अमरीका: स्पीकर नैंसी पेलोसी का ट्रंप पर हमला, कहा- महाभियोग की सजा नहीं, जेल भेजा जाना चाहिए

अमरीका: स्पीकर नैंसी पेलोसी का ट्रंप पर हमला, कहा- महाभियोग की सजा नहीं, जेल भेजा जाना चाहिए

Mohit Saxena | Publish: Jun, 07 2019 01:58:55 PM (IST) | Updated: Jun, 07 2019 05:23:43 PM (IST) अमरीका

  • नैंसी पेलोसी ने कहा, ट्रंप 2020 में दोबारा राष्ट्रपति चुनाव न लड़ सकें
  • ट्रम्प के महाभियोग पर बंद कमरे में नैंसी पेलोसी की डेमोक्रेट्स नेताओं से हुई बहस
  • अमरीकी डेमोक्रेट्स नेताओं का मानना है कि ट्रंप ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में कानून तोड़ा था

वाशिंगटन। अमरीकी संसद की प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी ने गुरुवार को डेमोक्रेटिक सांसदों से कहा कि वह ट्रंप को जेल भेजना चाहती हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही शुरू करने को लेकर पार्टी के भीतर गरमागरम बहस के बीच पेलोसी ने इस सप्ताह वरिष्ठ डेमोक्रेटिक सांसदों के साथ एक बंद दरवाजे कमरे में बैठक के दौरान यह टिप्पणी की। पेलोसी ने ट्रंप के बारे में कहा कि वह उस पर महाभियोग नहीं चलाना चाहती है, बल्कि उसे जेल में देखना चाहती हैं।

यमन के हौती विद्रोहियों का दावा, सऊदी अरब के 20 सैन्य ठिकानो पर किया कब्जा

nancy

आपराधिक मामला चलाया जाए

गौरतलब है कि मैक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के लिए भी पेलोसी ट्रंप को फंड दिए जाने का लगातार विरोध करती रही हैं। पेलोसी यह भी चाहती हैं कि ट्रंप 2020 में दोबारा राष्ट्रपति चुनाव न सकें। इसके लिए उन पर आपराधिक मामला चलाया जाए।

UAE में टैंकरों पर हुए हमले की रिपोर्ट UNSC में पेश, घटना के लिए जिम्मेदार है कोई 'खास' देश

 

 

 

जैरी नेडलर के साथ बहस

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस बैठक में पेलोसी की ज्यूडिशयरी के चेयरमैन जैरी नेडलर के साथ बहस हो गई। नेडलर चाहते थे कि ट्रंप पर महाभियोग की कार्रवाई शुरू की जाए। वहीं पेलोसी ने कहा कि वह इसके पक्ष नहीं हैं। वह उन्हें जेल में देखना चाहती हैं।

दुबई में बस दुर्घटना, आठ भारतीयों समेत 17 की मौत |

डोनाल्ड ट्रंप ने कानून तोड़ा: डेमोक्रेट्स

इस मामले में कई डेमोक्रेट्स का मनना है कि ट्रंप ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान कानून तोड़ा था। इस चुनाव में कथित रूप से रूस की दखलंदाजी की बात कही गई थी। ट्रंप पर आरोप है कि राष्ट्रपति चुनाव से पहले उन्होंने दो महिलाओं को पैसे दिए थे। इन महिलाओं ने दावा किया था कि ट्रंप के उनके साथ संबंध थे। यह भी कहा गया था कि ट्रंप ने विदेशी सरकारों से फंड लेकर संविधान का उल्लंघन किया।

इसलिए ट्रम्प के खिलाफ नहीं लाया जा सकता महाभियोग

पेलोसी ने तर्क दिया कि है कि अमरीकी राष्ट्रपति पर महाभियोग उसी स्थिति में लाया जा सकता है जब इस मामले में पर्याप्त दलों का समर्थन हो। हाल ही में किए गए एक सर्वे में सामने आया कि ज्यादातर सांसद ट्रंप पर महाभियोग चलाने के पक्ष में नहीं हैं। सिर्फ एक रिपब्लिकन सांसद ने महाभियोग के लिए समर्थन देने की बात कही है।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned