scriptआंख में टॉर्च की रोशनी पडऩे से बिदके दंतैल हाथी ने ग्रामीण को पटका, फिर कुचलकर मार डाला | Elephant killed villager while he showing torchlight in his eyes | Patrika News
अंबिकापुर

आंख में टॉर्च की रोशनी पडऩे से बिदके दंतैल हाथी ने ग्रामीण को पटका, फिर कुचलकर मार डाला

Elephant killed villager: जंगल की ओर भटक रहे दंतैल हाथी के ऊपर बुजुर्ग द्वारा टॉर्च से की गई थी रोशनी, हाथी इतना गुस्सा हो गया कि बुजुर्ग के शव के कर दिए कई टुकड़े

अंबिकापुरFeb 27, 2024 / 09:49 pm

rampravesh vishwakarma

आंख में टॉर्च की रोशनी पडऩे से बिदके दंतैल हाथी ने ग्रामीण को पटका, फिर कुचलकर मार डाला

Forest officers reached in village

सीतापुर. Elephants killed villager: सोमवार की देर रात जंगल मे भटक रहे दंतैल जंगली हाथी ने बुजुर्ग की जान ले ली। बुजुर्ग द्वारा टॉर्च दिखाए जाने से नाराज जंगली हाथी ने बुजुर्ग को मार डाला। हाथी ने बुजुर्ग को पटकने के बाद पैरों से रौंदकर कई टुकड़े कर डाले थे। वन विभाग ने पीडि़त परिवार को २५ हजार की तात्कालिक सहायता राशि प्रदान की है।

गौरलब है कि एक दंतैल हाथी जशपुर जिले के जंगल से भटकते हुए सोमवार की रात सीतापुर क्षेत्र के शिवनाथपुर जंगल में पहुंचा था, जहां जंगल किनारे मौजूद घरों को क्षति पहुंचाते हुए नोनियाटांगर ललितपुर पहुंचा। यहां उसने समला पिता दुहना उम्र 60 वर्ष के घर को क्षतिग्रस्त करते हुए अंदर रखे धान को अपना निवाला बनाया।
यहां के बाद हाथी जंगल के रास्ते होते हुए ग्राम बेलजोरा जंगलपारा पहुंचा, जहां सुनसान जगह पर स्थित कच्चे मकान में तोडफ़ोड़ करने लगा। तोडफ़ोड़ के दौरान हाथी की चिंघाड़ सुन घर में अकेले सो रहे 80 वर्षीय बुजुर्ग विश्वनाथ यादव पिता जगदेव यादव हाथ मे टॉर्च लिए घर से बाहर निकले।
बाहर निकलते ही बुजुर्ग ने हाथी को भगाने की नीयत से हाथ में रखा टॉर्च जलाकर रोशनी हाथी पर दे मारा। टॉर्च की रोशनी से भागने की बजाय दंतैल हाथी ने बुजुर्ग पर हमला बोल दिया।
दंतैल ने पहले सूंड में लपेटकर बुजुर्ग को जमीन पर पटक दिया फिर पैरों से रौंदकर शव के कई टुकड़े कर दिए।उक्त घटना को मृतक के घर से कुछ दूर स्थित मकान के अंदर निवासरत परिजन देख रहे थे।
लेकिन दंतैल हाथी का आक्रामक रूप देखकर उनकी घर से बाहर निकलने की हिम्मत नही हुई।इस घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस एवं वन विभाग के अधिकारियों ने शव का पीएम करा परिजन को सौप दिया।

डॉक्टर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- ‘मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं…’


जंगल की ओर न जाने की समझाइश
वन विभाग के अधिकारियों ने लोगों को देर रात जंगल न जाने एवं जंगली हाथियों को न छेडऩे की समझाइश दी है। इस संबंध में वनपरिक्षेत्राधिकारी विजय कुमार तिवारी ने बताया कि घटना के बाद तात्कालिक सहायता राशि के रूप में परिजनों को 25 हजार रुपए उपवनमण्डलधिकारी पीएस मिश्रा द्वारा दिए गए हैं। मुआवजे की शेष राशि औपचारिकता पूरी करने के बाद पीडि़त परिवार को दे दी जाएगी।

Hindi News/ Ambikapur / आंख में टॉर्च की रोशनी पडऩे से बिदके दंतैल हाथी ने ग्रामीण को पटका, फिर कुचलकर मार डाला

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो