एंटी करप्शन ब्यूरो ने किसान से 4 हजार रुपए की रिश्वत लेते पटवारी को रंगे हाथों किया गिरफ्तार

ACB: धान बेचने के लिए जमीन के रकबे का पंजीयन कराने के एवज में पटवारी (Patwari) ने मांगी थी रिश्वत, किसान ने एसीबी से की थी मामले की शिकायत

By: rampravesh vishwakarma

Published: 17 Oct 2020, 09:21 PM IST

अंबिकापुर. एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) अंबिकापुर की टीम ने किसान ने 4 हजार रुपए की रिश्वत लेते एक पटवारी को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। दरअसल किसानों को सोसायटी में धान बेचने के लिए पटवारी से पंजीयन कराना होता है।

पंजीयन फार्म में कृषि जमीन का रकबा दर्ज कराने के एवज में इन रुपयों की मांग की गई थी। किसान की शिकायत पर एसीबी की टीम ने योजना बनाकर रिश्वतखोर पटवारी (Patwari) को पकड़ा।

Read More: एसीबी की ताबड़तोड़ कार्रवाई, इस बार जल संसाधन विभाग के बाबू को 7 हजार की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार


सूरजपुर जिले के ग्राम पाठकपुर निवासी किसान प्रेमसाय द्वारा 11 सितंबर को एसीबी अंबिकापुर में शिकायत की गई थी कि उसके हल्का के पटवारी द्वारा जमीन के रकबा का पंजीयन करने के एवज में 5 हजार रिश्वत की मांग की जा रही है।

शिकायत के बाद एसीबी की टीम (ACB team) ने डीएसपी पंकज चंद्रा के मार्गदर्शन में उसे रंगे हाथों गिरफ्तार करने की योजना बनाई गई। शिकायत का सत्यापन कराने के दौरान पटवारी (Patwari) 4 हजार रुपए में काम करने ेपर राजी हो गया था।

Read More: एसीबी की टीम ने आरआई को महिला से 8 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों किया गिरफ्तार

इसी कड़ी में शनिवार की दोपहर ग्राम लटोरी में किसान से 4 हजार रुपए की रिश्वत (Bribe) लेते अंबिकापुर के गोधनपुर निवासी पटवारी अनुज उर्फ अनूप सिन्हा पिता रविंद्र प्रसाद सिन्हा 29 वर्ष को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। पटवारी के विरुद्ध धारा 7 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 के तहत कार्रवाई की गई।


पंजीयन के बदले रिश्वत की मांग
किसान ने बताया कि उसे सोसायटी में धान (Paddy) बेचना था। धान बेचने के लिए हल्का के पटवारी से जमीन के रकबा का पंजीयन (Registration) कराना होता है। जब वह पंजीयन कराने पटवारी के पास गया तो उसने बदले में रुपए की डिमांड की थी।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned