स्पॉट फिक्सिंग मामले में श्रीसंत के बाद चव्हाण को बड़ी राहत, BCCI ने हटाया बैन

श्रीसंत के बाद मुंबई के खिलाड़ी अंकित चव्हाण को 8 साल बाद मिली बड़ी राहत। BCCI ने लाइफ टाइम बैन हटाया। अब दोबारा खेल सकते हैं प्रोफेशनल क्रिकेट।

By: भूप सिंह

Updated: 17 Jun 2021, 10:25 AM IST

नई दिल्ली। आईपीएल 2013 (IPL 2013) में स्पॉट फिक्सिंग (Spot fixing) से जुड़े मामले में दोषी पाए जाने के बाद बीसीसीआई (BCCI) ने भारतीय क्रिकेटर अंकित चव्हाण, एस. श्रीसंत (S Sreesanth) और अजित चंदीला (Ajit Chandila) पर लाइफ टाइम बैन लगाया था।श्रीसंत को पिछले साल ही राहत मिल गई थी। इसके बाद उन्होंने क्रिकेट के मैदान पर शानदार वापसी की। अब 8 साल के लंबे इंतजार के बाद भारतीय स्पिनर अंकित चव्हाण (Ankeet Chavan) को बीसीसीआई ने बड़ी राहत दी है।

यह भी पढ़ें— पाकिस्तानी क्रिकेटर सईद अजमल बोले-अश्विन को प्लानिंग के तहत कुछ समय क्रिकेट से दूर रखा गया

लगाया गया था लाइफ टाइम बैन
स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाया जाने के बाद अंकित चव्हाण पर लाइफ टाइम बैन लगाया था। लेकिन अब बीसीसीआई ने लाइफ टाइम बैन को हटाकर 7 साल का कर दिया है। बीसीसीआई ने इस बात की जानकारी अंकित को दी है। कोर्ट के आदेश के बाद बीसीसीआई ने अपने फैसले में बदलाव किया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, चव्हाण की सजा में बदलाव के साथ ही उनपर लगा बैन पिछले साल सितंबर में ही खत्म हो चुका है।

यह भी पढ़ें:—अगर न्यूजीलैंड 2019 का वर्ल्ड कप जीत गई होती तो मैं शायद संन्यास ले लेता: रॉस टेलर

मुंबई के लिए खेलते हैं चव्हाण
अंकित चव्हाण ने मुंंबई के लिए अब तक 18 प्रथमश्रेणी मैच खेले हैं। गौरतलब है कि यह स्पिनर पिछले एक साल से बीसीसीआई से बैन हटाने की मांग कर रहा था। अब जाकर उन्हें राहत मिली है। चव्हाण अब फिर से प्रोफेशनल क्रिकेट खेल सकते हैं। वह एक बार फिर से क्रिकेट के मैदान पर वापसी के लिए उत्सुक हैं। लेकिन अब भी स्पॉट फिक्सिंग मामले में अजित चंदीला को राहत मिलना बाकी है।

भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned