महेंद्र सिंह धोनी ने संन्यास पर साध रखी है चुप्पी, माता-पिता नहीं चाहते कि वह और खेलें

महेंद्र सिंह धोनी ने संन्यास पर साध रखी है चुप्पी, माता-पिता नहीं चाहते कि वह और खेलें

Mazkoor Alam | Updated: 18 Jul 2019, 05:37:23 PM (IST) क्रिकेट

Mahendra Singh Dhoni के माता-पिता चाहते हैं कि वह संन्यास लेकर घर की देखभाल करें

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम ( Indian cricket team ) के स्टार क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी ( Mahendra Singh Dhoni ) के संन्यास को लेकर लगातार कयास लग रहे हैं। कुछ लोग कह रहे हैं कि महेंद्र सिंह धोनी को संन्यास ले लेना चाहिए तो कुछ का कहना है कि उन्हें कम से कम अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप तक खेलना चाहिए। इन सबके बीच महेंद्र सिंह धोनी और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ( BCCI ) ने इस मसले पर चुप्पी साध रखी है, लेकिन उनके बचपन के कोच केशव बनर्जी की मानें तो धोनी के माता-पिता नहीं चाहते कि धोनी और क्रिकेट खेलें। बता दें कि इसी महीने सात जुलाई को आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के दौरान महेंद्र सिंह धोनी 38 साल के हो गए थे। ऐसे में लोग ऐसा मान रहे थे कि वह भारतीय क्रिकेट टीम को ज्यादा दिन तक सेवा दे नहीं दे पाएंगे। इसके मद्देनजर वह आईसीसी विश्व कप 2019 के बाद संन्यास का ऐलान कर देंगे।

बेन स्टोक्स : बेपरवाह जिंदगी के कारण खत्म हो गया था करियर, अब बनें 'सुपरह्युमन'

dhoni s parents

धोनी के माता-पिता चाहते हैं कि वह घर की देखभाल करें

महेंद्र सिंह धोनी के बचपन के कोच केशव बनर्जी का मानना है कि महेंद्र सिंह धोनी को एक साल और ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप तक खेलना चाहिए। उन्होंने बताया कि वह रविवार को धोनी के घर गए थे। वहां उनके माता -पिता से बात हुई। उनका मानना है कि धोनी को अब क्रिकेट खेलना छोड़ देना चाहिए। जब बनर्जी ने कहा कि बेहतर होगा कि अगर धोनी अगले साल होने वाले टी-20 विश्व कप तक खेलें तो उन्होंने इसका विरोध किया। उन्होंने कहा कि नहीं, अब धोनी को क्रिकेट से संन्यास लेकर इस बड़े घर की देखभाल करनी चाहिए।

बीसीसीआई ने मुख्य कोच समेत कोचिंग स्टाफ के लिए मंगाया आवेदन

विश्व कप में धोनी के प्रदर्शन पर मिश्रित प्रतिक्रिया देखने को मिली थी

इस विश्व कप में महेंद्र सिंह धोनी कई मैचों में काफी धीमा खेले थे। इसे लेकर उनकी काफी आलोचना हुई थी। हालांकि न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में धोनी ने अर्धशतकीय पारी खेली थी और रविंद्र जडेजा के साथ मिलकर टीम इंडिया को जीत के काफी करीब ले आए थे, लेकिन उनके रन आउट होने के बाद भारत जीत से चूक गई थी। इसके बाद से धोनी को खेलना चाहिए या संन्यास ले लेना चाहिए, इसे लेकर पूर्व खिलाड़ी, विशेषज्ञ से लेकर प्रशंसक तक दो खेमें में बंटे हुए हैं। इस बीच ऐसी खबर आ रही है कि टीम इंडिया में महेंद्र सिंह धोनी की भूमिका बदली हुई नजर आ सकती है। वह बतौर मेंटर टीम से जुड़े रह सकते हैं। इस दौरान उनकी जिम्मेदारी ऋषभ पंत को बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज तैयार करने की होगी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned