Bulandshahr में अधिवक्ता की अपहरण के बाद हत्या, प्रियंका गांधी बोलीं- पता नहीं यह सरकार कब तक सोएगी

Highlights

- छह दिन से लापता अधिवक्ता का शव पुलिस चौकी के पीछे फैक्ट्री से मिला

- प्राथमिक जांच में 70 लाख रुपय के विवाद में हत्या केस दर्ज

- कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक बार फिर यूपी सरकार पर निशाना साधा

By: lokesh verma

Published: 01 Aug 2020, 01:22 PM IST

बुलंदशहर. यूपी एक बार फिर अपराध चरम पर है। कानपुर और गौरखपुर के बाद बुलंदशहर में भी हत्या जैसे संगीन अपराध सामने आ रहे हैं। जहां छह दिन पहले संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हुए अधिवक्ता धर्मेंद्र चौधरी का शव बरामद हुआ है। चौंकाने वाली बात यह है कि धर्मेंद्र चौधरी की हत्या पुलिस चौकी के पीछे ही कर दी गई और पुलिस को कुछ पता नहीं चल सका। हत्या के बाद शव को आग के हवाले कर 8 फीट गहरे गड्ढे में दफन कर दिया गया। प्राथमिक जांच में 70 लाख रुपय के विवाद में हत्या केस दर्ज किया गया है। इस घटना को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक बार फिर यूपी सरकार पर जमकर निशाना साधा है।

यह भी पढ़ें- बुलंदशहर: छह दिन से लापता वकील का शव पुलिस चौकी के पीछे फैक्ट्री से मिला

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि यूपी में जंगलराज फैलता जा रहा है। क्राइम और कोरोना कंट्रोल से बाहर हो गए हैं। बुलंदशहर में धर्मेन्द्र चौधरी का छह दिन पहले अपहरण हुआ। कल उनका शव बरामद किया गया। कानपुर, गोरखपुर, बुलंदशहर... हर घटना में कानून व्यवस्था की सुस्ती है और जंगलराज के लक्षण हैं। पता नहीं यह सरकार कब तक सोएगी?

बता दें कि खुर्जा के मोहल्ला गुलशन विहार कॉलोनी निवासी अधिवक्ता धर्मेंद्र चौधरी 25 जुलाई को अचानक लापता हो गए थे। परिजनों ने उनको काफी तलाश किया, लेकिन उनका कोई सुराग नहीं लग सका। इसके बाद परिजनों थाने पहुंचकर पुलिस को पूरे मामले से अवगत कराया। पुलिस जांच में धर्मेंद्र की बाइक गांव खबरा के पास लावारिस हालत में मिली। इसके बाद परिवार वालों को अनहोनी की आशंका व्यक्त की थी। पुलिस भी तभी लगातार धर्मेंद्र की तलाश कर रही थी, लेकिन पुलिस को भी सफलता नहीं मिल सकी। शुक्रवार रात अधिवक्ता का शव एक टाइल्स की फैक्ट्री से बरामद हुआ है।

यह भी पढ़ें- अपहरण और हत्या के केस में भाजपा मोर्चा के जिलाध्यक्ष समेत दो गिरफ्तार

Congress
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned