ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 विकेट लेने बाद सिराज ने दिया ऐसा इमोशनल बयान, सुनकर दंग रह जाएंगे

-मोहम्मद सिराज ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच में चटकाए 5 विकेट।
-पांच विकेट लेने के बाद सिराज ने अपने कोच का किया शुक्रिया अदा। फिटनेस पर दिया ध्यान।
-सिराज ने ऑस्ट्रेलिया के साथ खेली जा रही चार मैचों की टेस्ट सीरीज में कुल 134.1 ओवर फेंके हैं।

 

By: भूप सिंह

Published: 18 Jan 2021, 05:46 PM IST

 

नई दिल्ली। मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) ने सोमवार को पहली बार टेस्ट मैच की एक पारी में पांच विकेट लिए। वह गाबा में एक पारी में पांच विकेट लेने वाले भारत के पांचवें गेंदबाज बन गए हैं। सिराज ने ऑस्ट्रेलिया (Australia) के साथ खेली जा रही चार मैचों की टेस्ट सीरीज में कुल 134.1 ओवर फेंके हैं जो भारतीय गेंदबाजों में सबसे ज्यादा हैं। वह इस सीरीज में अभी तक भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। इसके अलावा मैदान पर उनकी फील्डिंग भी काफी चुस्त दिखी है। उन्होंने अपनी फिटनेस का श्रेय लॉकडाउन में घर में की गई फिटनेस को दिया।

गॉल टेस्ट : इंग्लैंड ने श्रीलंका को 7 विकेट से हराया

कोच किया शुक्रिया अदा
चौथे दिन सोमवार का खेल खत्म होने के बाद सिराज ने कहा, मैं इसके लिए सोहम भाई (सोहम देसाई, स्ट्रैंग्थ एंड कंडीशनिंग कोच) का शुक्रिया अदा करता हूं, जिन्होंने मेरे लिए एक कार्यक्रम डिजाइन किया और मेरी ट्रेनिंग पर काम किया। फिटनेस काफी अहम है। मैंने लॉकडाउन से अपने आप पर काम किया है। मुझे उनसे नियमित कार्यक्रम मिल रहे हैं जो मैं लॉकडाउन में फॉलो कर रहा था। मुझे अब पता चला कि फिटनेस कितनी जरूरी है, खासकर टेस्ट क्रिकेट में।

वॉशिंगटन सुंदर की संकटमोचक पारी को लेकर पिता ने खुलासा, बोले-'वादे पर खरा ना उतरने से खफा हूं'

नहीं कर पाए थे पिता का अंतिम संस्कार
मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) पर सिराज ने टेस्ट पदार्पण किया था। उनका यह दौरा काफी भावुक रहा। ऑस्ट्रेलिया में आने के कुछ दिन बाद ही उनका पिता का निधन हो गया था, लेकिन वह क्वारंटीन में रहने के कारण पिता के अंतिम संस्कार में नहीं जा सके। उन्होंने नस्लीय टिप्पणी का भी सामना किया। उनसे जब पूछा गया कि इतने भावुक दौरे पर सफलता हासिल कर कैसा महूसस कर रहे हैं।

IND Vs AUS Brisbane Test: ऑस्ट्रेलियाई टीम 294 पर ऑल आउट, भारत को मिला 328 रनों का लक्ष्य

पिता के आशीर्वाद से लिए 5 विकेट
उन्होंने कहा, सबसे पहले मैं भगवान का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं कि मुझे खेलने का मौका मिला। यह मेरे पिता की इच्छा थी कि उनका बेटे खेले और पूरा विश्व उसको देखे। काश के वह होते और देख पाते तो वह काफी खुश होते। यह उनका आशीर्वाद है कि मैं पांच विकेट ले पाया। मेरे पास इसे बयां करने के लिए शब्द नहीं हैं।

ब्रिस्बेन टेस्ट : शार्दूल-सुंदर ने दिखाया दम, ऑस्ट्रेलिया को 54 रनों की बढ़त

मां ने बढ़ाया हौसला
उन्होंने कहा, मैं काफी भाग्यशाली हूं कि मैं पांच विकेट ले सका। यह काफी मुश्किल स्थिति है। मेरे पिता नहीं हैं। मैंने अपने घर पर बात की, अपनी मां से बात की। उन्होंने मुझे प्रेरित किया। मुझे मजबूत किया। उनके समर्थन से मुझे मानसिक तौर पर काफी मजबूत की। मुझे लगता है कि पिता की इच्छा थी वो मुझे पूरी करनी हैं।

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned