यहां जमकर चल रहा ये अवैध कारोबार, रुपयों की लालच में जान की बाजी तक लगा देते हैं लोग

यहां जमकर चल रहा ये अवैध कारोबार, रुपयों की लालच में जान की बाजी तक लगा देते हैं लोग

Ram Prawesh Wishwakarma | Updated: 17 Jul 2019, 03:58:00 PM (IST) Ambikapur, Surguja, Chhattisgarh, India

Coal smuggling : इस गोरखधंधे पर पुलिस का भी नहीं रह गया है नियंत्रण, रात के अंधेरे में चोरी-छिपे होता है ये काम, पुलिस के आला अधिकारी का कहना- सख्त कार्रवाई के दिए गए हैं निर्देश

अंबिकापुर. अविभाजित सरगुजा में अवैध कोयला (Coal smuggling) खदानों की भरमार है। विशेषकर सूरजपुर जिले के अधिकांश इलाकों में जमीन के नीचे कोयला होने की वजह से यहां संख्या अधिक है। ये अवैध कोयला खदानें तस्करों के लिए सोने की खान की तरह हैं। कोल तस्कर स्थानीय ग्रामीणों को रुपए का लालच देकर अवैध खनन का कार्य कराते हैं।

वहीं ग्रामीण भी रुपए के लालच में जान की बाजी लगाकर अवैध खदान से कोयला (Coal smuggling) निकालते हैं। अब तक अवैध खदान धसकने से कई ग्रामीणों की जान भी जा चुकी है। इसके बावजूद इस गोरखधंधे पर पुलिस का कोई नियंत्रण नहीं है।

 

ये भी पढ़े : सोते समय दर्द का हुआ अहसास तो खुल गई नींद, देखा तो मौत भी थी वहीं, फिर चंद घंटे में पसर गया मातम


गौरतलब है कि अविभाजित सरगुजा में एसईसीएल (SECL) की खदानों से सटे ग्रामों में अवैध कोयला खदान की भरमार है। इसके अलावा सूरजपुर जिले के अधिकांश इलाकों में जमीन के नीचे कोयला होने की वजह से यहां भी जगह-जगह अवैध खदान तस्करों (Coal smuggling) द्वारा बना दिए गए हैं।

कोयले का अवैध कारोबार (Coal smuggling) एक संगठित गिरोह द्वारा वर्षों से सरगुजा में किया जा रहा है। ऐसे भी आरोप लगते हैं कि स्थानीय थानों के संरक्षण में यह कारोबार जमकर फल-फूल रहा है। कोल तस्कर स्थानीय ग्रामीणों की मदद से अवैध खदानों (Illegal coal mines) से कोयला निकलवाते हैं, फिर एक जगह डंप कर उसे अवैध ईंट भ_ों व डिपो में खपाया जाता है।

 

ये भी पढ़े : दूल्हा मांग में सिंदूर भरने ही वाला था कि अचानक दुल्हन उठकर बोली- मैं किसी और को चाहती हूं


इन स्थानों पर अवैध कोयला खदान
अविभाजित सरगुजा के दुप्पी-चौरा, केंवरा, बगड़ा, पलढ़ा, सपना-सुखरी, बेलढाब, कालापारा, गुमगरा सहित अन्य कई ऐसे इलाके हैं जहां अवैध खदान (Coal smuggling) संचालित है। ये खदान तस्करों के लिए सोने के खान से कम नहीं हैं। दिन-रात यहां से कोयला निकालकर तस्करी की जाती है।

ऐसे आरोप भी लगते रहते हैं कि विभिन्न क्षेत्रों में कोयले का अवैध कारोबार (Coal smuggling) स्थानीय पुलिस की मिलीभगत से ही हो रहा है। हर माह एक तय कमीशन पुलिस का भी बंधा रहता है।

 

ये भी पढ़े : दो ट्रकों में नहीं देखी होगी ऐसी भीषण भिड़ंत, उड़ गए परखच्चे, दोनों ड्राइवरों की दर्दनाक मौत, गैसकटर से काटकर निकाला गया बाहर


जान की परवाह नहीं करते ग्रामीण
कोल तस्कर ग्रामीणों को रुपए का लालच देकर इनसे अवैध कोयला (Coal smuggling) खदानों में खनन का काम करते हैं। ग्रामीण भी लालच में अपनी जान की परवाह किए बगैर अवैध खदानों से दिन-रात कोयला निकालते हैं, फिर बोरियों में भरकर तस्करों द्वारा बताई गई जगह पर डंप कर देते हैं।

प्रति बोरी के हिसाब से तस्कर उन्हें रुपए दे देते हैं। अभी कुछ दिन पूर्व ही उदयपुर ब्लॉक के बेलढाब में कोयला निकालने के दौरान दबकर एक युवक की मौत हो गई थी। पूर्व में भी ऐसे कई हादसे हो चुके हैं।


दिए गए हैं सख्त कार्रवाई के निर्देश
सभी थाना प्रभारियों व अधिकारियों को कोयले के अवैध कारोबार (Coal smuggling) के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। जब भी शिकायत मिलती है, त्वरित कार्रवाई की जाती है।
केसी अग्रवाल, आईजी, सरगुजा रेंज

 

सरगुजा जिले की क्राइम से संबंधित खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Crime in ambikapur

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned