Coronavirus: सोनू सूद ने कोरोना को दी मात, रिपोर्ट नेगेटिव आते ही फैंस को दिया यह संदेश

By: Mohit sharma
| Updated: 23 Apr 2021, 06:41 PM IST
Coronavirus: सोनू सूद ने कोरोना को दी मात, रिपोर्ट नेगेटिव आते ही फैंस को दिया यह संदेश

हाल ही में कोरोना पॉजिटिव हुए अभिनेता सोनू सूद की रिपोर्ट नेगेटिव आई है

नई दिल्ली। हाल ही में कोरोना पॉजिटिव हुए अभिनेता सोनू सूद ( Sonu Sood ) की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। एक्टर ने खुद अपनी जांच रिपोर्ट सोशल मीडिया पर शेयर की है। सोनू सूद ने अपने फैंस को खुशखबरी सुनाते हुए कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट के साथ अपनी तस्वीर भी शेयर की है। इस तस्वीर में सोने विक्ट्री साइन बनाते नजर आ रहे हैं। कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए सोनू ने फेस मास्क भी पहना हुआ है।

 

क्टर सोनू सूद कोरोना संक्रमित पाए गए थे

आपको बता दें कि पिछले शनिवार को एक्टर सोनू सूद कोरोना संक्रमित पाए गए थे। उन्होंने सोशल मीडिया पर अपने प्रशंसकों को इस बात की सूचना दी थी। इस दौरान उन्होंने एक तस्वीर पोस्ट की थी जिसमें लिखा था "सभी को नमस्ते, मैं आप सबको बताना चाहता हूं कि आज सुबह ही मैं कोविड से संक्रमित पाया गया हूं। मैंने खुद को क्वारंटीन कर लिया है और अपनी देखभाल कर रहा हूं। लेकिन चिंता न करें। आपकी समस्याओं को हल करने के लिए मुझे अब ज्यादा समय मिल गया है। याद रखें मैं हमेशा आप सभी की मदद केलिए तैयार हूं। - सोनू सूद।"

दिल्ली में खाली पड़े हुए हैं 1200 बेड, अब तक नहीं आया कोई मरीज: रेलवे बोर्ड चेयरमैन.

सोनू सूद जरूरतमंद लोगों के लिए मददगार साबित

गौरतलब है कि जब से कोरोना महामारी 2020 की शुरुआत हुई है, तब से सोनू सूद जरूरतमंद लोगों के लिए बहुत मददगार साबित हुए हैं। कोरोना पीरियड के दौरान उन्होंने लोगों को एक राज्य से उनके गंतव्य राज्य में पहुंचाने, राशन पहुंचाने और रोजगार दिलाने तक काम किया है। इसके साथ ही एक्टर ने प्रवासी मजदूरों के लिए ट्रांसपोर्ट के इंतजाम के अलावा उनके इलाज तक का जिम्मा उठाया। हाल ही में अभिनेता को हाल ही में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा पंजाब के कोविड टीकाकरण कार्यक्रम का ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया गया था।

Coronavirus: PM मोदी ने कोविड -19 के कारण रद्द किया बंगाल का दौरा, आज करेंगे वर्चुअल रैली

बेरोजगारों को ई-रिक्शा भी प्रदान किया

सोनू सूद लगातार कोरोना से निपटने के लिए लोगों की मदद कर रहे हैं। पिछले साल उन्होंने लॉकडाउन के दौरान हजारों प्रवासियों को उनके घरों तक पहुंचाने में मदद की और बेरोजगारों को ई-रिक्शा भी प्रदान किया।