फिल्म की शूटिंग के दौरान Anupam Kher के चेहरे पर मार गया था लकवा, नम आंखों के साथ साझा किया दर्द

By: Shweta Dhobhal
| Published: 07 Mar 2021, 12:39 PM IST
फिल्म की शूटिंग के दौरान Anupam Kher के चेहरे पर मार गया था लकवा, नम आंखों के साथ साझा किया दर्द
Anupam Kher Had Paralysis Attack During Shooting Hum Aapke Hain Kaun

  • आज है अभिनेता अनुपम खेर ( Anupam Kher Birthday ) का जन्मदिन
  • फिल्म 'सारांश' ( Saranash ) में 65 साल के शख्स के किरदार से एक्टर को मिली थी पहचान
  • फिल्म हम आपके हैं कौन? ( Hum Aapke Hain Kaun ) की शूटिंग के दौरान एक्टर के चेहरे पर पड़ा था लकवे का अटैक

नई दिल्ली। बॉलीवुड में अपनी अदाकारी से सबको खुद का बनाना लेने वाले एक्टर अनुपम खेर ( Anupam Kher Birthday ) का आज जन्मदिन है। अनुपम खेर उन अभिनेताओं में से एक हैं। जिन्होंने अपने करियर की शुरूआत काफी रिजेक्शन्स के साथ की है। साथ ही अपने करियर में काफी स्ट्रगल भी देखा है। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि जहां हीरो के रूप में कई अभिनेताओं को फेम मिला। वहीं अनुपम खेर को 29 साल की उम्र में 65 साल की उम्र के शख्स के किरदार निभाने पर जो लोकप्रियता मिली। उसकी कल्पना कोई भी नहीं कर सकता है।

यह भी पढ़ें- ड्रीम गर्ल Hema Malini ने लगवाई कोरोना वैक्सीन की पहली डोज, तस्वीरें शेयर कर दी जानकारी

Anupam Kher

शूटिंग के दौरान एक्टर को आया लकवे का अटैक

एक इंटरव्यू के दौरान अनुपम खेर ने बताया था कि फिल्म हम आपके हैं कौन की शूटिंग के दौरान उन्हें लकवे का अटैक आ गया था। उन्होंने डायरेक्टर सूरज बड़जात्या से जब इस बारें में कहा तो उन्होंने कहा कि इस शूटिंग रुकनी नहीं चाहिए। ऐसे में जब फिल्म में एक सीन में शोले में धर्मेंद्र की एक्टिंग करते हैं तो उनके फेस पर दिखाई देने वाले भाव असल में लकवे के अटैक थे। ऐसे अनुपम ने इतनी मुश्किलों के बाद भी कभी अपनी एक्टिंग में किसी को आने नहीं दिया।

यह भी पढ़ें- दिल्ली आते ही Shahrukh Khan पहुंचे माता-पिता की कब्र पर, सिर झुकाए यादों में डूबे किंग खान की तस्वीरें आईं सामने

Anupam Kher

हो गए थे बैंकरप्ट

हर कलाकार की जिंदगी में एक ऐसा पल आता है। जब वह आर्थिक तंगी के चलते सब कुछ खो बैठता है। अनुपम खेर की जिंदगी में भी एक ऐसा वक्त आया था। जब उनका दिवालिया निकल गया था। इस बात की जानकारी खुद अनुपम खेर ने दी थी। अभिनेता ने बताया था कि साल 2005 में उन्होंने फिल्म मैंने गांधी को नहीं मारा था। उस वक्त वह पूरी तरह से कंगाल हो गए थे। उन्हें लगा था कि इस फिल्म को बनाने से वह एक टाइकून बन जाएंगे। लेकिन बिल्कुल इसके विपरीत ही हुआ।