LORD SHIV in Vaisakha Mass: आने वाले लगातार 03 दिन भगवान शिव की पूजा के लिए अति विशेष

Shiv puja : शनिवार, 8 मई 2021 से हो रहे शुरु...

वैशाख माह में इस बार शनिवार से लगातार 03 विशेष दिन भगवान शिव की पूजा के लिए पड़ रहे हैं। दरअसल एक ओर जहां वैशाख को भगवान विष्णु के प्रिय मास के तौर पर जाना जाता है, वहीं इसे lord Shiv की पूजा के लिए भी विशेष माना गया है, क्योंकि इस माह में पड़ने वाले सोमवार को श्रावण व कार्तिक के समान माना गया है।

ऐसे में कल यानि Saturday 8 मई 2021 से लगातार 3 दिनों तक भगवान शिव की पूजा के विशेष दिनों का योग बन रहा है। दरअसल एक ओर जहां 8 मई को शनि प्रदोष पड़ रहा है।

वहीं रविवार,9 मई को मासिक शिवरात्रि आ रही है। जबकि इसके ठीक अगले दिन यानि 10 मई को भगवान शिव का वार सोमवार है और वैशाख मास के सोमवार श्रावण व कार्तिक की तरह ही खास माने जाते हैं।

MUST READ- शनि प्रदोष व्रत 08 मई 2021 : जानें वैशाख माह में क्यों है खास, जानें पूजा विधि, महत्व व नियम

https://www.patrika.com/religion-news/shani-pradosh-vrat-in-vaisakha-2021-its-importance-and-puja-vidhi-6833088/

: 08 मई को शनि प्रदोष...
हिन्दू तिथियों में प्रदोष व्रत 13वें दिन यानी त्रयोदशी को किया जाता है। वहीं प्रदोष व्रत, कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष दोनों में रखा जाता है। यानि त्रयोदशी माह में दो बार आती है। ऐसे में इस बार 08 मई 2021(शनिवार) को Shani Pradosh व्रत (कृष्ण) के दिन कृष्ण प्रदोष व्रत रखा जाएगा।

ऐसा माना जाता है कि इस व्रत के करने से Lord shiv का आशीर्वाद मिलता है। प्रदोष व्रत हर महीने दो बार (कृष्ण और शुक्ल पक्ष में) त्रयोदशी तिथि के दिन रखा जाता है।

शनि प्रदोष को लेकर माना जाता है कि कोई खोई वस्तु की प्राप्ति, नौकरी में पदोन्नति,पुत्र प्राप्ति एंव शनि के अशुभ प्रभावों को कम करने के लिए यह व्रत किया जाता है। इसी के साथ इस व्रत को शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से मुक्ति पाने के लिए भी किया जाता है। माना जाता है कि इस दिन व्रत करने से Bhagwan shiv और मां पार्वती के साथ ही शनिदेव भी भक्तों पर विशेष कृपा बरसाते हैं।

शुभ समय....
वैशाख त्रयोदशी तिथि शुरु- 08 मई 2021 को 17:20 बजे से
वैशाख त्रयोदशी तिथि समाप्त- 09 मई 2021 को 19:30 बजे तक

पूजा का समय- 07:00 PM से 09:07 PM तक 08 मई को
कुल अवधि- 02 घंटे व 07 मिनट।

Read more: Masik Shivratri- इस दिन ऐसे पूजा करने से पूरी होती हैं सभी मनोमनाएं

masik-shivratri

: 09 मई को मासिक शिवरात्रि...
हिंदू कलैंडर में हर कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि का व्रत आता है। यह हिंदुओं का एक प्रमुख पर्व है। ऐसे में इस बार यह पर्व रविवार, 09 मई 2021 को पड़ रहा है। इस दिन Lord Shivaऔर माता पार्वती की पूजा की जाती है। वहीं इस बार दो शुभ योगों ने इस पूजा को विशेष बना दिया है।

दरअसल इस बार Masik Shivratri पर 09 मई 2021 को ज्योतिष के अनुसार अति शुभ प्रीति व आयुष्मान योग बन रहे हैं। माना जाता है कि इस योग में किया गया कोई भी कार्य असफल नहीं होता है। ऐसे में इस बार रविवार को 08:43 PM तक प्रीति योग रहेगा, जबकि इसके ठीक बाद से आयुष्मान योग आरंभ हो जाएगा।

मासिक शिवरात्रि शुभ मुहूर्त-
वैशाख कृष्ण चतुर्दशी आरंभ- रविवार को 09 मई दिन 07:30 PM से
वैशाख कृष्ण चतुर्दशी समाप्त- सोमवार को 10 मई दिन 09:55 PM तक

मासिक शिवरात्रि के दिन भगवान शिव को बेलपत्र, दूध और जल अर्पित करना अतिशुभ माना गया है। मान्यता के अनुसार इस दिन भगवान शिव प्रसन्न होकर भक्त की सभी मनोकामनाओं को पूरा करते हैं। वहीं Mata Parvati भी भक्तों को शक्ति का वरदान देती हैं।

MUST READ : शिवपूजन के लिए अत्यंत खास है वैशाख माह, जानें सोमवार को क्या करें...

https://www.patrika.com/religion-news/vaisakha-month-2021-first-monday-on-03-may-puja-vidhi-6824215/

10 मई को सोमवार...
हिंदू-कैलेंडर का दूसरा माह वैशाख/बैसाख भगवान शिव की पूजा के लिए भी विशेष माना गया है। ऐसे में वैशाख माह में आने वाले Monday को अत्यंत महत्वपूर्ण माना जाता है। इन सोमवार का महत्व श्रावण और कार्तिक के सोमवार के समान माना गया है।

माना जाता है कि इस दिन भगवान शिव बहुत जल्द से प्रसन्न होकर अपने भक्तों को मनचाहा वरदान देते हैं।शिव पूजा के साथ ही वैशाख मास में प्याऊ की स्थापना के अलावा भगवान शिव के ऊपर जलधारा की स्थापना करके भी उन्हें प्रसन्न किया जा सकता है।

वहीं इस माह के सोमवार को लेकर ये मान्यता भी है कि सावन के सोमवार की तरह ही इस माह के 4 सोमवार में भी कन्याओं द्वारा शिव व्रत करने से मनचाहे वर की प्राप्ति होती है।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned