बदहवास घर पहुंची महिला ने बताई ऐसी बात कि सब रह गए सन्न, फिर 24 घंटे भी नहीं रह पाई जिंदा

बदहवास घर पहुंची महिला ने बताई ऐसी बात कि सब रह गए सन्न, फिर 24 घंटे भी नहीं रह पाई जिंदा

rampravesh vishwakarma | Publish: Sep, 08 2018 07:33:00 PM (IST) Ambikapur, Chhattisgarh, India

उस घटना के बाद भागती हुई घर पहुंची महिला, घर में पति समेत अन्य सदस्य थे मौजूद, डॉक्टर भी नहीं बचा पाए

अंबिकापुर. एक महिला सुबह-सुबह खेत में काम करने गई थी। इस दौरान उसे पैर में कुछ काटने का एहसास हुआ। उसने जब खेत में देखा तो जहरीला सांप वहां से भाग रहा था। पैर में निशान देखकर वह समझ गई कि उसे सांप ने डसा है। इसके बाद वह बदहवास भागती हुई घर पहुंची। यहां घरवालों को उसने बताया कि उसे सांप ने डस लिया है।

यह सुनते ही सब सन्न रह गए। उसका इलाज अंबिकापुर के एक निजी अस्पताल में चल रहा था लेकिन डॉक्टर भी उसे नहीं बचा पाए और घटना के 24 घंटे के भीतर ही उसकी मौत हो गई।


मैनपाट के कमलेश्वरपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम करदना निवासी सुखिया बाई पति चमरू राम उम्र 47 वर्ष 6 सितंबर की सुबह सोकर उठी थी। इसके बाद वह अपने खेत में काम करने चली गई। काम करने के दौरान ही उसे लगा कि पैर में किसी चीज ने काट लिया है। उसने हड़बड़ाकर पैर के नीचे देखा तो एक जहरीला सांप वहां से भाग रहा था।

महिला ने जब पैर में देखा तो सांप डसने के निशान बने थे। इससे महिला काफी घबरा गई और दौड़ती हुई अपने घर पहुंची। यहां उसने घर के सदस्यों को बताया कि उसे सांप ने डस लिया है।

यह सुनते ही सबके रोंगटे खड़े हो गए। इसके बाद महिला को तत्काल स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने उसे मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर के लिए रेफर कर दिया।


निजी अस्पताल में तोड़ा दम
डॉक्टरों द्वारा रेफर किए जाने के पश्चात परिजन महिला को लेकर अंबिकापुर पहुंचे और यहां के एक निजी अस्पताल में उसे भर्ती करा दिया। इधर उसका इलाज चल ही रहा था कि 7 सितंबर की सुबह उसकी तबीयत और बिगडऩे लगी और थोड़ी ही देर में उसकी मौत हो गई। महिला की मौत से उसके घर व परिवार के सदस्यों में मातम पसरा है।

Ad Block is Banned