MP के 24 जिलों में 'भारी बारिश' का अलर्ट, उफान पर पहुंच गई हैं कई नदियां

वर्तमान में बने वेदर सिस्टम के कारण बंगाल की खाड़ी के अलावा अरब सागर से भी नमी मिल रही है....

By: Ashtha Awasthi

Published: 25 Jul 2021, 02:03 PM IST

भोपाल। प्रदेश के कई जिलों में दो दिनों में हुई जोरदार बरसात के चलते मानसून की स्थिति में सुधार आ गया है। अब प्रदेश में बारिश का आंकड़ा 318.7 मिमी या 12.5 इंच पर पहुंच गया है, यह सामान्य स्तर 354.9 मिमी या लगभग 14 इंच से मात्र 10 फीसदी कम रह गया है।

मौसम विभाग ने प्रदेश के पूर्वी एवं दक्षिणी हिस्सों में कई स्थानों पर जोरदार बारिश का अनुमान व्यक्त किया है। प्रदेश में शनिवार सुबह तक सबसे ज्यादा बरसात खंडवा में पांच इंच बरसात दर्ज की गई। श्योपुरकला और जबलपुर में तीन-तीन इंच, शाजापुर में दो इंच तो बालाघाट में लगभग डेढ़ इंच बारिश हुई। इसके अतिरिक्त सीधी, उज्जैन, सागर, दतिया, सतना दमोह, भोपाल में लगभग एक-एक इंच बरसात हुई।

photo6334439195635985591.jpg

भारी बारिश की चेतावनी

मौसम विभाग ने भोपाल, रीवा, सतना, अनूपपुर उमरिया, डिंडौरी, कटनी, जबलपुर, नरसिंहपुर, मंडला, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़, विदिशा, सीहोर, राजगढ़, बैतूल, बुराहनपुर, खंडवा, खरगौन, धार, देवास, अशोकनगर, एवं शिवपुरी जिलों में कहीं-कहीं भारी से अतिभारी की चेतावनी जारी की है। साथ ही जबलपुर, रीवा, सतना, अनूपपुर, उमरिया जिलों के अलग-अलग स्थानों पर भारी से भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है।

विभाग का कहना है कि पूरे प्रदेश में रुक-रुक कर बारिश का सिलिसला बना हुआ है। वर्तमान में बने वेदर सिस्टम के कारण बंगाल की खाड़ी के अलावा अरब सागर से भी नमी मिल रही है। इससे अच्छी बरसात हो रही है। वर्तमान में कम दबाव के क्षेत्र के उत्तरी मप्र के मध्य में बने रहने से पश्चिमी मप्र के जिलों में बरसात हो रही है।

Weather forecast
Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned