script पश्चिमी विक्षोभ एक्टिव होने से मूसलाधार बारिश, जानें मौसम विभाग की लेटेस्ट भविष्यवाणी | Heavy Rain Due To Active Western Disturbance IMD Latest Prediction Weather Forecast | Patrika News

पश्चिमी विक्षोभ एक्टिव होने से मूसलाधार बारिश, जानें मौसम विभाग की लेटेस्ट भविष्यवाणी

locationबारांPublished: Feb 05, 2024 03:37:01 pm

Submitted by:

santosh Trivedi

Weather News Today: एक के बाद एक लगातार दो पश्चिमी विक्षोभ एक्टिव होने के कारण राजस्थान में बारिश का मौसम बना है।

weather_forecast_nex_48_hours.jpg

Weather News Today: राजस्थान के बारां जिले में पिछले डेढ़ महीने से जिले समेत समूचे हाड़ौती में अच्छी सर्दी पड़ रही है। तीन-चार दिन तापमान बढ़ने से सर्दी से राहत जरूर मिली थी। दो दिन से मौसम ने फिर पलटा खाया और सर्दी का असर बढ़ गया। उत्तर में हुई बर्फबारी से आई ठंडी हवाओं ने एक बार फिर सर्दी का अहसास कराया। रविवार को सुबह से ही जिले में बादल छाए रहे। बारां शहर सहित कई जगहों पर बूंदाबांदी हुई है। इस बीच बारां शहर में शाम को धूप-छांव का खेल चलता रहा। इसी दौरान बूंदाबांदी भी हुई। मांगरोल, भंवरगढ़ और समरानियां में देर शाम झमाझम बारिश हुई। न्यूनतम तापमान 23 डिग्री और अधिकतम 15 डिग्री रहा। मौसम विभाग का कहना है कि बारिश के चलते कोहरे की स्थिति बनी हुई है। सर्दी का प्रभाव फरवरी तक बना रहेगा। विभाग ने बारिश और ओलावृष्टि की भी आशंका जताई है।

फिर सर्दी का असर बढ़ जाएगा


एक के बाद एक लगातार दो पश्चिमी विक्षोभ एक्टिव होने के कारण बारिश का मौसम बना है। पहला पश्चिमी विक्षोभ 30 जनवरी की शाम को सक्रिय होकर शांत हो चुका है, लेकिन शनिवार की रात एक्टिव हुए पश्चिमी विक्षोभ के कारण रविवार को बारिश हुई। मौसम विभाग ने जिन जिलों में बारिश होने की संभावना जताई है। उनमें हाड़ोती के भी जिले शामिल हैं। मौसम विभाग का कहना है कि सर्दी का असर कम हो रहा है। इसकी वजह से सूरज का पृथ्वी की सीध में आना है। अब भारतीय भूभाग पर सूरज की सीधी किरणें पड़ रही हैं। इसके बावजूद दो पश्चिमी विक्षोभ और एक चक्रवाती हवा दबाव का तंत्र सक्रिय हो गया है। अगले 48 घंटे के दौरान मौसम में तेजी से बदलाव होगा। इससे एक बार फिर सर्दी का असर बढ़ जाएगा।

सूर्यदेव के दर्शन नहीं हुए, तेज हवाएं चली


बारां जिले के मांगरोल में रविवार सुबह से ही बादल छाए रहे व सूर्यदेव के दर्शन नहीं हुए मौसम बदला तो दोपहर बाद तेज हवाएं चली। मामूली बूंदाबांदी हुई शाम को मूसलाधार बारिश शुरू हुई, 15 मिनट तक मूसलाधार बारिश का दौर चला। इससे फिर ठंडक महसूस की गई । भंवरगढ़ में रविवार को दिन भर आसमान में बादलों की आवाजाही जारी रही। बीच-बीच में हो रही बूंदाबांदी ने लोगों की पीड़ा को दुगना कर दिया। तेज सर्द हवाओं के कारण बार-बार पलट रहे मौसम के चलते मौसमी बीमारियां भी बढ़ने लगी हैं।

यह भी पढ़ें : आज राजस्थान के इन 9 जिलों में मेघगर्जन के साथ होगी बारिश! टूट सकता है 10 साल का ये रेकॉर्ड

बमोरीकलां में मौसम बदलने से रविवार सुबह से ही बूंदाबांदी का दौर चला। सुबह चार बजे से ही बूंदाबांदी हुई। दिनभर धूप की आंख मिचौली चल रही थी। इस मौसम से किसान चिंतित दिखे। गऊघाट क्षेत्र में लगातार हो रहे मौसम परिवर्तन के चलते रविवार को दिनभर बादल छाए रहे। कई जगहों पर हल्की बारिश होने से धूप नहीं निकली। सर्दी का असर बढ़ गया। गऊघाट, सकतपुर, खरखड़ा, चांदखेड़ी, बड़ौरा, बिछलास, रीछंदा में सुबह 4 बजे हल्की बारिश हुई समरानियां कस्बे सहित आसपास बूंदाबांदी से मौसम बदल गया। सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे दोपहर लगभग 2 बजे के आसपास कस्बे में हल्की बारिश हुई।

इसलिए अब तक पड़ रही सर्दी


लोगों को लगा था कि अब सर्दी से राहत मिलेगी, मगर दो नए पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से बादलों की आवाजाही शुरू हुई और बारिश हुई। पूर्वी दिशा से हल्की हवाएं भी चल रही है। बारिश की वजह से हवाओं की नमी और पूर्व दिशा से आ रही शुष्क हवा के टकराव से कोहरे की स्थिति बनी हुई है। यही वजह है कि इस बार सर्दी का असर फरवरी तक बना हुआ है।

ट्रेंडिंग वीडियो