Afghanistan: राष्ट्रपति अशरफ गनी के चचेरे भाई की उनके घर में गोली मारकर हत्या

HIGHLIGHTS

  • अफगानिस्तान ( Afghanistan ) के राष्ट्रपति अशरफ गनी ( President Ashraf Ghani ) के चचेरे भाई की गोली मारकर हत्या ( Shot dead ) कर दी गई।
  • राष्ट्रपति गनी के चचेरे भाई को देश की राजधानी काबुल ( Capital Kabul ) में उनके घर के अंदर घुसकर गोली मारी गई।
  • अफगान सरकार और तालिबान ( Taliban ) के बीच शांति बहाली को लेकर इस महीने बातचीत शुरू होने की उम्मीद है।

By: Anil Kumar

Updated: 04 Jul 2020, 07:06 PM IST

काबुल। अफगानिस्तान ( Afghanistan ) में शांति बहाली को लेकर लगातार कोशिशें जारी है और इसके लिए अफगान सरकार ( Afghan Government ) व तालिबान ( Taliban ) के बीच इस महीने बातचीत शुरू होने वाला है। उससे पहले शनिवार को अफगानिस्तान से एक बड़ी खबर सामने आई है।

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ( Afghanistan President Ashraf Ghani ) के चचेरे भाई की गोली मारकर हत्या कर दी गई। अभी तक जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक, राष्ट्रपति गनी के चचेरे भाई को देश की राजधानी काबुल ( Kabul ) में उनके घर के अंदर घुसकर गोली मारी गई। फिलहाल, किसी भी संगठन ने इस हत्या की जिम्मेदारी नहीं ली है।

Afghanistan: ईद के मौके पर Taliban ने आम जनता को दी राहत, तीन दिनों के संघर्षविराम का ऐलान

इससे पहले बीते महीने और उससे पहले तालिबान में कई ऐसे बड़े हमले हुए हैं। तालिबान और अफगान सरकार के बीच वार्ता को लेकर प्रयास जारी है। इसके बावजूद हमलों का सिलसिला जारी है।

इस महीने सरकार और तालिाबन के बीच शुरू हो सकती है बातचीत

आपको बता दें कि अफगानिस्तान में शांति बहाली के लिए नियुक्त अमरीकी दूत ने शनिवार को इस बात पर जोर दिया कि तालिबान के साथ शांति ( Afghan Peace Talk ) समझौते के आर्थिक फायदे होंगे। अपने इस बयान के जरिये उन्होंने उस समझौते की दिशा में क्रमिक रूप से आगे बढ़ने की कोशिश की, जो अमरीका और क्षेत्रीय स्तर पर नई राजनीतिक अड़चनों का सामना कर रहा है। जलमय खलीलजाद ( Peace messenger Zalmay Khalilzad ) हफ्ते भर लंबी अपनी यह यात्रा संपन्न कर रहे हैं जिनमें उनका पड़ाव उजबेकिस्तान, पाकिस्तान और कतर में था।

अमरीका ( America ) के शांति दूत ने पाकिस्तानी अधिकारियों ( Pakistani Officials ) से इस सप्ताह के शुरूआत में कहा था कि तालिबान और काबुल के राजनीतिक नेता युद्ध के बाद अफगानिस्तान की स्थिति पर फैसला करने के लिए बातचीत शुरू करने के बहुत करीब हैं।

अफगानिस्तान: अमरीका-तालिबान समझौता रहा बेअसर, गनी के शपथ समारोह के पास कई धमाके

उन्होंने कहा था कि फरवरी में अमरीका के साथ हुए समझौते के तहत यह दूसरा अहम कदम है। पाकिस्तान स्थित अमरीकी दूतावास ( American Embassy ) ने बीते गुरुवार को एक बयान जारी करके यह जानकारी दी थी। बताया था कि शांति दूत जलमय खलीलजाद अंतर अफगान वार्ता के लिए रास्ता प्रशस्त करने के वास्ते क्षेत्र में हैं। यह वार्ता इस महीने शुरू होने की उम्मीद है लेकिन तारीख तय नहीं की गई है।

इधर अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने बुधवार देर शाम कहा था कि पहले दौर की बातचीत कतर ( Qtar ) की राजधानी दोहा ( Doha ) में होगी जहां तालिबान का राजनीतिक दफ्तर है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned