scriptWhen Kajol son asks why she is not normal mother actress replies this | जब बेटे युग ने काजोल से किया सवाल- तुम सामान्य मां क्यूं नहीं हो? एक्ट्रेस ने दिया ये शानदार जवाब | Patrika News

जब बेटे युग ने काजोल से किया सवाल- तुम सामान्य मां क्यूं नहीं हो? एक्ट्रेस ने दिया ये शानदार जवाब

एक बार एक्ट्रेस काजोल के 10 साल के बेटे युग ने उनसे सवाल किया कि वो दूसरी माओं की तरह क्यों नहीं हैं. वो काम पर क्यों जाती हैं?

Updated: November 06, 2021 12:23:21 pm

नई दिल्ली: ये सब जानते हैं कि बॉलीवुड एक्ट्रेस और एक्टर की लाइफ सामान्य लोगों से कुछ अलग होती है। उन्हें ज्यादातर काम के चलते बिजी या घर से बाहर रहना पड़ता है। जिसके चलते वो ज्यादा अपने परिवार और बच्चों को समय नहीं दे पाते हैं। ऐसा ही कुछ एक्ट्रेस काजोल के साथ है जिसके कारण उनके बेटे युग ने अपनी मां काजोल से पुछ लिया था कि आप सामान्य मां जैसी क्यों नहीं हैं? (Kajol son asks why she is not normal mother) इस पर काजोल ने ये शानदार जवाब (Kajol replies his question) दिया था।
When Kajol son asks why she is not normal mother actress replies this
Kajol with son Yug
तुम सामान्य मां क्यों नहीं हो?
दरअसल महिला सशक्तीकरण के मुद्दे को दर्शाती फिल्म त्रिभंगा के दौरान अभिनेत्री काजोल ने बड़ा खुलासा किया था। उन्होंने बताया था एक बार उनके 10 साल के बेटे युग ने उनसे सवाल किया कि वो दूसरी माओं की तरह क्यों नहीं हैं, वो काम पर क्यों जाती हैं?
बीबीसी से बात करते हुए काजोल ने बताय था कि मैंने बेटे के सवाल पर कहा था कि, "जब तुम बड़े हो जाओगे और तुम्हारी पत्नी काम पर जाएगी, तो तुम उसमें गलती नहीं तलाश करोगे। उस वक्त तुम्हारे लिए ये सामान्य होगा। उन्होंने आगे कहा था कि, "अगर मैं अपने बेटे की सोच बदलने में कामयाब रही, तो मुझे लगेगा कि बतौर मां और नारीवादी महिला के बेहतरीन काम किया है।
वहीं, महिलाओं के सशक्तिकरण में आ रहे बदलाव को काजोल किस नजरिए से देखती हैं? इस सवाल के जवाब में काजोल इसका श्रेय दर्शकों को देती हैं। उनका मानना है कि दर्शकों के बदलते रुझान ने महिला प्रधान फिल्मों को बॉलीवुड में जगह दी है। उसी का नतीजा त्रिभंगा जैसी फिल्म का बनना है।
गौरतलब है कि महिला के कामकाजी होने पर भारतीय समाज अक्सर परिवार की उपेक्षा करने का आरोप लगाता है। महिलाओं के बारे में आम धारणा है कि उसे घर का कामकाज संभालना चाहिए। महिलाओं का अपने बारे में फैसला लेने को अलग नजरिए से देखा जाता है। इस सोच को बदलने के लिए त्रिभंगा जैसी फिल्म बनाई गई थी। इस फिल्म को रेणुका शहाणे ने निर्देशित किया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झाझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीAloe Vera Juice: खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से मिलते हैं गजब के फायदेगणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए इसके बारे मेंRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस परेड में हरियाणा की झांकी का हिस्सा रहेंगे, स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.