रोहित शर्मा को टेस्ट ओपनर बनाने में कोहली और शास्त्री का बड़ा हाथ, जानिए कैसे हुई एंट्री

2019 विश्व कप के बाद रोहित टेस्ट टीम के आसपास भी नहीं थे और उन्हें भारत के वेस्टइंडीज दौरे के लिए भी नहीं चुना गया था।

By: Mahendra Yadav

Updated: 18 Jun 2021, 02:43 PM IST

टीम इंडिया के स्टार ओपनर रोहित शर्मा सीमित ओवरों के क्रिकेट फॉर्मेट के साथ टेस्ट क्रिकेट में भी खुद को साबित किया है, लेकिन हमेशा से ऐसा नहीं था। दरअसल, कुछ समय पहले रोहित शर्मा का टेस्ट कॅरियर अच्छा नहीं चल रहा था। 2019 विश्व कप के बाद रोहित टेस्ट टीम के आसपास भी नहीं थे और उन्हें भारत के वेस्टइंडीज दौरे के लिए भी नहीं चुना गया था। हालांकि केएल राहुल की खराब फॉर्म के चलते रोहित शर्मा के लिए टेस्ट टीम में दरवाजे खुल गए। पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने बताया है कि कैसे टीम प्रबंधन ने टेस्ट में ओपनर के तौर पर रोहित शर्मा को लेेने का फैसला लिया।

रवि शास्त्री और विराट कोहली से हुई थी चर्चा
रोहित शर्मा ने वर्ष 2019 के वनडे वर्ल्ड कप में इंग्लैंड में पांच शतक लगाए थे। ऐसे में कई लोगों का मानना था कि रोहित को टेस्ट फॉर्मेट में ओपनिंग का मौका मिलना चाहिए। इसके अलावा कुछ कारणों की वजह से पृथ्वी शॉ भी टीम से बाहर हो गए थे। प्रसाद ने खुलासा करते हुए बताया कि टीम के कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली से भी रोहित शर्मा के बारे में काफी चर्चा हुई थी। एमएसके प्रसाद ने बताया की रोहित शर्मा को बतौर टेस्ट ओपनर अजमाने में कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री का भी बड़ा हाथ रहा, उन दोनों ने रोहित के टेस्ट ओपनर के लिए तुरंत हामी भर दी थी।

यह भी पढ़ें— मिताली राज और झूलन गोस्वामी ने टेस्ट क्रिकेट में तोड़ा गांगुली-द्रविड़-कुंबले का रिकॉर्ड

virat_kohli_and_ravi_shastri.png

विश्वसनीय और अनुभवी व्यक्ति को लेना चाहते थे
एकएसके प्रसाद ने क्रिकबज से बात करते हुए बताया कि इसमें कोई दोराय नहीं है कि रोहित शर्मा ने पिछले कुछ वक्त में सफेद गेंद के फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन किया था। इसके साथ ही वैसे भी इंग्लैंड में वनडे वर्ल्डकप में पांच शतक लगाने वाले पर तो ध्यान देना होगा। वहीं पृथ्वी शॉ ने शुरुआत तो अच्छी की थी लेकिन बाद में उनकी फिटनेस और फॉर्म खराब हो गई थी। इस वजह से पृथ्वी शॉ टीम से बाहर हो गए थे। हालांकि मयंक टीम में थे लेकिन दूसरे सलामी बल्लेबाज को लेकर चिंता थी। ऐसे में वे किसी विश्वसनीय और अनुभवी व्यक्ति को टीम में बतौर ओपनर लेना चाहते थे।

यह भी पढ़ें— पाकिस्तानी क्रिकेटर सईद अजमल बोले-अश्विन को प्लानिंग के तहत कुछ समय क्रिकेट से दूर रखा गया

बतौर ओपनर चुने गए रोहित
टीम प्रबंधन ने टेस्ट टीम में ओपनर को लेकर विश्व कप के बाद इंग्लैंड में विराट और रवि के साथ बैठकर चर्चा की। उस वक्त प्रियांक पांचाल और एआर ईश्वरन का सीजन थोड़ा कठिन रहा। ऐसे में रोहित की परफॉर्मेंस और सभी परिस्थितियों को ध्यान में रखकर रोहित शर्मा को बतौर ओपनर टेस्ट में चुना गया। इस पर काफी बहस भी हुई। वहीं रवि शास्त्री और विराट कोहली ने रोहित के पक्ष में तुरंत हां कर दी थी।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned