देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे, सिर्फ 12 घंटे में पहुंचेंगे दिल्ली से मुंबई, जानिये खूबियां

जानिये भारत के सबसे बड़े एक्सप्रेस-वे के बारे में कुछ खास बातें...।

By: Faiz

Updated: 23 Sep 2021, 05:18 PM IST

भोपाल. दिल्ली से मुंबई को जोड़ने वाले देश के सबसे बड़े 8 लेन एक्सप्रेस-वे की सौगात जल्द ही देशवासियों को मिलने वाली है। मौजूदा समय में 24 घंटे में तय होने वाले दिल्ली से मुंबई तक के सफर को जल्द ही मात्र 12 घंटे में पूरा किया जा सकेगा। वहीं, मध्य प्रदेश के 300 से अधिक किलोमीटर वाले मार्ग को भी मुश्किल से 2 घंटों के भीतर तय किया जा सकेगा। इस एक्सप्रेस-वे के तैयार होने के बाद इसे भारत के सबसे बड़े एक्सप्रेस-वे होने का खिताब भी मिल जाएगा। बीते 16 सितंबर को ही केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने खुद कार में सवार होकर मध्य प्रदेश के जावरा में इस एक्सप्रेस-वे का परीक्षण किया था। इस दौरान उन्होंने 150 कि.मी की रफ्तार में कार को दौड़ाया था।


साल 2018 से शुरु हुए इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण 6 राज्यों के बीच किया जा रहा है। जल्द से जल्द पूरा करने के इसे लिये 4 सेक्शन्स में बांटकर काम किया जा रहा है। कुल 1380 किलोमीटर के इस एक्सप्रेस-वे को तय अवधि यानी जनवरी 2023 तक तैयार करने के लिये 'एक्सप्रेस-वे' में ही काम किया जा रहा है। हालांकि, अब तक संपन्न हुए काम को देखते हुए जानकार कहते हैं कि, मार्च 2023 तक इस एक्सप्रेस-वे पर आमजन अपने वाहन दौड़ा सकेंगे।

 

पढ़ें ये खास खबर- पूर्व CM दिग्विजय सिंह बोले- मुसलमानों की बढ़ती जनसंख्या देश के लिये खतरा नहीं


दिल्ली से मुंबई 1380 कि.मी होगा एक्सप्रेस-वे

photo_2021-09-23_17-00-16.jpg

मध्य प्रदेश के साथ-साथ अन्य पांच राज्यों से गुजरने वाले इस 8 लेन एक्सप्रेेस वे की लंबाई दिल्ली से मुंबई तक 1380 किलोमीटर की रहेगी, जिसकी कुल लागत 98 हजार करोड़ रुपये प्रस्तावित की गई है। वहीं, मध्य प्रदेश में ये एक्सप्रेस-वे 370 कि.मी का होगा, जो प्रदेश के बड़े शहरों में रतलाम, मंदसौर और झाबुआ से होता हुआ गुजरेगा। प्रदेश में इस एक्सप्रेस-वे पर 11,110 करोड़ रुपये खर्च होंगे।


परिवहन मंत्री ने खुद की 150 की स्पीड में टेस्टिंग

photo_2021-09-23_17-00-17.jpg

पिछलें दिनों केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में इस 8 लेन एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण भी किया था। मंत्री गडकरी ने पहले तो मार्ग का हवाई निरीक्षण किया। इसके बाद उन्होंने खुद कार में सवार होकर इस एक्सप्रेस-वे का परीक्षण भी किया। इस दौरान उनकी कार से 150 से अधिक स्पीड में सड़क पर टेस्ट ड्राइव ली गई। टेस्ट ड्राइव के बाद खुद नितिन गडकरी ने भी इस बात को स्वीकार किया, कि ये एक्सप्रेस-वे उनकी उम्मीद से बेहतर ढंग से बनाया गया है।


8 के बाद 12 लेन पर शुरु होगा काम

News

आपको बता दें कि, इस 8 लेन एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्ट की शुरुआत साल 2018 में की गई थी और इसकी डेड लाइन जनवरी 2023 निर्धारित की गई है। कयास लगाए जा रहे हैं, कि साल 2023 के मार्च महीने तक भारत का ये सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे आमजन के लिये शुरु हो जाएगा। इस एक्सप्रेस-वे का रतलाम में ही मंत्री नितिन गडकरी ने सभा को संबोधित करते हुए ये भी कहा था कि, इस एक्सप्रेेस-वे में 8 लेन का पूरी तरह से निर्माण होते ही, इसे 12 लेन एक्सप्रेस-वे करने का काम भी शुरु कर दिया जाएगा।

 

 

पढ़ें ये खास खबर- गढ़ में सिंधिया का शक्ति प्रदर्शन, मेगा रोड शो में 200 जगह हुआ स्वागत


केंद्रीय परिवहन मंत्री ने 150 की स्पीड में किया था परीक्षण, देखें वीडियो

...वरना होता विश्व का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे

जिस समय केंद्र सरकार ने इस एक्सेप्रेस-वे की शुरुआत की थी, तब सरकार का दावा था कि, बनने वाला एक्सप्रेस-वे दुनियाभर में सबसे बड़ा होगा। लेकिन, इसी बीच चीन में इससे भी बड़ा एक एक्सप्रेस-वे बनकर तैयार हो गया है, जिसकी शुरुआत इसी साल जून में हो भी चुकी है। बता दें कि, चीन में बना एक्सप्रेस-वे 2800 कि.मी लंबा है, जो बीजिंग से उरमची के बीच बनाया गया है। चीन में ये एक्सप्रेस-वे बनने के बाद भारत में बनने वाला दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे विश्व क दूसरा और देश का पहला सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे कहा जाएगा।

 

 

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned