Video: इमाम ने जय श्री राम कहने के लिए पीटने का किया था दावा, पुलिस की जांच में यह चौंकाने वाला सच आया सामने

  • Bagpat के दोघट थाने में एक इमाम ने दर्ज कराया था मुकदमा
  • युवकों पर दाढ़ी नोचने का भी लगाया था आरोप
  • Bagpat एसपी बोले, बुढ़ाना थाने में केवल मारपीट की बात कही थी

बागपत। जनपद के दोघट थाने में एक इमाम ने मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें उन्‍होंने आरोप लगाया था कि कुछ युवकों ने उनके साथ मारपीट के साथ ही अभद्र व्यवहार किया। उनसे जय श्री राम कहलवाने का दबाव बनाया गया और टोपी सिर से उतारकर नीचे फेंक दी गई। उनकी दाढ़ी भी नोची गई। पुलिस की जांच में प्रथम दृश्‍टया मामला मारपीट का निकला है। पुलिस अधिकारी इसमें किसी भी धार्मिक एंगल को नकार रहे हैं।

यह है मामला

आपको बता दें क‍ि जौला, थाना बुढ़ाना, मुजफ्फरनगर निवासी इमलाकुर्ररहमान पुत्र यामीन शनिवार की शाम को मेरठ के सरधना की एक मस्जिद से वापस घर लौट रहे थे। आरोप है क‍ि बागपत के दोघट थाना क्षेत्र के सरौरा गांव के निकट 10-12 युवकों ने उनके साथ मारपीट की। इमाम ने आरोप लगाया था कि उनके साथ अभद्र व्यवहार भी किया गया। उन पर जबरन जय श्री राम कहलवाने का दबाव बनाया गया। साथ ही उनकी दाढ़ी भी नोच ली गई। इमाम की तहरीर पर दोघट थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया था।

यह भी पढ़ें: मस्जिद के इमाम की कथित तौर पर युवकों ने दाढ़ी नोंची, 'जय श्री राम' कहने को किया मजबूर

आरोपियों से पूछताछ में यह आया सामने

सोमवार को पुलिस ने नगवा गांव में दबिश देकर उत्तम, पंकज और आजाद को हिरासत में ले लिया है। सीओ रमाला अनुज चौधरी ने पूछताछ की तो मामला कुछ और निकला। सीओ रमाला के अनुसार, पकड़े गए युवकों ने बताया कि वे सरौरा के निकट ट्रैक पर दौड़ लगाकर घर जाने के लिए सड़क पार कर रहे थे। इस दौरान इमाम की बाइक उनसे टकरा गई। इस पर उन्होंने इमाम को देखकर बाइक चलाने को कहा। बात बढ़ने पर उन्‍होंने इमाम की गर्दन पर एक हल्का-सा हाथ मार दिया था। इमाम ने कपड़े से अपना मुंह भी ढक रखा था। उन्‍हें यह भी नहीं पता था कि वह किस जाति या धर्म का है। आरोपियों की पहचान कराने के लिए इमाम को बुलाया जा रहा है लेकिन वह थाने नहीं पहुंच रहे।

यह भी पढ़ें: VIDEO: इमाम के साथ बदसलूकी और जय श्रीराम मामले ने पकड़ा तूल, महापंचायत मे लिया बड़ा फैसला

एसपी ने कहा- कोई धार्मिक मामला नहीं

इस बारे में एसपी बागपत शैलेश कुमार पांण्‍डेय का कहना है क‍ि इस मामले में जांच में पता चला है कि इमाम दोघट से पहले बुढ़ाना थाने में शिकायत करने गए थे। वहां उन्‍होंने ऐसी कोई बात नहीं की। उन्‍होंने बुढ़ाना थाने में केवल मरपीट की बात कही थी। फिर भी मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है। प्रथम दृश्‍टया इस मामले में कोई भी ध‍ार्मिक एंगल नहीं है। यह केवल मारपीट का मामला है। आरोपियों की पहचान कर ली गई है।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर

sharad asthana
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned