अर्जेंटीना व उरुग्वे में बत्ती गुल, बिजली आपूर्ति बंद होने से अंधेरे में डूबे दोनों देश

अर्जेंटीना व उरुग्वे में बत्ती गुल, बिजली आपूर्ति बंद होने से अंधेरे में डूबे दोनों देश

Anil Kumar | Publish: Jun, 16 2019 08:19:17 PM (IST) | Updated: Jun, 17 2019 07:42:09 AM (IST) अमरीका

  • बिजली आपूर्ती बाधित होने से अर्जेंटीना व उरुग्वे में जन-जीवन प्रभावित।
  • ट्रेन सेवा बाधित होने के साथ ट्रैफिक सिग्नल भी रहे बंद।

ब्यूनस आयर्स। आज की दुनिया में बिजली न हो तो कोई भी काम करना मुश्किल ही नहीं, लगभग नामुमकिन है। दैनिक जीवनचर्या में बिजली के बिना एक दिन भी गुजरना बहुत भारी पड़ जाता है। खास कर तब और भी ज्यादा जब भीषण गर्मी पड़ रही हो।

दरअसल, ऐसा ही कुछ मामला दक्षिण अमरीकी देश अर्जेंटीना ( Argentina ) और उरुग्वे ( Uruguay ) से आया है। दोनों ही देशों में बिजली आपूर्ति बंद ( electricity failure ) होने के कारण पूरा देश अंधेरे में डूब गया और लोग बेहाल हो गए।

अर्जेंटीना की प्रमुख बिजली प्रदाता ने यह जानकारी दी। हालांकि एक रिपोर्ट में बताया गया कि ब्राजील ( Brazil ) और पराग्वे ( Paraguay ) के कुछ ही हिस्सों में बिजली आपूर्ति प्रभावित हुई थी।

अर्जेंटीना मे बिजली आपूर्ति बाधित

ट्रैफिक पुलिस को महिला ड्राइवर लगी खूबसूरत तो काट दिया चालान, बीच रास्ते में रोककर कही ये बात

बिजली कटौती से जन-जीवन ठप

अर्जेंटीना की मीडिया ने एक रिपोर्ट में बताया है कि 7 बजे के करीब बिजली कटौती के कारण पूरा जन-जीवन ठप हो गया। ट्रेनों की रफ्तार थम गई तो सड़क पर ट्रैफिक सिग्नल ही गायब हो गए। इसके कारण लाखों लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

सबसे बड़ी बात कि अर्जेंटीना में यह घटना तब घटी है जब कुछ जगहों पर स्थानीय चुनाव होने वाले हैं।

बिजली आपूर्तिकर्ता कंपनी एडेसुर ने एक ट्वीट में कहा, 'बिजली के बिना अर्जेंटीना और उरुग्वे के सभी बिजली इंटरकनेक्शन सिस्टम में भारी विफलता'।

अर्जेंटीना के ऊर्जा सचिव, गुस्तावो लोपेटेगुई ने कहा कि बिजली की विफलता का कारण अभी तक निर्धारित नहीं किया गया है। वहीं नागरिक सुरक्षा मंत्रालय ने अनुमान लगाया कि लगभग सात या आठ घंटों में सेवा के कुछ हिस्सों को बहाल किया जा सकता है।

अर्जेंटीना: पूर्व राष्ट्रपति क्रिस्टीना फर्नांडीज की बढ़ी मुश्किलें, भ्रष्टाचार के मामले में ट्रायल शुरू

दोनों देशों में 48 मिलियन लोग प्रभावित

बता दें कि अर्जेंटीना और उरुग्वे की जनसंख्या करीब 48 मिलियन है। दोनों देशों की इतनी बड़ी जनसंख्या बिजली आपूर्ति बाधित होने से प्रभावित हुई।

अर्जेंटीना के सांता फे, सैन लुइस, फॉर्मोसा, ला रियोजा, चबुत, कॉर्डोबा और मेंडोजा आदि प्रांत प्रभावित थे। Tierra del Fuego एकमात्र क्षेत्र है जो अप्रभावित रहा।

बिजली आपूर्ति प्रभावित होने के कारण पूरे देश में पीने के पानी की आपूर्ति भी बाधित रही। अर्जेंटीना की सबसे बड़ी पानी कंपनियों में से एक अगुआ वाई सैनमेनींटोस ने अपने पानी के उपयोग को सीमित करने के लिए लोगों को चेतावनी दी, क्योंकि बिजली कटौती से पीने के पानी का वितरण प्रभावित हुआ था।

 

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned