World Cup 2011 में फिक्सिंग के आरोप के बाद ICC चौकन्ना, होगी पूछताछ

ICC ने श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री महिंदानंदा के आरोपों को बेहद गंभीरता से लिया है और उसने इस मामले में पूर्व खेल मंत्री से पूछताछ करने का निर्णय ले लिया है।

By: Mazkoor

Updated: 22 Jun 2020, 07:39 PM IST

नई दिल्ली : साल 2011 के आईसीसी एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप कप (ICC World Cup 2011) का खिताब टीम इंडिया (Team India) ने जीता था। भारत ने फाइनल में श्रीलंका क्रिकेट टीम (Sri Lanka Cricket Team) को हराकर करारी जीत हासिल की थी। यह विश्व कप इसलिए भी ऐतिहासिक था, क्योंकि सचिन तेंदुलकर का यह आखिरी विश्व कप था। टीम इंडिया के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी (Captain cool Mahendra Singh Dhoni) ने सिक्स के साथ भारत को जीत दिलाई थी। हर भारतीय प्रशंसकों को वह मुकाबला आज भी याद है।

श्रीलंकाई खेल मंत्री ने उठाए सवाल

अब भारत की जीत पर श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री महिंदानंदा अलुथगामगे ने सवाल उठाए हैं। उन्होंने सीधे-सीधे आरोप लगाया है कि 2011 का विश्व कप फाइनल मुकाबला फिक्स था। उनके इस गंभीर आरोप के बाद आईसीसी (ICC) इस मामले को लेकर गंभीर हो गई है और वह खेल मंत्री से जल्द ही पूछताछ कर सकती है।

Arun Jaitley के बेटे बन सकते हैं DDCA President, हाईकोर्ट ने चुनाव कराने का दिया आदेश

आईसीसी ने कहा, पूछताछ कर देखेंगे मामला जांच लायक है या नहीं

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आईसीसी ने श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री महिंदानंदा के आरोपों को बेहद गंभीरता से लिया है और उसने इस मामले में पूर्व खेल मंत्री से पूछताछ करने का निर्णय ले लिया है। आईसीसी अधिकारी ने एक मीडिया से बात करते हुए कहा कि वह इस मामले में महिंदानंदा से बात करेंगे और उनसे बातचीत के बाद ही यह तय करेंगे कि मामला जांच के लायक है या नहीं।

2011 में महिंदानंदा थे खेल मंत्री

बता दें जब 2011 में भारत के मुंबई में इस विश्व कप का फाइनल खेला गया था, तब महिंदानंदा अलुथगामगे श्रीलंका के खेल मंत्री थे। उन्होंने फाइनल मैच से पहले चुनी गई टीम पर सवाल भी खड़ा किया था। फाइनल से पहले श्रीलंका ने अपनी टीम में चार बदलाव किए थे। इसी बदलाव को उन्होंने अस्वाभाविक बताया था और आरोप लगाया था कि फाइनल से पहले कोई टीम चार बदलाव क्यों करेगी और इन बदलावों से पहले टीम ने किसी से कुछ पूछा भी नहीं।

श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर बोले, निराधार

श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री के बयान को वहीं के क्रिकेरों ने निराधार बताया है। पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने (Mahela Jaywardene) ने कहा कि श्रीलंका में चुनाव से पहले ऐसी बयानबाजी हो रही है। वहीं एक और पूर्व कप्तान कुमार संगकारा (Kumar Sangakkara) ने भी पूर्व खेल मंत्री के आरोपों को गलत बताया। संगकारा ने कहा कि अगर आरोप सही हैं तो वह आईसीसी को सबूत दें। इसके अलावा 1996 विश्व कप विजेता श्रीलंका क्रिकेट टीम के सदस्य और दिग्गज बल्लेबाज अरविंद डी सिल्वा (Arvind De silva) ने भी इन आरोपों को बकवास बताया है और कहा है कि संतुष्टि के लिए जांच कराने में कोई हर्ज नहीं है।

Mitchell Starc ने वीडियो फुटेज सौंपकर किया 12 करोड़ रुपए का दावा, 2018 में नहीं खेल पाए थे KKR से

बीसीसीआई को भी करानी चाहिए जांच

अरविंद डी सिल्वा ने कहा कि उन्हें लगता है कि सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और करोड़ों भारतीय प्रशंसकों के लिए भारत सरकार, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) और श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (SLC) को इसकी निष्‍पक्ष जांच करानी चाहिए। बता दें कि भारत ने 2011 मुंबई में श्रीलंका को हराकर विश्व कप जीता था। इसी के साथ सचिन का विश्व कप जीतने का अधूरा सपना भी पूरा हुआ था।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned