मांगों को लेकर मंत्रालयिक कर्मचारी फिर आंदोलन की राह पर

मांगों को लेकर मंत्रालयिक कर्मचारी फिर आंदोलन की राह पर

Rakesh gotam | Publish: Sep, 05 2018 10:33:04 PM (IST) Churu, Rajasthan, India

सरकार विरोधी नारेबाजी कर जताया आक्रोश

चूरू. राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी महासंघ से जुड़े कर्मचारियों ने बुधवार को अपनी लंबित मांगों को लेकर कलक्ट्रेट के सामने धरना-प्रदर्शन किया। कर्मचारियों की विभिन्न मांगों पर वर्ष 2017 में हुआ समझौता लागू करने की मांग को लेकर दिए गए धरने पर बैठे मंत्रालयिक कर्मचारियों ने सरकार विरोधी नारेबाजी कर आक्रोश जताया। सामूहिक कार्य बहिष्कार कर दिए गए धरने पर वक्ताओं ने कहा कि समझौते पर त्वरित कार्रवाई के लिए एक वर्ष पहले बनाई गई सोलंकी कमेटी की रिपोर्ट भी आज तक लंबित है। इससे कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। धरने को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष दिनेशकुमार स्वामी ने कहा कि समझौता लागू नहीं करके सरकार कर्मचारियों के हितों पर कुठाराघात कर रही है। इसे सहन नहीं किया जाएगा। अब भी मांग नहीं मानी गई तो कर्मचारी वर्ग उग्र आंदोलन करेगा। कर्मचारियों के इस आक्रोश का खमियाजा सरकार को आगामी विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ेगा। मनवीरसिंह शेखावत ने कहा कि कर्मचारी हितों से जुड़ी मांगें नहीं माने जाने तक आंदोलन जारी रहेगा। धरने को नौरंग सैनी, नरेंद्र सिंह राठौड़, विजेंद्र सिंह व जावेद खान सहित अन्य वक्ताओं ने भी संबोधित किया। धरने के बाद जिला प्रशासन को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

सामूहिक अवकाश पर रहे

तारानगर. राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी महासंघ के प्रदेश व्यापी आह्वान पर विभिन्न मांगों को लेकर तहसील के मंत्रालयिक कर्मचारी सामूहिक अवकाश पर रहकर कार्य का बहिष्कार किया। कर्मचारियों ने पंचायत समिति मुख्यालय पर धरना देकर विरोध-प्रदर्शन किया व सरकार के खिलाफ नारे लगाए। तहसील अध्यक्ष चंदनङ्क्षसह, रिडमल, नरेन्द्र बलौदा, बनवारी प्रजापत, रतनसिंह, विनोद शर्मा, जयप्रकाश, सोमवीर आदि कर्मचारी विरोध-प्रदर्शन व धरना देने वालों में शामिल थे।

ज्ञापन सौंपा

सादुलपुर.राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारियों ने नौ सूत्री मांग पत्र के समर्थन में मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। अध्यक्ष सुखवीर पूनिया के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन देने वालों में राजेन्द्र जाखड़, सरोज, पूनम, गीतादेवी, सुक्रमपाल, सुमित्रा, ओमप्रकाश, मंगतूराम, सुनील सरावग, संजय शामिल थे।

आज भी देंगे धरना

बीदासर. राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी महासंघ शाखा बीदासर ने अपनी मांगों को लेकर प्रांतीय आह्वान पर कार्य का बहिष्कार किया। मंत्रालयिक कर्मचारियों ने बीडीओ लादूराम विश्रोई को ज्ञापन सौपा। उसके बाद समस्त मंत्रालियक कर्मचारी रैली के रूप मे रवाना होकर उपखंड कार्यालय पहुंचे। उपखंड कार्यालय में मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन तहसीलदार ओमप्रकाश वर्मा को ज्ञापन सौंपा गया। मंत्रालयिक कर्मचारी दूसरे दिन गुरुवार को भी कार्य का बहिष्कार करेंगे। ज्ञापन देने वालों में अशोक कुमार गोस्वामी, किशनाराम, दीपिका जाखड़, प्रहलाद भार्गव, राजेश कुमार मुंड, योगेश मीणा, अक्षय सक्सेना उपस्थित थे।

कर्मचारी बैठे धरने पर

सरदारशहर. सोलंकी कमेटी की रिपोर्ट लागू करने सहित विभिन्न मांगों को लेकर बुधवार को राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी महासंघ की ओर से पंचायत समिति के आगे धरना दिया गया। सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रोष जताया। महासंघ के अध्यक्ष अब्दुल करीम व रणजीतसिंह सारण ने बताया कि विभिन्न विभागों के बाबू 5 व 6 सितंबर को कार्य का बहिष्कार कर गुरुवार को रैली निकाल कर प्रदर्शन करेंगे। विजय कुमार सेन, रोहन चोटिया, पवन जोशी, शिशपाल मीणा, रमेश सारण, इन्द्रचन्द, मदनलाल, महेन्द्र स्वामी, पूनमसिंह राजपुरोहित, कालूराम कालवा, किशनसिंह राठौड़, नरेन्द्रसिंह, अनिल स्वामी, शिवभगवान, कोजाराम गोदारा, शंकरलाल रैगर, सुरेश दहिया आदि बाबू धरने
पर बैठे।

प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन

रतनगढ़. राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी महासंघ तहसील शाखा रतनगढ़ की ओर से तहसीलदार गोकुलदान चारण को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया। संघ के तहसील अध्यक्ष हरिराम स्वामी ने बताया की महासंघ लगातार अपनी मांगों को लेकर सरकार को अवगत करवाता आ रहा है। मगर सरकार की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है। ज्ञापन के बाद मंत्रालयिक कर्मचारियों ने उपखंड अधिकारी कार्यालय के आगे धरना दिया। धरने पर पंचायत राज ब्लॉक अध्यक्ष ताराचंद जाखड़, रामावतार शर्मा, केशरदेव भाटी, नवीन गुप्ता, प्रेमप्रकाश शर्मा, सतीश तिवाड़ी, ओमप्रकाश माली, बलदेव सिंह, मोहनसिंह, ताराचंद वर्मा, धनराज, राजूराम, अनिल, गुलाम कादर, मनोज, गोपीकिशन व श्रीराम आदि मंत्रालयिक कर्मचारी बैठे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned