नारी चाहे तो महाभारत या भारत महान

Suresh Jain

Publish: Sep, 17 2017 10:24:20 (IST)

Bhilwara, Rajasthan, India
नारी चाहे तो महाभारत या भारत महान

आरके कॉलोनी मंदिर का वार्षिक कलशाभिषेक

भीलवाड़ा।

नारी ने वेशभूषा खो दी है जबकि नारी नर की खान है। नारी चाहे तो महाभारत करा दे या महान भारत बना देती है। नारी एक नहीं, दो घरों का नाम रोशन करती है। यह बात जैन साध्वी सृष्टि भूषण माता ने रविवार को आरके कॉलोनी के आदिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर के वार्षिक कलशाभिषेक समारोह में कही।

 

READ: टेक्नॉलोजी ने बदला व्यापार का तरीका, जॉब बन जाएंगे इतिहास  

 

आचार्य विद्यासागर वाटिका में कार्यक्रम में उन्होंने महिलाओं से आव्हान किया है कि देश व जैन संस्कृति बिल्कुल नहीं छोड़े। बच्चे धार्मिक कार्यक्रमों से पीछे हटते जा रहे है। वह हर समय टीवी पर ही चिपके रहते हैं। आज हम जैन कुल में जन्म ले लिया, लेकिन कुलाचार्य को छोड़ दिया है। घरों के बाहर जय जिनेन्द्र नहीं, वेलकम लिखा जाता है। हैलो बोलते है जय जिनेन्द्र नहीं। पैर छूने की परम्परा थी, वह अब छूत की बीमारी हो गई है। इस परम्परा को फिर कायम करना होगा।

 

 READ: #sehatsudharosarkar घर में थाली बजानी है तो सुविधा शुल्क देना होगा  

 

इनका सम्मान
आदिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष नरेश गोधा ने बताया कि समारोह के दौरान शिक्षा क्षेत्र में होनहार तनवी जैन, सम्यक जैन, दृष्टी जैन, तनिषा जैन, दिव्यम कासलीवाल, प्रांशुल जैन, तरुषी जैन, अर्पित जैन, दीपक जैन, विशाल अजमेरा, सम्यक अजमेरा, रिहल सेठी, निकिता पंचोली, राहुल कोठारी आदिश विनायका तथा आशिका पाटनी को सम्मानित किया। पर्युषण के दौरान उपवास रखने वाले ललित बिलाला, प्रभाचन्द बाकलीवाल, सनत कुमाार कोठारी, कांता पाटनी, रोहित गोधा, तुलिका चौधरी, अनिता शाह, प्रेम पहाडिया, वरखा बाकलीवाल, प्रियल सेठी, अनिश बाकलीवाल, न्यायाधीश मीनाक्षी जैन तथा सहायक अभियन्ता सुनील जैन का भी सम्मान किया। गोधा ने वार्षिक प्रतिवेदन पेश किया। मंदिर में एक करोड़ के निर्माण की जानकारी दी। यह कार्य अगले दो साल में पूरा होगा। भक्ति नृत्य भी किया गया।

 

श्रीजी की शोभायात्रा
इससे पहले मंदिर से स्वर्ण जडि़त रथ से श्रीजी की शोभायात्रा निकाली। सुबह आठ बजे विभिन्न मार्गो से होते वाटिका पहुंची। रास्ते में जगह-जगह श्रीजी की आरती की गई तथा श्रीफल चढ़ाए गए। महिलाएं नाचते गाते चल रही थी। बैंड के साथ निकाली यात्रा का हर जगह स्वागत किया। जैन साध्वी के निर्देशन में स्वर्ण कलश से ओमचन्द, रिखब चन्द अजय बाकलीवाल, रजत कलश से विनोद, शीतल कपिल हुमड़ तथा मनोरमा आयुष ने अभिषेक व शान्तिधारा की। संचालन महेन्द्र कुमार सेठी ने किया। राजेन्द्र सेठी ने श्रीजी को अपने सीर पर धारण कर पुन: मंदिर में वेदी में विराजमान किया।

 

भूपालगंज मंदिर में कलशाभिषेक
दिगम्बर जैन पंचायत महावीर मंदिर ट्रस्ट में रविवार को कलशाभिषेक हुआ। ट्रस्ट अध्यक्ष जयकुमार टोग्या ने बताया, पण्डित पदम काला के निर्देशन में पूजा हुई। पुष्पा काला, लाडली गोधा, नाता टोग्या, सुनिता कासलीवाल ने भक्ति नृत्य पेश किया। डूंगरमल गोधा, ज्ञानचन्द जैन, भंवरलाल कासलीवाल, यशवन्त काला, सुरेश अजमेरा, ताराचन्द अजमेरा, प्रकाश पाटनी आदि उपस्थित थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned