राजधानी में सामान्य से ज्यादा बरस गया पानी, एक रात में ही 4.65 इंच हुई बारिश

सामान्य से अधिक बारिश ( Mansoon weather news ) ...

भाेपाल। देरी से आए मौसम ( Mansoon weather news ) के बाद वर्षा की कमी से जुझ रहे भोपाल के लिए राहत की खबर है, कि अब तक सामान्य से अधिक बारिश ( rainfall More than usual in capital ) जिले में हो चुकी है। जिसके चलते बड़े तालाब का लेवल 0.40 फीट और बढ़ गया है।

जानिये कब हुई ये बारिश...
दरअसल शुक्रवार रात से शनिवार सुबह के बीच हुई बारिश ने सामान्य से कम हुई बारिश के आंकड़े के अंतर को न केवल पाट दिया, बल्कि ये बारिश ( Mansoon weather news ) राजधानी को सामान्य बारिश के आंकड़े ( weather news ) से कहीं उपर ले गई। जिसके चलते राजधानी के मौसम में हल्की ठंड का तक अहसास समा गया है।

बड़े तालाब की स्थिति...
जहां अब तक कम पानी के होने की लगातार शिकायत आ रही थी, वहीं शुकवार रात की बारिश ( Mansoon weather news ) के बाद बड़े तालाब का लेवल शनिवार सुबह 0.40 फीट बढ़कर 1650.50 फीट हो गया। जो पिछले साल गर्मी ( weather news ) के अंत में रहे 1650.65 से केवल 0.15 फीट कम है।


वहीं इस बारिश ( Mansoon weather news ) के चलते कोलार डैम का वाटर लेवल भी 0.92 मीटर बढ़ा गया। इससे पहले 1 जुलाई को यहां 439.08 मीटर वाटर लेवल था। जो 6 जुलाई को रात तकरीबन 8 बजे 440 मीटर पहुंच गया।

 

MUST READ : 27 जिलों में अतिभारी वर्षा की चेतावनी

https://www.patrika.com/vidisha-news/2019-monsoon-red-alert-for-heavy-to-heavy-rainfall-in-madhya-pradesh-4801776/

सामान्य से 51% ज्यादा बारिश ( Rainfall More than usual in capital ) ...
मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बारिश के जो आंकड़े सामने आ रहे हैं उनके अनुसार बारिश का आंकड़ा इस बार सामान्य से 51% ज्यादा ( Rainfall More than usual in capital ) हो गया।

माैसम विशेषज्ञों के अनुसार शुक्रवार शाम तक यहां सीजन में सामान्य से 11% कम बारिश हुई थी, लेकिन रात 8:30 से शनिवार सुबह 8:30 बजे तक 4.65 इंच यानि 11.82 सेमी बारिश हुई। जिसके चलते बारिश की कमी से जुझ रहे जिले में वर्षा का आंकड़ा सामान्य से 51% उपर ( Rainfall More than usual in capital ) चला गया।

राजधानी में शुक्रवार रात से बरसे पानी ने बारिश के आंकड़े ही बदल डाले। माैसम विशेषज्ञों के अनुसार शुक्रवार शाम तक यहां सीजन में सामान्य से 11% कम बारिश हुई थी, लेकिन रात 8:30 से शनिवार सुबह 8:30 बजे तक 4.65 इंच बारिश हुई।

इधर,जमीन धंसी तो कुएं में समा गए दो ट्रांसफॉर्मर...
वहीं मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के करोंद स्थित मुरली नगर में शनिवार सुबह कचरे से भरे एक कुएं के आसपास की मिट्‌टी धंसक गई... इसके बाद अचानक हुए धमाके से कुएं की मुंडेर से करीब 2.5 फीट दूर लगे दो ट्रांसफार्मर उसमें समा गए।

इससे चलते कई घरों की बिजली गुल हो गई। वहीं 15 से अधिक परिवारों के आवागमन का रास्ता बंद हो गया। वहीं अभी भी 4 मकानों के ढहने का खतरा भी बना हुआ है। रहवासियों के मुताबिक इस कुएं में सालों से कचरा डाला जा रहा था। यहां बड़े-बड़े चूहे भी थे, जिन्होंने जमीन काे खोखला कर दिया था। ऐसे में लगातार हुई बारिश से जमीन धंस गई।


सामने आ रही जानकारी के अनुसार सुबह के समय बिजली कर्मचारी मुरली नगर के ट्रांसफाॅर्मर का फाल्ट सुधारने गए थे। जब इस फाल्ट को दुरुस्त कर लाइन को दोबारा चालू किया तो कुछ ही देर बाद दोबारा वहीं फाल्ट हुआ।


कर्मचारी ने लाइन चालू की, लेकिन लाइट चालू नहीं हुई। टीम को मौके पर भेजा गया तो मुरली नगर और शिव नगर समेत तीन कॉलोनियों के बीच बिजली के पोल उखड़े मिले। यहां पर कुएं के पास लगे 200-200 किलो वॉट के दो ट्रांसफाॅर्मर कुएं में पड़े हुए थे।

nasrulagang havey rain

इधर, भारी बारिश से 20 गांवों में बाढ़ जैसे हालात, रास्ते बंद:

वहीं दूसरी ओर मध्यप्रदेश के सीहोर,रायसेन,विदिशा जिलों में शनिवार को भी तेज बारिश का दौर रहा। तेज बारिश से सीहोर के करीब दो दर्जन गांवों में बाढ़ के हालात बन गए हैं। शुक्रवार रात से शुरू हुई बारिश शनिवार तक होती रही।

नसरुल्लागंज के करीब 20 गांवों में पानी भर गया है। इधर, जावर में नेवज नदी उफान पर है। इससे करीब 100 गांवों का संपर्क टूट गया है। रायसेन के बीनापुर में कहुला नदी के जलमग्न होने से शनिवार शाम तक आवागमन बंद रहा।

विदिशा में बाबना नदी के उफान पर होने से हैदरगढ़ से गैरतगंज-बेगमगंज जाने वाला मार्ग शनिवार रात तक बंद रहा।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned