बेटी के हिजाब पहनने AR Rahman पर लगा था दबाव बनाने का आरोप, इस तरह दिया था जवाब

By: Sunita Adhikari
| Published: 06 Jan 2021, 06:41 PM IST
बेटी के हिजाब पहनने AR Rahman पर लगा था दबाव बनाने का आरोप, इस तरह दिया था जवाब
AR Rahman Daughter

  • एआर रहमान ने अपनाया था इस्लाम धर्म
  • बेटी को हिजाब पहनाने का लग चुका है आरोप

नई दिल्ली: संगीतकार एआर रहमान आज अपना 54वां जन्मदिन मना रहे हैं। ऑस्कर विजेता रहमान ने फिल्म इंडस्ट्री को कई सुपरहिट गाने दिए हैं। उनकी आवाज का जादू इस कदर है कि हर कोई उनका दीवाना है। प्रोफेशनल लाइफ के अलावा कम ही मौकों पर रहमान की चर्चा होती है। लेकिन एक बार वह अपनी बेटी को हिजाब पहनाने पर ट्रोल हो गए थे।

दरअसल, रहमान अपनी Slumdog Millionaire मूवी के म्यूजिक के लिए मिले ऑस्कर अवॉर्ड के 10 साल पूरे होने के मौके पर एक कार्यक्रम में अपनी बेटी के साथ पहुंचे थे। कार्यक्रम में उनकी बेटी खतिजा ने पिता के लिए एक इमोशनल स्पीच भी दी थी। इस दौरान उन्होंने हिजाब पहना हुआ था। ऐसे में सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने एआर रहमान को ट्रोल करना शुरू कर दिया था। उनपर महिलाओं के प्रति दोहरा रवैया अपनाने के आरोप लग रहे थे। ऐसे में उन्होंने इसका जवाब एक तस्वीर के जरिए दिया था।

Kangana Ranaut ने शशि थरूर पर साधा निशाना, जवाब में कांग्रेस नेता ने कुछ इस तरह की एक्ट्रेस की तारीफ

रहमान ने ट्विटर पर एक तस्वीर शेयर की। इसमें उनकी दोनों बेटियां और पत्नी नीता अंबानी के साथ खड़ी हैं। उनकी छोटी बेटी जहां हिजाब में तो वहीं बड़ी बेटी सूट में खुले बालों के साथ नजर आ रही हैं। इस तस्वीर को शेयर करते हुए उन्होंने #FreedomtoChoose हैशटैग का इस्तेमाल किया। उन्होंने लिखा, "मेरे परिवार की अनमोल महिलाएं खातिजा, रहिमा और सायरा नीता अम्बानी जी के साथ।"

R Madhawan पर ट्रोलर ने साधा निशाना, कहा- शराब और ड्रग्स के चलते आपका करियर बर्बाद हो गया है.. एक्टर ने यूं दिया जवाब

इसके बाद रहमान की बेटी खतिजा ने भी इस मामले में अपनी बात रखी थी। उन्होंने कहा था, "मेरे पिता के साथ मंच पर हुई मेरी बातचीत पर काफी चर्चा हो रही है, हालांकि मैंने ऐसी प्रतिक्रिया की उम्मीद नहीं की थी। कुछ लोगों ने कहा कि जो कपड़े मैंने पहने थे, उसे पहनने के लिए मेरे पिता द्वारा मुझे फोर्स किया गया था और वह दोहरे मापदंड रखते हैं। लेकिन मैं यह कहना चाहूंगी कि मैं जो भी पहनती हूं या जो भी चीज मैं अपने जीवन में चुनती हूं, उसका मेरे माता-पिता से कोई लेना-देना नहीं है। नकाब पूरी स्वीकृति और सम्मान के साथ मेरी व्यक्तिगत पसंद है।"