बदायूं में बुखार से अब तक 99 की मौत, इन तहसीलों में फैला है जानलेवा बुखार

बदायूं में बुखार से अब तक 99 की मौत, इन तहसीलों में फैला है जानलेवा बुखार

Amit Sharma | Publish: Sep, 08 2018 04:44:48 PM (IST) Budaun, Uttar Pradesh, India

जिले में संक्रामक रोग से मौतों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है अब तक जिले में 99 लोगों की मौते हो चुकी है।

बदायूं। जिले में संक्रामक रोग से मौतों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है अब तक जिले में 99 लोगों की मौते हो चुकी है वहीं 24 घंटो में बुखार के कहर से 20 और लोग मर चुके हैं। बीमारी से सबसे जादा मौतें दातागंज तहसील में हुई हैं। बीमारी समरेर, मूसाझाग, जगत, सालारपुर सहित वजीरगंज ब्लॉक में फैली हुई है। मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद और अस्पतालों में हो रही लापरवाही देखने जिलाधिकारी ने रात में जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने मरीजों की संख्या को बढ़ता देखते हुए 15 रैन बसेरा में अलग से फोल्डिंग डालने के निर्देश दिए। वहीं स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार गांवों में पहुंच रही है मगर बीमारी रुकने का नाम नहीं ले रही है।

एक बैड पर दो-दो मरीज

गांवों में गंदगी और जल भराव से बीमारी बढ़ने लगी है, जिससे वयारल, मलेरिया, बुखार से खून की कमी हो रही है। कुछ लोगो को डेंगू भी हुआ है। जिसमें केवल बुखार के मरीजों की संख्या आधे से भी ज्यादा है। जिला अस्पताल में बेड की संख्या कम पड़ गयी है और एक-एक बेड पर दो-दो मरीज़ों का इलाज चल रहा है। अस्पताल में लापरवाही भी साफ दिखाई देती है, बहुत सारे मरीजों के बेड पर चादरें भी नहीं हैं।

दवाओं की कमी

जिला अस्पताल में रोजाना 2500 के आसपास मरीज आ रहे हैं जिसमें आधे से ज्यादा मरीज बुखार के हैं। जिला अस्पताल में बेड की संख्या कम पड़ गयी है जिसके कारण एक बेड पर दो-दो मरीजों का इलाज चल रहा है, इतना ही नहीं जिला अस्पताल में ज़रूरी दवाइयों की भारी कमी है जिसके चलते मरीजों को बाहर से भी दवाइयां लानी पड़ रही हैं। स्वास्थ्य विभाग इतना कुछ होने के बाद भी अभी तक नींद से जागा नहीं है। स्वास्थ्य विभाग की संवेदनहीनता तब सामने आयी जब उन्होंने संक्रामक बीमारियों को फैलने के लिए स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी मानने से इनकार कर दिया।

Ad Block is Banned