FD  में निवेश कर टैक्स सेविंग का बना रहे हैं प्लान तो करें ये काम, होगा ज्यादा फायदा

 

एफडी न केवल सुरक्षित होती है, बल्कि गारंटीड रिटर्न जनरेट भी करती है। टैक्स सेविंग एफडी पर निवेशकों को धारा 80 सी के तहत टैक्स बेनेफिट का भी लाभ मिलता है।

By: Dhirendra

Updated: 20 Jul 2021, 04:17 PM IST

नई दिल्ली। ज्यादा से ज्यादा टैक्स बचाने वालों के लिए सावधि जमा यानि एफडी में निवेश करना हमेशा पहली पसंद रहा है। एफडी न केवल सुरक्षित होती है, बल्कि गारंटीड रिटर्न जनरेट भी करती है। टैक्स सेविंग एफडी पर निवेशकों को धारा 80 सी के तहत टैक्स बेनेफिट का भी लाभ मिलता है। ऐसे पांच साल की अवधि के लिए बैंक एफडी में किया गया निवेश आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80 सी के तहत इनकम टैक्स डिडक्शन के योग्य होता है। ऐसे में एफडी में निवेश कर आप भी अधिकतम टैक्स बेनिफिट्स का लाभ उठा सकते हैं।

Read More: 500 रुपए में खुलवाएं डाकघर बचत खाता, मिलेगा हाई रिटर्न और 7000 की टैक्स छूट

ये हैं टैक्स सेविंग से संबंधित नियम

फिक्स डिपॉजिट यानि एफडी पर 1.5 लाख रुपए तक के टैक्स बेनेफिट का क्लेम करने के लिए आपको 5 साल की लॉक-इन अवधि के लिए पैसा जमा रखना होगा। यानी आप 5 साल की समाप्ति से पहले पैसे की निकासी नहीं कर सकते। कोरोना के दौर में बैंकों की वर्तमान कम ब्याज दरों के बीच स्मॉल फाइनेंस बैंक सबसे ज्यादा ब्याज की पेशकश कर रहे हैं। यह शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म दोनों लिहाज से प्राइवेट और सरकारी बैंकों की तुलना में अधिक हैं।

स्मॉल फाइनेंस बैंक की ब्याज दरें

- उज्जीवन फाइनेंस स्मॉल फाइनेंस बैंक में सामान्य नागिरकों को 6.75 फीसदी और वरिष्ठ नागिरकों को 7.25 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है।

- जन स्मॉल फाइनेंस बैंक में ये दरें 6.5 फीसदी और 7 फीसदी हैं।

- इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक में यह दरें 6.25 फीसदी और 6.75 फीसदी हैं।

- सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक में 6.25 फीसदी और 6.50 फीसदी हैं।

- उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक ये दरें 6 फीसदी और 6.5 फीसदी हैं।

सरकारी बैंक

- यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में सामान्य नागरिकों को 5.5 फीसदी और वरिष्ठ नागरिकों को 6 फीसदी ब्याज दर दी जा रही हैं।

- केनरा बैंक में ये भी दरें 5.50 फीसदी और 6.00 फीसदी हैं।

- एसबीआई में ये दरें 5.30 फीसदी और 5.80 फीसदी हैं।

- पंजाब एंड सिंध बैंक में 5.30 फीसदी और 5.80 फीसदी हैं।

- बैंक ऑफ इंडिया में 5.15 फीसदी और 5.65 फीसदी हैं।

प्राइवेट बैंक

- आरबीएल बैंक में सामान्य नागरिकों को 6.50 फीसदी और वरिष्ठ नागरिकों को 7.00 फीसदी ब्याज दर ऑफर कर रहा है।

- डीसीबी बैंक में भी ये दरें आरबीएल जितनी ही हैं।

- यस बैंक में ये दरें 6.25 फीसदी और 7.00 फीसदी हैं।

- इंडसइंड बैंक में 6.00 फीसदी और 6.50 फीसदी हैं।

- करूर वैश्य बैंक में दोनों तरह की ब्याज दरें 6.6 फीसदी हैं।

एफडी है सबसे सेफ

एफडी की खास बात यह है कि इसे अन्य जोखिम भरे विकल्पों की तुलना में ज्यादा सुरक्षित माना जाता है। बैंकों में 5 लाख रुपए तक जमा पैसे पर भारतीय रिजर्व बैंक की सहायक कंपनी डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉर्पोरेशन द्वारा गारंटी दी जाती है। फिक्स्ड डिपॉजिट ब्याज दरें बाजार के उतार-चढ़ाव से स्थिर और अप्रभावित रहती हैं। समय समय पर बैंक एफडी की दरों में जरूर बदलाव करते हैं।

Read More: जनधन खाता नहीं खुलवाया तो पुराने सेविंग अकाउंट को ही करा लें कन्वर्ट, 2 लाख रुपए का मिलेगा लाभ

income tax saving
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned