खुशखबरी: UP के इस शहर में भी हो सकेगी Covid-19 की जांच, सरकार ने दी टेस्टिंग मशीन

Highlights:

-ICMR ने टीबी की जांच में इस्तेमाल होने वाली मशीन को कोविड-19 के लिए मंजूरी दी है

-प्रदेश के सभी जिलों के लैब कर्मचारियों का प्रशिक्षण भी कराया गया है

-बागपत जिले को भी यह मशीन आवंटित की गई है

By: Rahul Chauhan

Updated: 05 Jun 2020, 10:43 AM IST

बागपत। कोरोना संक्रमण बीमारी की रोकथाम के लिए जिले में ही कुछ उपायों पर विचार किया जा रहा है। सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो जल्द ही बागपत जनपद के अंदर कोविड-19 की जिले में ही जांच ही सकेगी। जिसके लिए जिले में ही टू नेट मशीन मंगाने की तैयारी चल रही है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद आईसीएमआर ने इस मशीन को पहले ही मंजूरी दे रखी है। कर्मचारियों की ट्रेनिंग के बाद शुक्रवार से यह मशीन जांच के लिए उपलब्ध हो सकेगी।

यह भी पढ़ें : Corona से मरने वाले रिटायर्ड बैंककर्मी के घर चोरी, क्वारंटीन सेंटर में है परिवार, नहीं दर्ज हो सकी FIR

सीएमओ डॉक्टर आरके टंडन ने जानकारी देते हुए बताया कि आईसीएमआर ने टीबी की जांच में इस्तेमाल होने वाली मशीन को कोविड-19 के लिए मंजूरी दी है। इसके लिए प्रदेश के सभी जिलों के लैब कर्मचारियों का प्रशिक्षण भी कराया गया है। जिले को भी यह मशीन आवंटित की गई है। यह मशीन बहुउद्देशीय है। कोरोना संक्रमण रहने तक इसका इस्तेमाल कोविड-19 के लिये होगा और इसके बाद इसका प्रयोग टीबी की जांच में किया जा सकेगा। माना जा रहा है कि शुक्रवार तक यह मशीन जिले को मिल जाएगी जिसके बाद यहां पर कोविड-19 की रोजाना 20 से अधिक जांचे हो सकेंगी।

यह भी पढ़ें: नोएडा प्राधिकरण का कर्मचारी कोरोना पॉज़िटिव, तीन कार्यालय किए गए सील, स्टाफ में दहशत का माहौल

बागपत जनपद के अंदर इस मशीन के आ जाने से कोविड-19 की जांच दूसरे जिले नहीं भेजने पड़ेंगी और रिपोर्ट आने में जो समय लगता था उसकी भी बचत होगी, मशीन से जिले में रोजाना 20 सैंपल की जांच हो सकेगी, इमरजेंसी में भी मशीन बहुत उपयोगी साबित हो सकती है। जानकारी के लिए बता दें कि बागपत जनपद के अंदर रैपिड किट पहले ही रिजेक्ट कर दी गई थी जिसमें केवल 40 जांचें ही हो पाई थी लेकिन रैपिड कीटों में खामियां मिलने के बाद आईसीएमआर नी इन्हें रिजेक्ट कर दिया था।

coronavirus
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned