टप्पल में ढाई वर्षीय बच्ची की हत्या की मजिस्ट्रेटी जांच शुरू, साक्ष्य मांगे

टप्पल में ढाई वर्षीय बच्ची की हत्या की मजिस्ट्रेटी जांच शुरू, साक्ष्य मांगे
people

suchita mishra | Updated: 12 Jun 2019, 10:12:12 AM (IST) Aligarh, Aligarh, Uttar Pradesh, India

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिल के टप्पल कस्बा में ढाई वर्षीय बच्ची की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई थी।

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिल के टप्पल कस्बा में ढाई वर्षीय बच्ची की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई थी। दो जून, 2019 को कूड़े के ढेर में आरोपी के घर से बच्ची का शव बरामद हुआ था। इसके बाद काफी बवाल हुआ। रविवार को तो लोगों ने अलीगढ़ पलवल मार्ग और यमुना एक्सप्रेस वे पर जाम तक लगाया। इसके बाद जिलाधिकारी चन्द्रभूषण सिंह ने घटना की मजिस्ट्रेटी जांच का आदेश दिया है।

यह भी पढ़ें
बच्ची के परिवार से मिलने के बाद करणी सेना के अध्यक्ष का फूटा गुस्सा, बोले अगर अपराधियों को नहीं मिली फांसी तो करणी सेना देना जानती है...

दोषी का पता लगाया जाएगा
अपर जिलाधिकारी प्रशासन कृष्णलाल तिवारी घटना की जांच करेंगे। मजिस्ट्रेटी जांच में यह देखा जाएगा कि घटना के लिए कौन-कौन दोषी है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने टप्पल थानाध्यक्ष समेत पांच पुलिस वालों को निलंबित किया है। मजिस्ट्रेटी जांच में इन पुलिस वालों ने क्या लापरवाही बरती और क्या दंड दिया जाए, यह भी तय होगा। अपर जिलाधिकारी ने कहा है कि कोई भी व्यक्ति घटना के संबंध में साक्ष्य और बयान दे सकता है। कलक्ट्रेट स्थित उनके कार्यालय कक्ष में बयान दर्ज कराए जा सकते हैं। लिखित में या मौखिक बयान भी दर्ज किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें
बच्ची की हत्या के बाद टप्पल में तनाव जारी, इंटरनेट सेवा बंद होने के बाद पहुंचे एडीजी

 

Accused

दो जून को बरामद हुई थी लाश
बता दें कि उधारी के रुपयों को लेकर विवाद के बाद आरोपी जाहिद ने असलम के साथ 30 मई, 2019 को बच्ची को घर के सामने से अगवा कर लिया था। असलम के घर में बच्च की हत्या की गई। जाहिद के भाई मेंहदी हसन और पत्नी शगुफ्ता ने हत्या में सहयोग किया। पुलिस ने दो अभियुक्तों को तत्काल गिरफ्तार कर लिया था। सात जून को जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और फिल्मी हस्तियों ने इस प्रकरण पर ट्वीट करना शुरू किया तो मामला अंतराष्ट्रीय स्तर पर उछला। पुलिस पर दबाव पड़ा तो दो और आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें
अलीगढ़ हत्या: स्वरा भास्कर ने ढाई साल बच्ची की हत्या पर जताया शोक तो फूट पड़ा यूजर्स का गुस्सा, जमकर सुनायी खरी-खोटी

कासगंज दंगे के मुख्य आरोपी जाहिद हुसैन ने ये बात कहकर फैलाई सनसनी, देखें वीडियो

 

girl postmortem report

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद उबाल
बच्ची का पोस्टमार्टम कराया गया तो पाया कि उसका आंख, आंत नहीं है। हाथ और पैरों को काटा गया एक हाथ जड़ से उखाड़ लिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के वायरल होने के बाद लोगों को गुस्सा भड़क गया। पूरे देश में आंदोलन शुरू हो गया। रविवार को टप्पल में पंचायत का ऐलान किया गया। हालांकि पुलिस ने पंचायत नहीं होने दी, लेकिन लोगों ने मार्ग जाम किया। हंगामा किया। एसएसपी का कहना है कि विधि विज्ञान प्रयोगशाला आगरा से साक्ष्यों की रिपोर्ट आने के बाद तय होगा कि बच्ची के साथ बलात्कार हुआ है या नहीं। अपर पुलिस महानिदेशक आगरा जोन अजय आनंद ने भी टप्पल का दौरा किया। थाने में बैठक कर वस्तुस्थिति को समझा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बच्ची के पिता से मिलना चाहते हैं, लेकिन उन्होंने लखनऊ जाने से इनकार कर दिया है। घटना को लेकर अभी भी आक्रोश जारी है।

यह भी पढ़ें
अलीगढ़ घटना बहुत शर्मनाक, आरोपियों को दी जाएगी कड़ी-कड़ी से सजा : सुरेश पासी

घटनाक्रम
-30 मई को सुबह साढ़े आठ बजे मासूम घर के बाहर खेलते समय गायब।
-31 मई को टप्पल थाने में पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज की।
-02 जून को सुबह सात बजे घर से चंद कदम दूर कूड़े के ढेर में शव पड़ा मिला।
- नौ बजे थाने के बाहर सड़क पर शव रखकर आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए ग्रामीणों ने लगाया जाम।
-11 बजे एसएसपी, सांसद, खैर विधायक पहुंचे और ग्रामीणों को समझा-बुझाकर जाम खुलवाया।
- दोपहर दो बजे पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा बालिका का शव।
- शाम पांच बजे पोस्टमार्टम। सात बजे गांव में पुलिस की कड़ी सुरक्षा में अंतिम संस्कार।
- देर रात लापरवाही बरतने वाले इंस्पेक्टर टप्पल को किया लाइन हाजिर।
-3 जून को दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन।
-4 जून को आरोपित जाहिद व असलम की गिरफ्तारी।
- सासंद व खैर विधायक ने ग्रामीणों को जूस पिलाकर धरना खत्म कराया।
-5 जून को दोनों आरोपितों को पुलिस ने जेल भेजा।
-6 जून को सोशल मीडिया पर छाया टप्पल प्रकरण। देर रात एसएसपी ने तत्कालीन इंस्पेक्टर टप्पल, तीन दारोगा व एक सिपाही निलंबित किया।
-7 जून को एसआइटी जांच के साथ आरोपितों पर एनएसए व पॉक्सो एक्ट में कार्रवाई की घोषणा।
- देशभर में सोशल मीडिया पर लोगों की प्रतिक्रियाओं ने जोर पकड़ा।
-8 जून को दो अन्य हत्यारोपी जाहिद की पत्नी शगुफ्ता और जाहिद का भाई मेंहदी हसन गिरफ्तार।
-9 जून को ‘टप्पल चलो’ आह्वान के बाद पुलिस ने अलीगढ़ की सीमाएं सील कीं।
-टप्पल में हत्यारोपियों को फांसी की मांग को लेकर अलीगढ़-पलवल मार्ग और यमुना एक्सप्रेस वे पर जाम लगाया।
-पुलिस ने साध्वी प्राची को जेवर से लौटा दिया। अलीगढ़ में नहीं घुसने दिया। महापंचायत नहीं हो सकी।
- 10 जून को टप्पल में तनाव के चलते इंटरनेट सेवा बंद की गई। अपर पुलिस महानिदेशक अजय आनंद ने पीड़ित परिवार से भेंट की। आक्रोश जारी।
- 11 जून को टप्पल के बाजार खुले लेकिन तनाव बरकरार।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned