scriptuma bharti letter to cm on issue of liquor ban | Liquor Ban: शराब दुकान में मारा पत्थर, उमा भारती ने बताया क्यों आया उन्हें गुस्सा | Patrika News

Liquor Ban: शराब दुकान में मारा पत्थर, उमा भारती ने बताया क्यों आया उन्हें गुस्सा

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने बताया शराब दुकान में पत्थर मारने का कारण...। सीएम को लिखा पत्र...।

भोपाल

Updated: March 14, 2022 01:16:22 pm

भोपाल। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं मध्यप्रदेश की पूर्व सीएम उमा भारती अपने शराबबंदी के अभियान को लेकर सुर्खियों में हैं। उन्होंने भोपाल की एक शराब दुकान पर पहुंचकर शराब की बोतलों पर पत्थर मारा था। इसका वीडियो भी जारी किया था। इसे लेकर सोमवार को उमा ने स्पष्ट किया है कि उन्होंने शराब दुकान पर पत्थर क्यों मारा था।

uma-1.png

मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने शराबबंदी को लेकर अभियान छेड़ दिया है। इसी सिलसिले में उन्होंने रविवार को बीएचइएल क्षेत्र की एक शराब दुकान में रखी बोतलों पर पत्थर मारा था। इसके बाद शुक्रवार को उमा ने पत्थर मारने का कारण और प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा का जिक्र करते हुए कई बातें कही हैं।

यह भी पढ़ेंः

'शराब दुकानों के सामने खड़ी हो जाऊंगी, मेरा पूरा फोकस शराबबंदी है'

क्या है उमा के पत्र में

उमा ने सोमवार को यह पत्र मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को संबोधित करते हुए लिखा है। उन्होंने लिखा है कि नशे के लिए जागरूकता के लिए समाज पहल करे सरकार उसका साथ दे तथा शराबबंदी में सरकार पहल करे एवं समाज सरकार का साथ दें, क्योंकि शराब की दुकानें सरकार की सहमति से खुलती हैं, इसलिए शराबबंदी सरकार की ओर से और नशामुक्ति शराबमुक्ति के लिए अभियान समाज की ओर से होना चाहिए।

उमा ने लिखा है कि मैं 13 मार्च को महिलाओं के आग्रह पर भोपाल के बरखेड़ा पठानी के आजाद नगर में शराब की दुकान एवं अहाता देखने के लिए गई, वहां महिलाओं से जानकारी मिली की यह मजदूरों की बस्ती है यहां मंदिर है, स्कूल है वह तीन साल से इन शराब दुकानों को बंद करने के लिए धरना-प्रदर्शन कर रही हैं, प्रशासन भी आश्वासन देता है, लेकिन यह दुकानें बंद नहीं होती हैं। वहां कुछ महिलाओं ने उन्हें रोते हुए बताया कि यहां शराब पीकर शराब की दुकान के पीछे के रहवासी परिवारों की स्त्रियों एवं बच्चियों की तरफ लघुशंका कर लज्जित करते हैं।

उमा ने कहा कि मेरी प्रतिक्रिया स्वाभाविक थी। मैंने कर्मचारिोयं को दूर होने का कहा और फिर पूरी ताकत से एक पत्थर शराब की बोतलों पर दे मारा। उमा ने कहा कि मैं एक महिला हूं और रोती हुई महिलाओं के सम्मान की रक्षा में मैंने पूरी ताकत से एक पत्थर शराबकी बोतलों पर मारा है, क्योंकि वह दुकानें नियम विरुद्ध जगहों पर थीं। वह पत्थर जो मैंने मारा है, वह प्रदेश की स्त्रियों एवं बच्चियों के सम्मान के लिए मारा है।

दरअसल, दुकान में पत्थर फेंके पर सोशल मीडिया पर हल्ला मचा हुआ है। अनेक लोगों ने पत्थर फेंकने पर आपराधिक प्रकरण दर्ज होने की बात की थी। शराबदुकानें बंद करने के लिए कानूनी रास्ते होना चाहिए। उमा के इस एक्शन पर कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने लिखा था कि शराबबंदी का पक्षधर हूं, लेकिन क्या यह तरीका सही है। सलूजा ने इसी प्रकार से शराबबंदी के लिए कदम उठाने की मांग की थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: फ्लोर टेस्ट के खिलाफ शिवसेना की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में मंजूर, आज शाम 5 बजे होगी सुनवाईMaharashtra Political Crisis: 30 जून को फ्लोर टेस्ट के लिए मुंबई वापस पहुंचेगा शिंदे गुट, आज किए कामाख्या देवी के दर्शनMumbai News Live Updates: फ्लोर टेस्ट के खिलाफ शिवसेना की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में मंजूर, आज ही होगी सुनवाईनवीन जिंदल को भी कन्हैया लाल की तरह जान से मारने की मिली धमकी, दिल्ली पुलिस से की शिकायतUdaipur Kanhaiya Lal Murder: बैकफुट पर गहलोत सरकार, अब मंत्री बोले, 'ऐसे लोगों को ठोके पुलिस' और दी जाए 'फांसी'Udaipur Murder Case: राजस्थान में एक माह तक धारा 144, पूरे उदयपुर में कर्फ्यू, जानिए अब तक की 10 बड़ी बातेंMohammed Zubair’s arrest: 'पत्रकारों को अभिव्यक्ति के लिए जेल भेजना गलत', ज़ुबैर की गिरफ्तारी पर बोले UN के प्रवक्ताGST Council Meeting: महंगाई की मार! ब्रैंडेड पनीर-दही समेत कई चीजें होंगी महंगी, बैंक की इस सर्विस भी लगेगा टैक्स
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.