विश्व कप में भारत की हार पर पहली बार बोले सीओए प्रमुख, विराट कोहली को ठहराया गया था जिम्मेदार

विनोद राय ने अनिल कुंबले को कोच पद से हटाए जाने के मामले पर भी अपनी राय रखी। उन्होंने कहा कि कुंबले को कोच पद से हटाने का कारण तकनीकी था।

Mazkoor Alam

September, 2205:51 PM

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के कामकाज की देखरेख के लिए सुप्रीम कोर्ट की ओर से बनाई गई संचालन समिति के प्रमुख विनोद राय ने विश्व कप में भारत की हार और अनिल कुंबले को मुख्य कोच के पद से हटाए जाने पर पहली बार चुप्पी तोड़ी है। वह इन आरोपों का जवाब दे रहे थे कि विश्व कप के सेमीफाइल में भारत की हार के बाद उन्होंने टीम इंडिया के प्रदर्शन और कप्तान विराट कोहली की भूमिका पर कोई समीक्षा बैठक नहीं की थी।

विदेशी दौरे पर टीम इंडिया को अच्छे प्रदर्शन का मिला इनाम, दैनिक भत्ता हुआ दोगुना

कहा- सारी जिम्मेदारी कप्तान की नहीं

एक मीडिया से बात करते हुए सीओए प्रमुख विनोद राय ने कहा कि जब कोई टीम खराब प्रदर्शन करती है तो बंद दरवाजों के पीछे बहुत तरह की चर्चा होती हैं। ये कहना गलत होगा कि विश्व कप में भारत की हार के लिए कप्तान विराट कोहली को किसी ने जिम्मेदार नहीं ठहराया होगा, लेकिन हार की सारी जिम्मेदारी कप्तान की नहीं होती। कोच के सवाल पर उन्होंने रवि शास्त्री की तारीफ की। विनोद राय ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि कितने कोच रवि शास्त्री से बेहतर होते, लेकिन शास्त्री टीम को हर मामले में फिट, लड़ाई के लिए तैयार और एकजुट रखने में कामयाब रहे हैं। इसलिए उन्हें लगता है कि बतौर कोच उन्होंने बहुत अच्छा काम किया है।

एसीयू ने मेजबान संघों को दी चेतावनी, टीम इंडिया की सुरक्षा में न हो किसी तरह की कोताही

कुंबले का कॉन्ट्रैक्ट बढ़ाना चाहते थे विनोद राय

विनोद राय ने अनिल कुबंले को भारतीय क्रिकेट टीम के कोच पद से इस्तीफा देने के बाद दोबारा उन्हें कोच नहीं बनाए जाने पर भी बात की। उस वक्त यह कहा जा रहा था कि कप्तान विराट कोहली को टीम के लिए सारे फैसले लेने की पूरी आजादी है और कुंबले से विराट कोहली की अनबन इसी वजह से हुई, क्योंकि वह अपनी भूमिका भी प्रभावी चाहते थे। इतना ही नहीं कुंबले की जगह बतौर कोच रवि शास्त्री की नियुक्ति भी कप्तान के कारण की गई। लेकिन विनोद राय ने इस बात से सिरे से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि अगर समिति चाहती तो वह चाहते थे कि कुंबले का कॉन्ट्रैक्ट बढ़े। लेकिन तकनीकी कारणों से कुंबले का कॉन्ट्रैक्ट आगे नहीं बढ़ाया जा सका। उनके अनुबंध में आगे बढ़ाने का विकल्प नहीं था। यह ड्रेसिंग रूम का मुद्दा नहीं था। हमें प्रक्रिया पूरी करनी थी और प्रक्रिया थी- आवेदन मांगना, इंटरव्यू करना और सही शख्स को चुनना। विनोद राय ने अनिल कुंबले और विराट कोहली विवाद से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि आप उन्हें अज्ञानी कह सकते हैं, लेकिन उस समय उन्हें नहीं पता था कि कप्तान विराट कोहली और कोच अनिल कुंबले के बीच क्या हुआ था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned