Big Breaking: बुलंदशहर मामले में पीड़ि‍त परिवार से मिलने पहुंचे चंद्रशेखर, प्रशासन को दी यह हिदायत- देखें वीडियो

  • मोटरसाइकिल से नया गांव चांदपुर पहुंचे भीम आर्मी के सैकड़ों कार्यकर्ता
  • गांव में सुरक्षा व्‍यवस्‍था को देखते हुए पुलिस बल तैनात
  • बसपा और सपा के नेता भी पहुंचे पीड़‍ित परिवार से मिलने

By: sharad asthana

Updated: 26 Jun 2019, 04:26 PM IST

बुलंदशहर। छेड़छाड़ का विरोध करने पर दो महिलाओं की हत्‍या करने के मामले में राजनीति भी गरमा गई है। बुधवार को भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर, सपा नेता शुजात आलम और बसपा नेता जय प्रकाश ने गांव में पहुंचकर पीड़‍ित परिवार से मुलाकात की। इस दौरान गांव में भारी पुलिस बल तैनात रहा।

यह भी पढ़ें: बुलंदशहर मामला: पुलिस ने कहा था— पहले हादसे की दी गई थी तहरीर, युवती के भाई ने बताई पूरी सच्चाई

यह है मामला

बता दें कि‍ बुलंदशहर के नया गांव चांदपुर में सोमवार रात को एक दलित युवती से छेड़छाड़ की गई थी। इसका विरोध करने पर आरोपी ने दलित परिवार के सदस्‍यों पर गाड़ी चढ़ा दी थी। इसमें दो महिलाओं की मौत हो गई थी जबक‍ि दो गंभीर रूप से घायल हो गए थे। पुलिस ने इस मामले को पहले हादसे की धाराओं में दर्ज किया था। मंंगलवार को पुलिस ने एफआईआर को हत्‍या और अन्‍य गंभीर धाराओं में दर्ज किया। वहीं, पीड़ि‍त परिजनों और गांव वालों ने पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर प्रदर्शन किया था। पुलिस ने मुख्‍य आरोपी नकुल ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें: बुलंदशहर में छेड़खानी का विरोध करने पर दलित परिवार को रौंदा, 2 महिलाओं की मौत, मुख्य आरोपी गिरफ्तार, देखें वीडियो

पीड़ि‍त परिवार से की मुलाकात

बुधवार को भीम आर्मी मुखिया चंद्रशेखर सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ गांव पहुंचे। वे सभी मोटरसाइकिल पर सवार होकर पीड़ित के घर पहुंचे। उन्‍होंने पीड़‍ित परिवार के साथ मुलाकात की। मुलाकात के बाद चंद्रशेखर ने बताया कि उनसे पीड़ि‍त परिवार ने कहा है क‍ि पुलिस ने पहले झूठी एफआईआर दर्ज की थी। जब समाज के लोग जमा हुए तो एफआईआर दोबारा लिखी गई। उनको पुलिस अधिकारियों ने आश्‍वासन दिया है क‍ि किसी भी तरह की कोताही नहीं बरती जाएगी।

सरकार पर साधा निशाना

उन्‍होंने कहा कि प्रशासन को हिदायत की गई है क‍ि अगर कोई नेता या प्रभावी व्‍यक्ति इस मामले में दबाव बनाएगा तो बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा। उन्‍होंने सरकार से ऐसे आरोपियों से सख्‍त से सख्‍त कार्रवाई की मांग की। उन्‍होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि माॅब लिंचिंग के नाम पर दलित पिछड़े मुसलामनों की जाति के नाम पर, धर्म के नाम पर हत्‍याएं हो रही हैं। वहीं, सुरक्षा व्‍यवस्‍था को देखते हुए एसपी सिटी, सिटी मजिस्ट्रेट, दो सीओ कई थानों की फोर्स के साथ गांव में तैनात हैं।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर

Show More
sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned