AI से मिलेंगी 10 करोड़ युवाओं को नौकरी, बड़ी कंपनियां मोटे पैकेज पर कर रही हैं हायर

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के अनुसार वर्ष 2025 तक अमरीका, चीन और भारत जैसे 26 से अधिक देशों में लगभग आठ करोड़ लोगों का रोजगार छिन सकता है।

By: सुनील शर्मा

Published: 13 Jul 2021, 10:17 AM IST

नई दिल्ली। मानव सभ्यता के इतिहास में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) को आग, इलेक्ट्रिसिटी और इंटरनेट के बाद सबसे बड़ा आविष्कार माना जा रहा है जो आने वाले समय में पूरे विश्व को बदल कर रख देगा। हालांकि इसकी वजह से भविष्य में 8 करोड़ लोगों को अपनी नौकरियों से हाथ धोना पड़ेगा। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के बढ़ते उपयोग से उद्योगों में ऑटोमेशन बहुत तेजी से बढ़ा है और कोरोना के कारण दुनिया भर में लगे लॉक डाउन ने भी ऑटोमेशन को तेजी से बढ़ाने में अपना सहयोग दिया है। ऐसे में एक्सपर्ट्स आने वाले समय के लिए अभी से तैयारी में लग गए हैं।

यह भी पढ़ें : अपने प्रत्येक कर्मचारी को 1.20 लाख रुपए देगी Microsoft, फेसबुक और अमेजन भी कर चुके हैं ऐसा

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के अनुसार वर्ष 2025 तक अमरीका, चीन और भारत जैसे 26 से अधिक देशों में लगभग आठ करोड़ लोगों का रोजगार छिन सकता है। उल्लेखनीय है कि हाल ही में विश्व के सबसे बड़े शॉपिंग पोर्टल अमेजन ने अपने यहां ऑटोमेशन को विस्तार देते हुए कर्मचारियों की छंटनी शुरू कर दी है, इसके लिए बाकायदा कर्मचारियों को सूचना भी दे दी गई है। टेस्ला और दूसरी ऑटोमोबाइल कंपनियों में बहुत पहले से ही ऑटोमेशन को बढ़ावा दिया जा रहा है। बहुत सी कंपनियों ने एआई एक्सपर्ट्स और रोबोटिक्स के जानकारों को मोटे पैकेज पर हायर करना भी शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें : IIT Madras ने विकसित किया AI बेस्ड गणितीय मॉडल, कैंसर कारक म्यूटेशन का लगाएगा पता

हालांकि इस पूरे मामले को एक उजला पहलू भी है और वो यह है कि आने वाले समय आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) 2025 तक लगभग दस करोड़ लोगों को नौकरियां भी उपलब्ध करवाएगा। इसके लिए अभी से बहुत से इंस्टीट्यूट्स ने भी अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, मशीन लैंग्वेज और रोबोटिक्स में कई नए कोर्सेज शुरू किए गए हैं जिनके जरिए भविष्य में युवा अच्छे पैकेज वाली जॉब्स पा सकते हैं। इसके लिए उन्हें अपने आपको लगातार अपडेट भी करना होगा।

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस से घट रही है लागत
कंपनियों के अनुसार एआई का उपयोग करने से काम पहले से बेहतर तरीके से और जल्दी हो पा रहा है। इसके साथ ही उन्हें बोनस, सैलेरी इंक्रीमेंट जैसी अन्य समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता जिसकी वजह से कंपनियों की लागत कम हो जाती है और उनका मुनाफा बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें : मई से अब तक 39 बार बढ़ी कीमतें, 10.79 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल, जानिए अपने शहर का भाव

इस तरह बचा सकेंगे अपनी नौकरियां
इंटरनेशनल रिसर्चर्स की रिपोर्ट के अनुसार अब अपनी नौकरी बचाए रखने के लिए हमें खुद को रि-स्किल्ड करना होगा। आने वाले समय में कई नए सेक्टर्स डवलप होंगे, कंपनियां डिजीटाइजेशन पर बहुत ज्यादा जोर देंगी। ऑफिस की भूमिका कम होती चली जाएगी। ऐसे हालात में अपनी ज़ब बचाए रखने के लिए बहुत जरूरी हैं कि हम खुद को लगातार अपडेट करते रहें तथा खुद को नई तकनीक के अनुरूप ढालते रहें।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned