प्राइमरी स्कूल में ब्लैक कोबरा निकलने से फैली दहशत तो लोगों ने उठाया ये खौफनाक कदम

Iftekhar Ahmed | Publish: Jul, 23 2019 07:44:55 PM (IST) Bulandshahr, Bulandshahar, Uttar Pradesh, India

  • लोगों ने सांप को पीट-पीटकर मार डाला
  • जंगल में बिना दीवार के चल रहा है स्कूल
  • स्कूल में सांप निकलने से अभिभवक हुए खौफजदा

बुलन्दशहर. प्राथमिक विधालय में ब्लैक कोबरा (नाग) निकलने से स्कूल में बैठे बच्चों और वहां मौजूद स्टाफ में दहशत फैल गई। स्कूल के बच्चों और स्टाफ ने बताया कि सांप हमलाकर बच्चों की तरफ झपटा पड़ा। ब्लैक कोबरा की हरकत के बाद स्कूल में अफरातफरी मच गई। गौरतलब है कि चार दिवारी नहीं होने के की वजह से स्कूल की क्लासरूम तक ब्लैक कोबरा पहुंच गया। हालांकि, शिक्षकों ने साहस दिखाते हुए सांप को मार दिया।

यह भी पढ़ें: एक उपभोक्ता के घर आया 1 अरब 28 करोड़ 45 लाख 95 हजार 444 रुपये का बिजली बिल


स्कूल में ब्लैक कोबरा की दस्तक ने जिले में दूसरे स्कूलों की भी चिंता बढ़ा दी है। दरअसल, बुलन्दशहर में बिना चार दिवारी के ही संचालित 400 से ज़्यादा प्राथमिक विद्यालय जंगलों में स्तिथ होने की वजह से हमेशा ही स्कूल में जानवरों के घुसने का डर मंडराता रहता है।

यह भी पढ़ें: चौधरी अजीत सिंह को वोट देने वाले प्रधान पति पर रंगदारी का मुकदमा दर्ज

ऐसे ही बुलन्दशहर के अगौता ब्लॉक के मनोहर गढ़ी में स्तिथ पूर्व माध्यमिक विद्यालय में मंगलवार को एक ब्लैक कोबरा सांप निकल आया, जिससे स्कूल में हड़कंप मच गया। बच्चों में दहशत फैल गई। जैसे ही गांव वालों को पता चला कि स्कूल में सांप घुस आया है तो लाठी-डंडे लेकर पहुंचे लोगें ने सांप को पीट-पीटकर मार दिया। इसके बाद सांप को स्कूल में ही जला दिया गया।

यह भी पढ़ें- करंट लगने से दंपति की मौत से मचा कोहराम, लोगों ने जो सच्चाई बताई उसे जानकर हो जाएंगे हैरान

टीचरों का कहना है कि खुले में स्कूल होने के कारण जंगल से सांप अकसर स्कूल में आ जाते हैं, जिस से खतरा बना रहता है। गौरतलब है कि जिलेभर में ऐसे सैकड़ों स्कूल हैं, जिनमें पढ़ने वाले बच्चे हमेशा ही खतरों के बीच पढ़ने को मजबूर हैं। ग्रामीण सुरेंद्र ने बताया कि मंगलवार को स्कूल में सांप की सूचना मिलने के बाद लोगों ने मिलकर सांप को मार दिया। फिर उसके बाद उसको स्कूल में ही जला दिया गया। उन्होंने कहा कि डर लगता है कि नन्हे-मुन्ने बच्चे स्कूल में पढ़ने आते हैं, कहीं कोई हादसा हो जाए तो कौन जिम्मेदार होगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned