scriptMahindra Group history, interesting things you probably do not know | स्टील ट्रेडिंग से लेकर गाड़ियां बनाने तक का सफर! जानिए Muhammad से Mahindra बनने की दिलचस्प कहानी | Patrika News

स्टील ट्रेडिंग से लेकर गाड़ियां बनाने तक का सफर! जानिए Muhammad से Mahindra बनने की दिलचस्प कहानी

Mahindra Group History: आज महिंद्रा ग्रुप भारत की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनियों में से एक है। लेकिन इस कंपनी के बारे में कई दिलचस्प बातें हैं, जो बहुत से लोग नहीं जानते हैं।

नई दिल्ली

Published: January 11, 2022 03:09:46 pm

महिंद्रा ग्रुप (Mahindra Group) का नाम आज के समय में भारत में सभी लीग जानते हैं। महिंद्रा ग्रुप आज देश की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी है। लेकिन महिंद्रा ग्रुप से जुडी बहुत सी ऐसी बातें भी हैं, जो बहुत से लोग नहीं जानते। कंपनी के इतिहास और महिंद्रा ग्रुप के इस मुकाम तक पहुंचने के दौरान की कई दिलचस्प बातें हैं, जिनसे कई लोग अनजान हैं।

mahindra_group_history.jpg
Mahindra Group History


आइए एक नज़र डालते है महिंद्रा ग्रुप के इतिहास पर।

मुहम्मद एंड महिंद्रा हुआ करता था नाम

1945 में महिंद्रा ग्रुप की शुरुआत हुई थी तब इसे मुहम्मद एंड महिंद्रा कहा जाता था। जे.सी. महिंद्रा, के.सी. महिंद्रा और मलिक गुलाम मुहम्मद ने पंजाब के लुधियाना में स्टील ट्रेडिंग के लिए इस कंपनी की शुरुआत की थी।

विभाजन की कहानी

1947 में भारत को आज़ादी मिलने के बाद इसका विभाजन हो गया। तब मलिक गुलाम मुहम्मद ने कंपनी और भारत छोड़कर पाकिस्तान जाने का रास्ता चुना।

यह भी पढ़ें - टाइगर ने दिखाई ताकत! दांतों से पकड़कर पीछे खींच दी Xylo एसयूवी, वीडियो शेयर करते हुए आनंद महिंद्रा ने कहा 'स्वादिष्ट होती हैं Mahindra की गाड़ियां'

मुहम्मद एंड महिंद्रा से महिंद्रा एंड महिंद्रा बनने का सफर

गुलाम मलिक मुहम्मद के भारत छोड़ने के बाद 1948 में कंपनी का नाम मुहम्मद एंड महिंद्रा से बदलकर महिंद्रा एंड महिंद्रा रखा गया। इसके बाद 1949 में कंपनी ने स्टील ट्रेडिंग का काम छोड़कर Willy जीप के प्रोडक्शन का काम शुरू किया।

mahindra_logo.jpg


पब्लिक हुई कंपनी

15 जून 1955 को महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयर्स की बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टिंग हुई इसी के साथ यह कंपनी एक पब्लिक बन गई।

महिंद्रा ट्रैक्टर डिवीज़न की शुरुआत

1961 में भारतीय कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा ने ट्रैक्टर बनाने के लिए अमरीका में कृषि मशीनरी, निर्माण उपकरण, ट्रक आदि की निर्माता कंपनी के पार्टनरशिप शुरू की। इसी के साथ महिंद्रा ट्रैक्टर डिवीज़न की शुरुआत हुई।

देश के ट्रैक्टर मार्केट में बादशाहत

1983 तक कंपनी भारत में ट्रैक्टर मार्केट में सबसे बड़ी कंपनी बन गई। आज भी महिंद्रा की भारतीय ट्रैक्टर मार्केट में बादशाहत कायम है।

नई सदी, नई शुरुआत

साल 2000 में कंपनी ने नए लोगो की शुरुआत की। साथ ही कंपनी ने गाड़ियां बनाना भी शुरू कर दिया। आज महिंद्रा देश में सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनियों में से एक है।

यह भी पढ़ें - न हाथ, न पैर, फिर भी नहीं मानी हार! इस शख्स के जज़्बे को आनंद महिंद्रा ने भी किया सलाम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Corona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup 2022: ICC ने जारी किया शेड्यूल, इस दिन होगी भारत-पाकिस्तान की टक्करआज जारी होगा कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं के लिए होंगे कई वादे'कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते', अमर जवान ज्योति के वॉर मेमोरियल में विलय पर राहुल गांधीVIDEO: राजस्थान का 35 प्रतिशत हिस्सा कोहरे से ढका, अब रहेगा बारिश और ओलावृष्टि का जोर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.