David Warner ने क्रिकेटीय भविष्य पर विचार करने के दिए संकेत, जानें क्या है कारण

सलामी बल्लेबाज David Warner ने कहा कि यह सिर्फ मैच कब खेले जाएंगे या कितनी क्रिकेट खेली जाएगी, इससे जुड़ा मसला नहीं है। यह उनके लिए बड़ा पारिवारिक फैसला है।

By: Mazkoor

Updated: 28 Jul 2020, 06:39 PM IST

मेलबर्न : ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम (Australia Cricket Team) के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर (David Warner) गेंद से छेड़छाड़ के कारण एक साल का प्रतिबंध काटकर पिछले साल ही क्रिकेट मैदान पर लौटे हैं। अब वह कोविड-19 (Covid-19) प्रतिबंधों के कारण बतौर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर अपने भविष्य पर पुनर्विचार करना चाहते हैं। कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के कारण क्रिकेट में आए बायो सिक्योर प्रोटोकॉल (Bio Secure Protocol) के कारण खिलाड़ियों को क्वारंटाइन की कड़ी शर्तें पूरी करनी पड़ रही है। इस कारण अब खिलाड़ियों को परिवार के बिना क्रिकेट दौरे पर जाना होगा। मैचों से पहले 15 दिन के अनिवार्य क्वारंटाइन के कारण यह यात्राएं भी अब ज्यादा लंबी होंगी। ऐसे में 33 साल के वॉर्नर को लगता है कि क्रिकेट के लिए एक खिलाड़ी को परिवार से दूर ही रहना होगा, जो उनके लिए आसान नहीं है। वार्नर दंपती की तीन बेटियां हैं।

Dhoni XI 2011 vs Kohli XI 2019 : Aakash Chopra ने बताया विश्व कप खेली कौन-सी टीम थी बेहतर

वार्नर बोले, परिवार सबसे पहले

33 साल के डेविड वॉर्नर ने कहा कि निश्चित तौर पर तीनों बेटियां और उनकी पत्नी कैंडिस (Candice Warner) उनके करियर का अहम हिस्सा हैं। उन्होंने कहा कि आपको हमेशा सबसे पहले अपने परिवार के बारे में सोचना होता है। हालांकि उन्होंने कहा कि वह अभी करियर जारी रखने की कोशिश करेंगे। वार्नर ने यह भी कहा कि उन्हें अपनी स्थिति का आकलन करना होगा। और क्या बेटियां स्कूल जा रही हैं। इनमें से बहुत कुछ उनके फैसले का हिस्सा हैं। यह सिर्फ मैच कब खेले जाएंगे या कितनी क्रिकेट खेली जाएगी, इससे जुड़ा मसला नहीं है। यह उनके लिए बड़ा पारिवारिक फैसला है।

इस समय क्रिकेट खेलना चुनौतीपूर्ण है

इस महामारी के बीच क्रिकेट की वापसी के लिए कुछ नियम बनाए गए हैं। इसमें मैच से पहले अनिवार्य क्वारंटाइन तथा मैच तथा खिलाड़ियों के लिए जैव सुरक्षित वातावरण तैयार किया जा रहा है। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया में क्रिकेटरों के पास अपने राज्यों अभ्यास करने के अलावा कोई विकल्प नहीं हैं। वहीं वार्नर के प्रांत विक्टोरिया में कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में उन्हें लगता है कि उनका प्रांत बॉक्सिंग डे टेस्ट (Boxing Day Test) समेत अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी गंवा सकता है। उन्होंने कहा कि यह सबके लिए चुनौतीपूर्ण है। हमने प्रांतीय क्रिकेट को देखा। यह सबसे बेहतर उदाहरण रहेगा। क्या विक्टोरिया शैफील्ड शील्ड क्रिकेट मैचों का आयोजन कर पाएगा। उन्हें तो इन हालात में नामुमकिन लगता है।

आयरलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए इंग्लैंड की टीम का ऐलान, Ben Stokes को मिला आराम

टेस्ट सीरीज को लेकर हैं परेशान

अफगानिस्तान और भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले लाल गेंद से अभ्यास का मौका न के बराबर मिलने से भी वार्नर चिंतित हैं। बता दें कि उससे पहले ऑस्ट्रेलिया को सीमित ओवरों के मैच ज्यादा खेलने हैं। इस दरमियान ऑस्ट्रेलिया को सितंबर में वनडे सीरीज के लिए इंग्लैंड दौरे पर जाना है। इसके बाद वॉर्नर समेत कई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आईपीएल में उतरेंगे। फिर ऑस्ट्रेलिया अफगानिस्तान और भारत की मेजबानी करेगा। वार्नर ने कहा कि अपने देश में टेस्ट सीरीज से पहले ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी शैफील्ड शील्ड में दो-तीन मैच खेलना पसंद करते हैं। इस बार शायद यह संभव नहीं हो पाएगा। हालांकि वह साथ में यह भी कहते हैं कि इस मामले में ऑस्ट्रेलिया और टीम इंडिया की स्थिति एक जैसी रहेगी। हमारी तैयारियों में लाल गेंद क्रिकेट शामिल नहीं होगी। ऐसे में टेस्ट सीरीज से पहले हमें अभ्यास के लिए ज्यादा वक्त देना होगा।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned