिए नहीं कह सकते। बैंकों में इस तरह के खातों को बिना कोई रकम जमा कराए खोला जा सकता है।
मिलेगा रेपो दर से जुड़ा होम लोन
भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआइ) 1 जुलाई से ग्राहकों को रिजर्व बैंक की मूल ब्याज दर (रेपो रेट) से जुड़े आवास ऋण (होम लोन) उपलब्ध कराएगा। इस कर्ज की ब्याज दरें रेपो दरों में कटौती या बढ़ोतरी के साथ ही घटेंगी अथवा बढ़ेंगी।

Narendra Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned