VVS Laxman ने कहा कि भारतीय क्रिकेट के लिए Sourav Ganguly-Rahul Dravid की साझेदारी बेहद अहम

VVS Laxman ने कहा कि अगर Team India क्रिकेट के हर प्रारूप में कामयाब होना चाहती है तो Sourav Ganguly-Rahul Dravid की साझेदारी अत्यंत महत्वपूर्ण है।

By: Mazkoor

Updated: 26 Jun 2020, 08:00 PM IST

मुंबई : टीम इंडिया के मध्यक्रम के कलात्मक बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण का मानना है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष सौरव गांगुली और राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) प्रमुख राहुल द्रविड़ की साझेदारी भारतीय क्रिकेट को आगे बढ़ाने में काफी अहम होगी। लक्ष्मण ने एक शो में कहा कि बीसीसीआई अध्यक्ष गांगुली और राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के प्रमुख द्रविड़ के बीच साझेदारी का होना भारतीय क्रिकेट के लिए बहुत अच्छा है।

ICC की बैठक में Chairman के चुनाव की तारीख पर होगी बात, Shshank Manohar का कार्यकाल हो गया है पूरा

हर प्रारूप में कामयाब होने के लिए यह जोड़ी अहम

वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि अगर टीम इंडिया क्रिकेट के हर प्रारूप में कामयाब होना चाहती है तो हमारे लिए यह साझेदारी अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्हें इस साझेदारी में टीम इंडिया के वर्तमान कप्तान को भी जोड़ा। बोले, हर कोई अहम है। टीम के कप्तान, एनसीए प्रमुख और बीसीसीआई अध्यक्ष।

गांगुली और द्रविड़ ने किया था एक ही दिन डेब्यू

यह भी एक संयोग ही है कि बीसीसीआई में एक साथ काम कर रहे सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ दोनों ने एक साथ टीम इंडिया की टेस्ट टीम में पदार्पण किया था। भारत के महानतम कप्तानों में गिने जाने वाले सौरव गांगुली और भरोसेमंद बल्लेबाजों में से एक राहुल द्रविड़ दोनों ने 20 जून 1996 को इंग्लैंड दौरे पर एक ही टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया था। लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान से अपना सफन शुरू करने वाले इन दोनों दिग्गजों ने पहले टेस्ट में ही शानदार बल्लेबाजी की थी। गांगुली ने जहां शतक लगाया था तो द्रविड़ पांच रन से शतक से चूक गए थे।

Bookie से संपर्क की जानकारी छिपाने पर लगा है क्रिकेटर पर प्रतिबंध, बोले- हल्के में लिया

गांगुली को द्रविड़ के शतक से चूकने से हुई थी निराशा

गांगुली ने इस मैच में 301 गेंदों पर 131 रन बनाए थे। की शतकीय पारी खेली थी। वहीं द्रविड़ ने 267 गेंदों पर 95 रन की पारी खेली थी। इस मैच को याद करते हुए गांगुली ने बताया था कि जिस समय द्रविड़ बल्लेबाजी के लिए आए थे वह, 70 रन बना चुके थे। उन्हें अब भी याद है कि उन्होंने प्वाइंट पर कवर ड्राइव लगाकर जब अपना शतक पूरा किया था, तब द्रविड़ दूसरे छोर पर थे। गांगुली ने बताया कि वह 131 रन बनाकर चायकाल के एक घंटे बाद आउट हो गए थे, लेकिन द्रविड़ ने अपनी पारी जारी रखी थी। अगली सुबह वह लॉर्ड्स की बालकरनी में इस उम्मीद के साथ मैच देख रहे थे द्रविड़ अपना शतक पूरा करेंगे, लेकिन वह महज पांच रन से अपने शतक से चूक गए।

Show More
Mazkoor Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned